एक मोदी क्या कर लेगा? क्या-क्या कर लेगा?

दो-तीन घटनाएं हैं, अव्यवस्थित, विश्रृंखल। उनको ही जोड़ने की कोशिश करता हूं। अभी कुछ मिलेनियल-किड्स से बात हो रही थी। अचानक, आदत से मजबूर मैंने पूछ दिया कि ‘श्रीमद्भगवगीता’ किसने पढ़ी है? कौन जानता है, उसके बारे में? उसके बाद सन्नाटा। फिर, एक ने कहा – या या सर, दिस इज़ अ ग्रेट नॉवेल। दूसरे … Continue reading एक मोदी क्या कर लेगा? क्या-क्या कर लेगा?