उसे पता था पिता होने का मतलब, पैसे भले ना हो पर वह रखता था औकात

हम सबने देख लिया है कि बलात्कार व पैशाचिक अपराधों की शिकार हर उम्र की लड़कियाँ बन रही है। छह महीने की, ढाई साल की, पचास साल की। अपराधियों की उम्र भी घटती जा रही है। निर्भया के बलात्कारियों में से एक नाबालिग था। आप पन्द्रह-सोलह साल के पुरुषों पर भी आंख बंद करके भरोसा … Continue reading उसे पता था पिता होने का मतलब, पैसे भले ना हो पर वह रखता था औकात