काँग्रेस के मैनीफेस्टो में बहुत कुछ कह गया ‘सन्नाटे का शोर’

काँग्रेसी मैनीफेस्टो को पढ़ने के बाद यह निष्कर्ष निकला कि यह मैनीफेस्टो नुकसान को सीमित करने की दृष्टि से लिखा गया है, न कि सत्ता का लाभ प्राप्त करने के लिए। एक तरह से काँग्रेसियों ने हार मान ली है और वे किसी भी तरह से पिछले चुनाव में मिली 44 सीटों में से एक … Continue reading काँग्रेस के मैनीफेस्टो में बहुत कुछ कह गया ‘सन्नाटे का शोर’