सच अब छुपेगा नहीं… जानिए क्यों…

ब्रिटेन में हुए आम चुनाव में दक्षिणपंथी कही जाने वाली कंज़रवेटिव पार्टी ने बहुमत से 39 सीटें ज्यादा जीती हैं। ब्रिटिश संसद में 56 प्रतिशत बहुमत के साथ कंज़रवेटिव पार्टी ने लगातार दोबारा सत्ता में वापसी की है।

ब्रिटेन की जनता ने वामपंथी विष से संक्रमित लेबर पार्टी के राजनीतिक फन को अपने बहुमत के मूसल से बुरी तरह कुचल दिया है।

भारत के लिए यह परिणाम इसलिए महत्वपूर्ण हैं क्योंकि कश्मीर मुद्दे पर लेबर पार्टी पाकिस्तान के समर्थन में नंगे होकर नाचती रही है। धारा 370 हटाए जाने पर पाकिस्तानी रुदालियों के साथ बुक्का फाड़ फाड़कर रोई थी और आज भी रो रही है। ब्रिटेन में भारत विरोधी मुस्लिम दंगाइयों आतंकियों का खुला समर्थन लेबर पार्टी बेशर्मी के साथ करती है।

जबकि कंज़रवेटिव पार्टी की छवि भारत समर्थक की है। कंज़रवेटिव पार्टी के नेता और प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन अपने चुनाव प्रचार में भारतीय प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का नाम खुलकर ले रहे थे, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के साथ अपने प्रगाढ़ सम्बन्धों का ज़िक्र कर रहे थे। इन सम्बन्धों को भविष्य में और प्रगाढ़ करने का वायदा खुलकर कर रहे थे। भारतीयों के मन्दिरों में जाकर बोरिस जॉनसन हिन्दुओं की धार्मिक आस्था और हिंदुत्व को भी सम्मान देने में कोई हिचक झिझक नहीं दिखा रहे थे।

जबकि कम्युनिस्टी ज़हर का गटर, लेबर पार्टी का सरगना जेरेमी कोर्बिन ब्रिटेन के पाकिस्तानी मुल्लों कठमुल्लों के चरणों मे लोट रहा था।

नतीजा आज सामने आ गया है। बोरिस जॉनसन को मिली ऐतिहासिक विजय, ब्रिटेन में 1987 में मार्गरेट थैचर को मिली ऐतिहासिक विजय के बाद किसी दल को मिली दूसरी सबसे बड़ी विजय है।

बोरिस जॉनसन की इस विजय में ब्रिटेन में रह रहे भारतीयों का योगदान तो है, वह योगदान महत्वपूर्ण भी है लेकिन सीमित संख्याबल के कारण निर्णायक नहीं है। इसीलिए ब्रिटेन के चुनाव परिणाम ज्यादा महत्वपूर्ण हैं। क्योंकि इन चुनावों में ब्रिटेन की जनता ने भारत समर्थक जॉनसन को ऐतिहासिक विजय का उपहार दिया है और पाकिस्तान परस्त कोर्बिन के मुंह पर ऐतिहासिक हार की कालिख पोती है।

यह स्थिति उस सच को उजागर कर रही है जो BBC, NDTV समेत लुटियनिया मीडिया के उस दुष्प्रचार की धज्जियां उड़ा रहा है, जिसके तहत केवल ब्रिटेन के कम्युनिस्ट गैंग के गुर्गों के भारत विरोधी बयानों कुकर्मों को दिखा सुना कर लुटियंस मीडिया पिछले 4 महीनों से यह अफवाह फैला रहा था कि धारा 370 हटाए जाने से और भारत की कश्मीर नीति से ब्रिटेन बहुत नाराज़ है।

लेकिन सच आज सामने आ गया है इसीलिए लुटियनिया न्यूजचैनली (लुटियंस मीडिया के) विदूषक मुंह मे दही जमाए बैठे हैं… इस खबर को ‘किल’ करने में जुट गए हैं।

लेकिन सच अब नहीं छुपेगा।

डिस्क्लेमर (अस्वीकरण) : इस आलेख में व्यक्त किए गए विचार लेखक के निजी विचार हैं। इस आलेख में दी गई किसी भी सूचना की सटीकता, संपूर्णता, व्यवहारिकता अथवा सच्चाई के प्रति मेकिंग इंडिया (makingindiaonline.in) उत्तरदायी नहीं है। इस आलेख में सभी सूचनाएं ज्यों की त्यों प्रस्तुत की गई हैं। इस आलेख में दी गई कोई भी सूचना अथवा तथ्य अथवा व्यक्त किए गए विचार मेकिंग इंडिया के नहीं हैं, तथा मेकिंग इंडिया उनके लिए किसी भी प्रकार से उत्तरदायी नहीं है।

Comments

comments

loading...

LEAVE A REPLY