Do Your Best : कामयाबी का अचूक मंत्र

आपने अदनान सामी का अमिताभ बच्चन पर फिल्माया यह गाना ज़रूर सुना होगा…  ऐसो वैसो को दिया है, कैसो कैसो को दिया है… मुझको भी तो लिफ्ट करा दे…

मैं अक्सर सोचती हूँ क्या कोई गाना जब लिखा जाता है तो वास्तव में उसका वही अर्थ होता है जिस उद्देश से लिखा गया है? यूं तो यह गाना रुपये पैसों और सोशल स्टेटस के लिए लिखा गया था लेकिन कल जब अचानक यह गाना कहीं सुनाई पड़ा तो मेरी सिक्स्थ सेन्स एकदम से एक्टिवेट हो गयी कि यार इस गाने को तो कहीं और भी फिट किया जा सकता है.

हम यदि जीवन के अंतिम उद्देश्य की बात ना भी करें तो रोज़मर्रा के जीवन में हमारे आसपास होने वाली घटनाओं में हमारी भूमिका क्या होती है? आप यदि ऑफिस जाते हैं और आपका कोई सहयोगी आपसे बेहतर काम करके नया प्रोजेक्ट हथिया लेता है तो आपको लगता है काश मैंने ज़र्रा सी मेहनत और कर ली होती तो आज यह प्रोजेक्ट मेरे हाथ होता.

आप यदि स्कूल कॉलेज के विद्यार्थी हैं और आपका दोस्त आपसे बेहतर अंकों से पास होता है तो खुद भले न सोचे लेकिन माता पिता और घरवालों की तरफ से एक यह सुझाव ज़रूर आता है कि कर लेते ज़र्रा सी मेहनत और, आलसी कहीं के दिन भर मोबाइल में घुसे रहोगे तो कहाँ से लाओगे ज़्यादा नंबर…

यहाँ तक कि घर में यदि मेहमान आये हैं तो औरतें खाना परोसते हुए भी कई बार सोचती हैं अरे यार सोचा था पुलाव के साथ रायता भी बना लेती तो खाने का आनंद ही कुछ और होता, ज़र्रा सा जल्दी निपटा लेती काम तो समय मिल गया होता…

तो ये जो भाव है ना जो अक्सर आपको उकसाता रहता है कि ज़र्ररा सा और बेहतर कर लिया होता तो परिणाम भी बेहतर आते, लेकिन जब अगली बार वही मौका फिर आता है तब तक हमारा यह ज़र्रा सा वाला भाव थोड़ा और पीछे रह जाता है… तो हम आगे तो बढ़ना चाहते हैं लेकिन ज़र्रा सी अधिक मेहनत करने की ऊर्जा इकट्ठी नहीं कर पाते और फिर वही काम चलताऊ तरीका अपना कर उसी ढर्रे पर आ जाते हैं.

तो यह तो हो गयी एक आम समस्या… और यह उन लोगों के लिए है जो वाकई जीवन में कुछ बेहतर करना चाहते हैं… वर्ना मैंने यहाँ ऐसे लोगों को भी देखा है जो ज़रा सा आगे बढ़ना तो दूर दिन ब दिन यह सोचकर पीछे होते चले जाते हैं कि क्या करना जी अब तो पूरी उम्र निकल गयी अब तो बच्चों के करने के दिन हैं…

तो जो लोग वाकई कुछ बेहतर करना चाहते हैं तो सबसे पहले अपनी एक आदर्श छवि बना ले, यानी आप खुद अपने रोल मॉडल बनिए और उसमें वो सारी क्वालिटी देखिये जो आप किसी और में देखते हैं या खुद में वे सारे गुण होने की संभावना देखते हैं… और उसे अपनी वास्तविक छवि यानी अभी जो आप हैं उससे ज़र्रा सा ऊपर रखिये…

और फिर यह गाना गुनगुनाइए, ऐसो वैसो को दिया है, कैसो कैसो को दिया है… मुझको भी तो लिफ्ट करा दे… थोड़ी सी तो लिफ्ट करा दे….

आप जब अपने आसपास देखते होंगे तो आपको यह ख्याल एक बार तो ज़रूर आया होगा कि यार आखिर ऐसा क्या है इस बन्दे में कभी किसी की शक्ल को देखकर तो कभी किसी की अक्ल को देखकर… और यह भी ख़याल आया होगा कि मैं यह काम इससे बेहतर कर सकता हूँ… अगली बार जब चांस मिलेगा तो मैं यह काम इससे बेहतर करके दिखाऊंगा.

और यकीन मानिए जनाब वह अगला चांस आकर निकल भी जाएगा और आपको पता तक नहीं चलेगा, क्योंकि आप अगले बेहतर चांस के इंतज़ार में हाथ के जो छोटे मोटे काम है उसे उसी चलताऊ तरीके से कर रहे होते हैं. तो आपके हाथ में जो काम है उसे सबसे महत्वपूर्ण काम समझकर करिए, तो आपको अगले मौके का इंतज़ार नहीं करना पड़ेगा आपका हर काम सबसे बढ़िया काम होगा.

Whatsapp Jivan Shaifaly to order Hawan Kande of Desi Cow – 9109283508 ( Herbal Shampoo and Soaps are also available )


Comments

comments

LEAVE A REPLY