केजरीवाल के कई विधायक काँग्रेस में जाने की फिराक में!

काँग्रेस द्वारा लोकसभा चुनाव 2019 के लिए दिल्ली में आम आदमी पार्टी (AAP) को दुत्कार दिए जाने के बाद अब केजरीवाल पार्टी (AAP) में टूटन की संभावना है।

नेतृत्व की दिशाहीनता और मनमानी के चलते आम आदमी पार्टी को डूबता जहाज़ मान कर कई कार्यकर्ता और विधायक चुनाव से पहले AAP छोड़ने का मन बना चुके हैं।

इस संभावना को बल काँग्रेस ने भी बल दिया और कहा है कि आम आदमी पार्टी के 9 विधायक उसके संपर्क में हैं। दिल्ली काँग्रेस के प्रवक्ता जितेंद्र कोचर ने बुधवार को दावा किया कि अरविंद केजरीवाल की पार्टी के 9 विधायक पाला बदलते हुए काँग्रेस से जुड़ना चाहते हैं।

उल्लेखनीय है कि ‘आप’ विधायक और दिल्ली सरकार के पूर्व मंत्री संदीप कुमार दिल्ली काँग्रेस के दफ्तर पहुंचे थे और प्रदेश अध्यक्ष शीला दीक्षित मुलाकात की थी। हालांकि संदीप कुमार ने शीला दीक्षित से मुलाकात के बाद कहा था कि मेरी काँग्रेस से जुड़ने की कोई योजना नहीं है।

हालांकि दिल्ली काँग्रेस के प्रवक्ता कोचर ने कहा कि काँग्रेस की ओर से गठबंधन से इनकार करने के बाद आम आदमी पार्टी में भगदड़ मची हुई है।

कोचर ने बताया, ‘काँग्रेस की ओर से गठबंधन के प्रयासों को खारिज करने के बाद आम आदमी पार्टी में भगदड़ की स्थिति है। करीब 9 मौजूदा विधायक हमारे संपर्क में हैं और काँग्रेस में आना चाहते हैं। इन विधायकों ने प्रदेश अध्यक्ष शीला दीक्षित से बातचीत की है। देखते हैं कि वे कब काँग्रेस पार्टी का थामन थामते हैं।’

फिलहाल काँग्रेस के दावों पर टिप्पणी करने से आम आदमी पार्टी ने इनकार कर दिया है।

विधायक दिल्ली सरकार के पूर्व मंत्री संदीप कुमार ने काँग्रेस से जुड़ने की संभावनाओं को खारिज करते हुए कहा कि वह दिल्ली काँग्रेस अध्यक्ष दफ्तर इस मकसद से नहीं गए थे।

उन्होंने कहा कि वह वाल्मीकि समुदाय के प्रतिनिधिमंडल के साथ गए थे और उनके राजनीतिक प्रतिनिधित्व की मांग रखी थी।

संदीप ने कहा, ‘मैं वहां काँग्रेस जॉइन करने के लिए नहीं गया था। वाल्मीकि समुदाय के लोग चाहते थे कि मैं शीला दीक्षित से मुलाकात के लिए उनके साथ चलूं।’

Comments

comments

loading...

LEAVE A REPLY