मर्दे मुजाहिद से दर्दे मुजाहिद तक

चुनाव के पहले इस बात को लिखना मेरी नज़र में योग्य नहीं था इसलिए नहीं लिखा। जफ़र सरेशवाला को लेकर बहुतों ने बहुत टिप्पणियाँ की, मैंने भी एक बार चिंता जताई थी। लेकिन समय रहते योग्य कदम लिया गया। गुजरात दंगों को ले कर लंदनवासी सरेशवाला तब बहुत उद्वेलित थे और मुख्यमंत्री मोदी पर अंतर्राष्ट्रीय … Continue reading मर्दे मुजाहिद से दर्दे मुजाहिद तक