माँ की रसोई से : ककड़ी तरबूज़ का शीतल पेय

गर्मियों के मौसम में गला ठंडी चीज़ों से तर हो जाए तो अद्भुत आनंद मिलता है. लेकिन यह वस्तु जब प्राकृतिक रूप से ठंडी हो तो ही वह स्वाद और स्वास्थ्य दोनों देगी. फ्रिज में रखा पानी तक हमारी सेहत को इतना नुकसान पहुंचाता है तो फलों के रस की बात ही क्या.

तो आइये आज आपको प्राकृतिक रूप से शीतल पेय बनाना बताते हैं –

सबसे पहले ककड़ी और तरबूज़ के छिल्के निकाल लीजिये, अब इसमें थोड़ी सी पुदीने की पत्तियाँ डालकर मिक्सी में पीस लीजिये.

आवश्यकता हो तो बहुत थोड़ा पानी डालकर पीस लें.

अब इसमें मिलाइए आधा चम्मच भूंजा पिसा जीरा, और आवश्यकता अनुसार काला नमक.

मीठा बनाना हो तो थोड़ा सा गुड मिलाकर पीस लें.

वैसे तरबूज़ की प्राकृतिक मिठास ही काफी है, लेकिन बच्चों को तभी आनंद आता है जब यह मीठा हो.

ऐसे तैयार होता है आपका शीतल ककड़ी-तरबूज़ का पेय जिसे Cucumber melon delight अंग्रेज़ी नाम देकर स्पेशल बना दिया जाता है.

चाहे जिस भाषा में पीजिये स्वाद तो अपने खेत की ककड़ी तरबूज़ का ही आयेगा.

विशेष नोट : तरबूज ककड़ी मिक्सी में ग्राइंड करने के बाद यदि पहले उसे छानकर फिर नमक जीरा मिलाएं तो छानने के बाद बचा फलों का गूदा चेहरे और गर्दन पर लगाने के काम आएगा. इससे चेहरे पर ताजगी आएगी और ठंडक का अनुभव देगी.

माँ जीवन शैफाली

Comments

comments

loading...

LEAVE A REPLY