Indian Vs Western Kitchen : मूंगफली की देसी चटनी बनाम Peanut Butter

लोग कहते हैं नाम में कुछ नहीं रखा। पर आज के ज़माने में नाम में बहुत कुछ रखा है। एक अच्छा नाम आपके प्रोडक्ट को बिकवा सकता है। लोग नाम से आकर्षित हो सकते हैं।

आजकल ये पीनट बटर का बहुत क्रेज़ चल रहा है। नेट पर, यूट्यूब में बहुत जगह पढ़ा।

कुछ लड़कियां तो खुश हो गई कि उन्हें पीनट बटर बनाना आ गया। जिम वाले कुछ लड़कों के वीडियो देखें पीनटबटर खाते हुए।

मैंने सोचा क्या है ये पीनटबटर? मक्खन का कोई नया प्रकार तो नहीं?

आज यूट्यूब पर देखा तो साला में तो हस हस के पागल हो गया।

यार पिसी हुई मूंगफली दानों को थोड़ा शहद और थोड़ा नमक मिलाने को ये पीनट बटर बोलते हैं, जिसे हम देसी चटनी बोलते हैं।

ना जाने कोई सूरज का सातवाँ घोड़ा खरीद लिया हो वैसे ये वीडियो में दिखा रहे हैं कि कैसे पीनट बटर बनता है। यार ये तो हम बचपन से खाते आ रहे हैं। उस पेस्ट में थोड़ी लाल मिर्च और लहसुन पीसकर मिला लीजिए। फिर खाइए कभी बाजरे की रोटी के साथ तो कभी गेंहू की या जो आजकल कूल डुड लोग ब्राउन ब्रेड के साथ खाते हैं, सेहत के साथ स्वाद भी बेहतर मिलेगा।

हम तो घूमने जाते हैं तो 10 से 15 दिन तक ये चटनी ओहह सॉरी आपका ये “पीनटबटर” स्टॉक कर के ले जाते हैं।

सब्ज़ी मिले न मिले इस से काम चल जाता है।

मूंगफली की देसी चटनी

धीमी आंच पर मूंगफली सेंककर इसके छिलके निकाल दें।

अब एक मिक्सर जार में मूंगफली, खड़ी लाल मिर्च डालकर महीन पीस लें।

एक कटोरी में निकालकर उसमें एक चम्मच मूंगफली तेल, स्वादानुसार नमक और एक चम्मच शहद डालकर अच्छे से फेंट लें.

इसे यदि आप सिल बट्टे पर पीसे तो अधिक स्वादिष्ट बनेगी, फिर इसमें पीसते समय लहसुन अदरक, हरी मिर्च और खड़ा नमक डाल लें.

ऐसे बनाएं पीनट बटर (peanut butter)

2 कप कच्ची मूंगफली दानों को ठंडे पानी धोकर, साफ़ कपड़े पर सुखा लें।
इसमें एक डेढ़ छोटा चम्मच मूंगफली का तेल, आधा छोटा चम्मच चीनी या एक डेढ़ चम्मच शीरा या शहद, एक चुटकी नमक डाल कर अच्छे से महीन पीस लें.

इसे तब तक पीसे जब तक गाढ़ा मिश्रण न बन जाए। यह बाज़ारू रसायन युक्त पीनट बटर जैसा क्रीमी नहीं दिखेगा लेकिन स्वाद उससे कई गुना बेहतर होगा। इसे आप फ्रिज में रखकर कई दिनों तक खा सकते हैं।

Comments

comments

loading...

LEAVE A REPLY