पौरुष से ही होती है धर्म, राष्ट्र, शांति, अहिंसा की रक्षा

राष्ट्र बंधुओं! कल यानी 12 मई को श्रीलंका के चिलाव शहर में उग्र भीड़ ने तीन मस्जिदों, मुसलमानों के घरों पर पथराव किया। कई मुसलमानों की ठुकाई भी हुई। इसकी बिस्मिल्लाह इस तरह हुई कि एक बौद्ध ने सिंहली भाषा में पोस्ट लिखी “सिंहलियों को रुलाना मुश्किल है” जिस पर इससे असहमत अब्दुल हामिद हमसर … Continue reading पौरुष से ही होती है धर्म, राष्ट्र, शांति, अहिंसा की रक्षा