भारत मां के इन भटके हुए सपूतों को कोटि कोटि धन्यवाद

पुलवामा में हुए आतंकवादी हमलों के तत्काल बाद देश में नौजवानों की एक ऐसी बिरादरी सक्रिय हो गयी, जो है तो गज़ब की Genious लेकिन साथ ही साथ गज़ब की खुराफ़ाती उपद्रवी भी है।

इसके कारनामों को गैरकानूनी माना जाता है और अपराध की श्रेणी में रखा जाता है। यह बिरादरी उन नौजवान कम्प्यूटर इंजीनियरों/आईटी प्रोफेशनल्स की है जो हैकिंग के गोरखधंधे के बेताज बादशाह कहे जाते हैं।

14 फरवरी को हुए आतंकी हमले के तत्काल बाद जब देश शोक में डूबा हुआ था उस समय देश में इस बिरादरी के अलग-अलग क्षेत्रों में बिखरे हुए हैकिंग के बादशाहों ने शोक मनाने के बजाय पाकिस्तान पर अपने हमले की तैयारी शुरू कर दी थी।

14 फ़रवरी की शाम को ही उन्होंने आनन फानन में एकदूसरे से सम्पर्क साधा और ऐलान किया कि… हम 14 फ़रवरी को कभी नहीं भूलेंगे।

अपने इस ऐलान के साथ ही गज़ब का आपसी समन्वय बनाकर भारतीय हैकरों की यह संयुक्त टीम उसी रात पाकिस्तान पर टूट पड़ी।

14 फ़रवरी की रात पाकिस्तान की 5 सरकारी वेबसाइट हैक कर के उन्होंने जमकर ताण्डव किया। फिर 15 फ़रवरी की रात को 8 और 16 फ़रवरी की रात को 8 पाकिस्तानी सरकारी वेबसाइटों को हैक किया। 17 फ़रवरी की रात सबसे भीषण हमला कर के पाकिस्तान की 50 से अधिक सरकारी वेबसाइटों को हैक कर लिया। उनका ताण्डव इतना जबरदस्त था कि पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय तक की वेबसाइट हैक कर के उन्होंने इमरान खान की प्रोफाइल को ही उसमें से उड़ा दिया।

Team-1 Crew के नाम से सक्रिय हुए भारतीय हैकरों की यह टीम स्वतः स्फूर्त संगठित हुई है। पाकिस्तानी तंत्र को इसने हिलाकर रख दिया है। भारतीय हैकरों के इस प्रचण्ड हमले से पाकिस्तान के सरकारी तंत्र में हाहाकार की स्थिति है।

वेबसाइट हैक करने के बाद उस वेबसाइट पर यह टीम अपने इस पोस्टर को चस्पा कर के पुलवामा के शहीदों को अपने विशिष्ट अंदाज़ में अपनी अति विशिष्ट श्रद्धांजलि दे रही हैं।

दूसरा स्क्रीनशॉट भाई Anshul Saxena की पोस्ट का है। जिसमें हैक की गई पाकिस्तान की सरकारी वेबसाइटों की सूची है।

Comments

comments

loading...

LEAVE A REPLY