मनोहर पर्रिकर : अश्रु नहीं बहाए जाते ऐसे नायकों के लिए

गोवा के मुख्‍यमंत्री आज हमारे बीच नहीं हैं, ऐसे नायकों के लिए अश्रु नहीं बहाए जाते हैं, बल्‍कि वह जो आदर्श स्‍थापित कर जाते हैं, उन्‍हें आगे बढ़ाए जाने की शपथ ली जाती है। वह अंतिम क्षण तक अपने कर्तव्‍यों के प्रति समर्पित रहे, जिस पद की उन्होंने शपथ ली, उसके दायित्‍वों का निर्वहन किया। हम सब ऐसे प्रेरणास्‍पद व्‍यक्‍तित्‍व से कर्म की प्रेरणा लेकर राष्‍ट्र की सेवा का प्रण लें तो यही सच्‍ची श्रद्धांजलि होगी।

वह पूरे देश के नायक थे, उन्होंने पद पर रहते हुए सादगी की मिसाल कायम की। परंतु हमें यह भी नहीं भूलना चाहिए कि अंतिम समय में उन्‍हें लेकर राहुल गांधी ने कितना बड़ा झूठ बोला था। एक मरणासन्‍न व्‍यक्‍ति का नाम लेकर झूठ का वितान रचना कहीं से भी नैतिक नहीं है। न ही यह राजनीतिक रूप से उचित था और न ही यह किसी और नज़रिए से।

और जब जब मनोहर पर्रिकर जी का स्‍वास्‍थ्‍य डगमगाया कांग्रेस यह प्रतीक्षा किए बिना कि क्‍या पर्रिकर जी जीवित हैं या नहीं, उन्‍हें मृत मानकर सरकार बनाने के लिए चल दी। कल भी मनोहर जी की मृत्‍यु से पूर्व ही सरकार बनाने के लिए पेशकश कर दी थी।

सुना था कि गिद्ध भी अपने शिकार के मरने की प्रतीक्षा करते हैं और फिर शिकार बनाते हैं, पर देश की इतनी पुरानी पार्टी की वैचारिक और राजनीतिक दरिद्रता पर रोया ही जा सकता है कि उसमें गिद्ध जितना भी सब्र नहीं है। उसमें यह झूठी नैतिकता भी नहीं है कि वह आधिकारिक सूचना की प्रतीक्षा भी कर लेती।

कभी कभी तो यह लगता है कि यदि यह दल अपने विपक्षियों के लिए इस हद तक असहिष्‍णु तब हो सकता है जब इसके हाथ में सत्‍ता नहीं हैं तो यह तब कितना अपने विरोधियों के प्रति असहिष्‍णु हुआ करता होगा जब वह सत्‍ता में था।

खैर, वह सब तो लोग जानें।

आज मन खिन्‍न है, क्‍योंकि बहुत ही कम नेता राजनीति में ऐसे थे जो आम लोगों के मन में राजनीति के प्रति प्रीत जगाते हैं, जो यह भरोसा जगाते हैं कि यदि आप पर किसी खास परिवार की कृपा नहीं है तो भी आप मुख्‍यमंत्री तथा रक्षामंत्री जैसे पद पर पहुंच सकते हैं, आप सत्‍यनिष्‍ठ हो सकते हैं, आप अपने राष्‍ट्र के प्रति इतने समर्पित हो सकते हैं कि शायद देवलोक भी आपको पाकर धन्‍य हुआ हो आज।

आप लाखों लोगों के लिए प्रेरणा हैं सर, और हमेशा रहेंगे।

आपका नाम लेकर जिन लोगों ने अपनी ओछी राजनीति चमकानी चाही, समय उनको उनका सही स्‍थान दिखाएगा..

आपको प्रभु शीघ्र ही इस देश में दोबारा भेजें

Comments

comments

loading...

LEAVE A REPLY