चलो युद्ध करें

पाकिस्तान तो खुद बर्बाद है उसकी औकात नहीं कि वो भारत से लड़ सके, पाकिस्तान को हवा भरने वाला चीन है, उसे लॉजिस्टिक सपोर्ट करने वाला है चीन, और चीन को ऐसा करने के लिए हम मदद कर रहे हैं।

चीन को समस्या भारत से सिर्फ इतनी सी है कि भारत उसी की कंपनियों को तोड़ कर अपने यहाँ ले आया। विश्व व्यापार में भारत की वजह से चीन को नुकसान उठाना पड़ रहा है।

एशिया में चीन अपना दबदबा बनाना चाहता है जो भारत के रहते नही हो सकता, इसलिए उसने पाकिस्तान को मोहरा बना कर सामने कर दिया। आपको पाकिस्तान के साथ युद्ध में उलझाना चाहता है चीन, यानी असली जड़ चीन है।

वही चीन जिसकी हम रोज़ मदद करते हैं, हम सस्ते के चक्कर मे रोज़ अपने घर न जाने कितने ही सामान चीन के ले कर आते हैं, और इन्ही समान से पैसे बना कर चीन उस पैसे को पाकिस्तान को देता है भारत में आतंकवाद फैलाने के लिए, यानी हमारे ही पैसे से हमारे ही देश को बर्बाद कर रहा है चीन।

ये वही चीन है जिसने फ्रांस द्वारा UN में मौलाना मसूद अज़हर को अंतरराष्ट्रीय आतंकवादी घोषित करने वाले प्रस्ताव का विरोध किया था, फ्रांस एक बार फिर वही प्रस्ताव UN में रखने वाला है और चीन एक बार फिर इसका विरोध करेगा।

बहुत सारे मित्रों ने युद्ध के समय सीमा पर जाने और फौज का साथ देने की इच्छा ज़ाहिर की थी। मैं ऐसे सभी मित्रों की भावनाओं का सम्मान करता हूँ। पाकिस्तान से बदला लेने के लिए आपको बॉर्डर पर जाने की ज़रूरत नहीं है, पाकिस्तान की ताकत है चीन, और चीन की ताकत हैं आप!

जी हाँ, आप चीन की ताकत हैं क्योंकि आप चीन के ग्राहक हैं। आप जाने अनजाने चीन को पैसा मुहैय्या करवाते हैं, उसकी दुकान और उसका देश आपके पैसों से चलता है। ऐसे में आपकी लड़ाई बहुत आसान और कठिन दोनों हो जाती है।

आसान ऐसे कि आप चीन का सामान खरीदना बन्द कर दीजिए, चीन को खुद लाले पड़ जाएंगे तो पाकिस्तान को पैसे कहाँ से देगा? ये लड़ाई मुश्किल ऐसे हैं कि खुद हमारे ही लोग चीन का सामान खरीदते हैं इम्पोर्ट करते हैं, उन्हें समझाना होगा कि वे चीन का सामान लाना बिल्कुल बन्द कर दें, वैसे जब आप खरीदेंगे ही नहीं तो वो अपने आप लाना बन्द कर देंगे।

ये लड़ाई बल की कम बुद्धि की ज़्यादा है। आप आज से ही हर जगह चीन के सामान की होली जलाना शुरू कर दीजिए। आज से ही इतना प्रेशर क्रिएट कर दीजिए कि जब UN में फ्रांस के प्रस्ताव आये तो चीन की हिम्मत न हो कुछ बोलने की।

ऐसा आप कर सकते हैं सिर्फ आप, तो क्या आप ऐसा करेंगे?

क्या चीन के बहिष्कार को आप राष्ट्रीय आंदोलन के रूप में खड़ा करेंगे?

क्या अपने हर प्रतिष्ठान हर दुकान हर आफिस पर #BoycottChinaProducts का बोर्ड लगा सकते हैं?

यकीन मानिए यदि 6 महीने हमने एक कील भी चीन से नहीं खरीदी तो चीन घुटनो पर होगा, अपनी ताकत को पहचानिए, युद्ध कीजिये, व्यापारिक युद्ध।

Comments

comments

loading...

LEAVE A REPLY