मुद्रा लोन : सफलता की कुछ सच्ची कहानियां

पहले बाप-बेटा किसान थे… खेती करते थे..

खेती अब भी करते हैं… पर साथ में प्रधानमंत्री मुद्रा योजना के अंतर्गत दिये गए ‘Mudra Loan’ से आइसक्रीम बनाने की छोटी सी यूनिट बना ली है।

अब इससे क्या क्या हुआ, ये देखिए…

इनकी खेती के अलावा भी इनकम होना शुरू हुई… काफी बढ़िया कमाई हो रही है अब… शादी-ब्याह में ऑर्डर मिलने लगे हैं।

इसी लोन से 4 तिपहिया रिक्शा भी खरीदे थे… उनको प्रतिदिन के किराए पर चलवाते हैं ये… अर्थात 4 अन्य लोग भी प्रतिदिन कमा रहे हैं इससे।

आइसक्रीम बनाने को एक मुख्य कारीगर रखा हुआ है… अर्थात 5वां लाभार्थी, रोज़गार पाने वाला 5वां व्यक्ति।

लोन प्राप्त करने वाले का बेटा अक्सर आता है और मना करने पर भी बारम्बार धन्यवाद करता है… उसका उत्साह बढ़ गया है… अब एक मिनी-ट्रक लेने जा रहा है जिसपर आधुनिक शैली में आइसक्रीम रखकर, बाकायदा उसे सजा कर जगह-जगह खड़ा करके आइसक्रीम बेचने का इरादा है।

पर्याप्त कमाई हो रही है… बचत हो रही है… कई भाई है परिवार में, तो अब इसके बाद कुछ और भी नया काम शुरू करने का इरादा भी बन रहा है।

एक ‘mudra loan’ के इतने फायदे…

अब दूसरा उदाहरण देखिए…

एक छोटी सी दर्जी की दुकान पर सिलाई करता युवक… उसे mudra loan किया… वो रेडीमेड कपड़े लाया… बिकना शुरू हुए… काम बढ़ा… सिलाई के साथ रेडीमेड कपड़े लाकर बेचने का भी काम होने लगा।

फिर से ज़रूरत महसूस हुई, एक लोन और किया उसे…

इस बार वो 2 सिलाई मशीन लाया…

2 और लड़कों को काम पर रखा… वो सिलाई करते हैं…

यानी उसके अलावा 2 और लोगों को प्रत्यक्ष रोज़गार मिला… काम बढ़िया चल रहा है… आत्मविश्वास बढ़ता जा रहा है… बोलता है कि ये loan चुकाने के बाद काम और बढाना है… मैं सहायता का आश्वासन देता हूँ।

तीसरा उदाहरण…

घरेलू महिला… घर में ही किराना का सामान बेचने के लिए Mudra loan किया… छोटा सा… यही कोई 11-12 हज़ार रूपए का… ठीक चला… चुका दिया… अब काम बढ़ाने को नया लोन चाहिए… काम की हिम्मत की, सपोर्ट मिला तो काम बढ़ाने की हिम्मत आई।

इन्ही की बहन… इनको भी किराना सामान के लिए mudra loan किया… इन्होंने भी चुका दिया… अब एक बड़ी दुकान किराए पर लेकर बाज़ार में धंधा जमाने की तैयारी में हैं।

ये हैं mudra loan से लोगों की सफलता की कुछ कहानियां…

Comments

comments

loading...

LEAVE A REPLY