जिहादी Lawfare (legal warfare) को कानूनी कवच-कुंडल

कांग्रेस ने आज हिंदुओं के भविष्य का खाका खींच दिया है।

मैं इसमें सिर्फ दो चीज़ें देखता हूं।

पहला देशद्रोह कानून खत्म होगा और घृणा अपराध यानी हेट क्राइम रोकने के लिए एक कानून बनेगा। अफस्पा [Armed Forces (Special Powers) Acts (AFSPA)] वगैरह भी खत्म होंगे।

मतलब यह कि देशद्रोह और आतंक फैलाने की खुली छूट होगी लेकिन यदि आपके शहर में बम विस्फोट होता है तो आप इसे इस्लामी आतंकवाद या जिहाद भी नहीं कह सकते। आप पर घृणा फैलाने के आरोप में मुकदमा चल सकता है।

कांग्रेस का यह घोषणापत्र ऐतिहासिक है। इसे इस बात के लिए याद रखा जाएगा कि पहली बार किसी राष्ट्रीय पार्टी ने जिहादी Lawfare के सिद्धांतों को अपने घोषणापत्र में समाहित किया है।

अब अपनी, और अपने बच्चों की सुरक्षा आपके हाथ में है।

वोट का फैसला इसे ध्यान में रख कर करें।

छह हजार रुपए कहीं से भी कमा लेंगे।

क्योंकि महागठबंधन की सेक्यूलर सरकार आई तो आतंक का एक नया दौर शुरू होगा और इस बार आतंक को कानूनी कवच-कुंडल भी उपलब्ध करा दिया जाएगा।

कानून के आगे क्या करेंगे आप?

घृणा अपराध कानून का दायरा दिनोंदिन बढ़ता जाएगा और आपकी गर्दन फंसेगी ज़रूर।

बाकी परिवार ने अपनी सुरक्षा के उपाय भी किए हैं।

मानहानि कानून खत्म करेंगे।

यानी अब परिवार कितना भी किसी पर कीचड़ उछाले लेकिन उस पर मुकदमा नहीं कर सकते आप।

इस बार का चुनाव काशी और वायनाड के एजेंडे के बीच है।

भविष्य तय होने वाला है।

फिलहाल कांग्रेस के इन वादों को तो बस झांकी समझिए। पांच साल फिल्म चलेगी उसके बाद आप का The End होगा।

डिस्क्लेमर (अस्वीकरण) : इस आलेख में व्यक्त किए गए विचार लेखक के निजी विचार हैं। इस आलेख में दी गई किसी भी सूचना की सटीकता, संपूर्णता, व्यवहारिकता अथवा सच्चाई के प्रति मेकिंग इंडिया (makingindiaonline.in) उत्तरदायी नहीं है। इस आलेख में सभी सूचनाएं ज्यों की त्यों प्रस्तुत की गई हैं। इस आलेख में दी गई कोई भी सूचना अथवा तथ्य अथवा व्यक्त किए गए विचार मेकिंग इंडिया के नहीं हैं, तथा मेकिंग इंडिया उनके लिए किसी भी प्रकार से उत्तरदायी नहीं है।

Comments

comments

loading...

LEAVE A REPLY