विंग कमांडर Shahzaz Ud Din : एक अहसान फरामोश मुल्क में गुमनाम मौत

Wing Commander Shahzaz Ud Din एक अहसान फरामोश मुल्क में, कुछ आतंकियों जिहादियों की रक्षा करते एक गुमनाम मौत मारे गए।

पाकिस्तान की सरकार ने, पाकिस्तान की फौज ने, और पाकिस्तान के अवाम ने, समाज ने उनकी शहादत को स्वीकार ही नहीं किया।

वो एक Decorated Air Man थे, एक शानदार पायलट… उनके पिता Retd. Air Marshal वसीमुद्दीन साहब खुद पाकिस्तानी वायुसेना (PAF) के एक Decorated Pilot रहे हैं। उन्होंने अपना जवान बेटा कुर्बान कर दिया… एक अहसान फरामोश मुल्क के लिए!

पाकिस्तान ने अभी तक Shahzaz की मौत को स्वीकार नहीं किया है। उनका F16 फाइटर जेट विंग कमांडर अभिनंदन वर्धमान ने मार गिराया था। गिरते प्लेन से जब उन्होंने Eject किया तो घायल हो गए और अर्धबेहोशी की हालत में ज़मीन पर उतरे। वहां पब्लिक ने पीट दिया। उन जाहिलों को Uniform से समझ न आया कि वो अपना ही आदमी पीट रहे हैं?

दूसरी बात ये कि PAF शाम तक अपने Missing in Action पायलट को खोज न पाई?

उनका Pak Army से कोई Coordination ही नहीं था और जनरल गफूर शाम तक उसे भारत का पायलट ही बताते रहे और शाम को पूरे पाकिस्तानी establishment ने चुप्पी साध ली।

कोई नहीं पूछ रहा कि वो दूसरा पायलट जो आपके मिलिट्री अस्पताल में भर्ती था वो कौन था, क्या था, अब कहाँ है, उसका क्या हुआ?

खबर है कि विंग कमांडर Shahzaz नहीं रहे। उसी शाम उनकी मृत्य हो गयी। ये भी नहीं पता कि वो अपनी चोटों से मरे या सरकार ने मार दिया… क्योंकि वो एक ऐसा प्लेन उड़ा रहे थे जिसे ले के वो भारतीय वायु सीमा में घुस के आक्रमण नहीं कर सकते थे!

अमरीका ने जब पाकिस्तान को F16 बेचा था तो ये शर्त थी कि इससे आप सिर्फ अपने वायु क्षेत्र में Defense कर सकते हैं, शत्रु के area में घुस के attack नहीं। और पाकिस्तान ने 27 फरवरी को इस शर्त का उल्लंघन किया।

इसके कारण अब अमरीका ये करार रद्द कर सकता है और F16 की Maintenance और Spare Parts, Ammunition की supply रोक सकता है। इसलिए पाकिस्तानी अपने F16 के आक्रमण, crash और अपने पायलट की मौत को नकार रहे हैं।

सोचने वाली बात है… Shahzaz एक Rogue State की सेवा करते हुए, एक फिजूल की गुमनाम मौत मर गए!

उनका जनाज़ा निकला क्या?

उनकी मौत का फातिहा पढ़ा किसी ने?

अपने शौहर को अंतिम विदाई देती उनकी पत्नी की फोटो देखी किसी ने?

उन्होंने भी तो चुपके से कहा होगा… I love You Shahzaz… उनकी बेटी भी तो उनसे लिपट के रोई होगी, उसने भी तो अपने बहादुर बाप को Salute किया होगा?

एक तरफ हम हैं जो कल से अपने सपूत, अपने हीरो की सकुशल वापसी का जश्न मना रहे हैं… कितने ही माँ बाप ने अपने बच्चों का नाम अभिनंदन रख दिया… क्या किसी पाकिस्तानी ने भी अपने बेटे का नाम Shahzaz रखा?

ऐ पाकिस्तानियों, ऐ मुसलमानों… इस बुनियादी फर्क को समझो। तुम एक Failed Ideology, एक असफल विचारधारा के लिए अपनी जान दे रहे हो।

अंत में, भारत की अवाम की तरफ से Shazaz की शहादत को सलाम।

Comments

comments

loading...

LEAVE A REPLY