जीवन शैली

अतिथि देवो भव : भारतीय भोजन परंपरा आत्मा है, भोजन यदि...

उम्र के 18 वर्ष तक भोजन का मतलब मेरे लिए सिर्फ भारतीय भोजन था. खाना मतलब दाल, भात, रोटी, तरकारी, चटनी, अचार, पापड़ इत्यादि...

मिट्टी का भी हो गया बाज़ारीकरण : गाँव गाँव मिलनेवाली मुल्तानी...

चेहरे पर लगाओ तो मुल्तानी मॉडर्न! लोटा और हाथ धोवो तो हिंदुस्तानी देहाती और गवांर, मुल्तानी मिट्टी को चेहरे पर लगाना त्वचा को निखारता है. टी वी...

error: Content is protected !!