‘नम्रता एक दुर्लभ सद्गुण है’: निर्मला सीतारमण के लिए थरूर

हाल ही में शशि थरूर केरल में एक मंदिर में गिर गए थे, जिससे उन्हें काफी गहरी चोट आयी और उन्हें 6 टांकें भी लगे। शशि थरूर केरल के ही एक अस्पताल में भर्ती हैं।

16 अप्रैल 2019 सुबह ही केंद्रीय रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण केरल में चुनाव प्रचार के लिए पहुँची थीं। इसी दौरान वह शशि थरूर से मिलने व उनका हाल चाल जानने के लिए अस्पताल पहुँच गयीं।

थरूर ने उनके आगमन की तस्वीर को ट्विटर पर साझा किया और कहा कि सीतारमण के इस नम्र भाव ने उनका दिल छू लिया। उन्होंने आगे ट्वीट करते हुए लिखा “नम्रता आज के समय में एक दुर्लभ सदगुण है”।

इसके साथ साथ उन्होंने यह भी बताया कि उनके विरोधी व लेफ्ट डेमोक्रेटिक फ्रंट के नेता सी दिवाकरण ने उन्हें फ़ोन कर उनका हाल चाल पूछा और उन्हें उनके अच्छे स्वास्थ्य की कामना की।

वर्तमान समय में राजनीति ऐसी स्थिति से गुज़र रही है कि नेता एक दूसरे पर आरोप प्रत्यारोप लगाते रहते हैं। ऐसे समय में एक दूसरे के स्वास्थ्य की कामना करना और उनसे मिलकर आना निस्संदेह एक सदगुण है, जिसकी आवश्यकता भारतीय राजनीति को तो है ही, साथ ही साथ सारे विश्व समाज में ऐसा स्वभाव अनुकरणीय व प्रेरणादायी है।

गौरतलब है कि शशि थरूर थंपनूर में गांधारी अम्म कोविल मंदिर में पूजा के लिए पहुंचे हुए थे। मंदिर की परंपरा के अनुसार पूजा कर रहे व्यक्ति को तराजू में बैठाया जाता है। तराजू के एक तरफ प्रसाद व चढ़ावा रखा गया था, तो दूसरी तरफ शशि थरूर को बैठाया गया था।

थरूर के तराजू में बैठते ही तराजू की डोर टूट गई और वो जमीन में गिर गए। जमीन में नीचे गिरते ही उनके सिर में गंभीर चोटें आई हैं। इलाज के दौरान सिर पर 6 टांके लगाए गए हैं। मंगलवार यानी 16 अप्रैल को ही शशि थरूर को अस्पताल से छुट्टी भी मिल गयी।

Comments

comments

loading...

LEAVE A REPLY