दिनभर के प्रमुख समाचार एक साथ

मुख्य समाचार :

  • कश्‍मीर घाटी के पुलवामा जिले में सी०आर०पी०एफ० के काफिलेपर हुए आत्‍मघाती हमले में 43 जवान शहीद और कई अन्‍य घायल।
  • प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कायरतापूर्ण हमले की कड़ी निंदा की। उन्‍होंने स्थिति का जायजा लिया। गृहमंत्री और राष्‍ट्रीय सुरक्षा सलाहकार से चर्चा की।
  • प्रधानमंत्री ने कहा – केंद्र सरकार अंतरिम बजट में घोषित कई नई योजनाओं से किसानों के कल्‍याण के लिए कार्य कर रही है।
  • उच्‍चतम न्‍यायालय ने दो न्‍यायाधीशों के बीच मतभेद के बाद दिल्‍ली सरकार के अधिकारियों की नियुक्ति और तबादले संबंधी मामला बड़ी पीठ को भेजा।
  • केन्‍द्रीय प्रत्‍यक्ष कर बोर्ड के अध्‍यक्ष सुशील चन्‍द्रानये निर्वाचन आयुक्‍त बने।
  • विदेश मंत्रालय ने कहा – भारत की अफगानिस्‍तान में शां‍ति और सुलह‍ से संबंधित घटनाक्रम पर गहरी नज़र।
  • पीवी सिंधू, गुवाहाटी में सीनियर नेशनल बैडमिंटन चैंपियनशिप के सेमीफाइनल में पहुंची।

समाचार विस्तार से :

जम्‍मू-कश्‍मीर में आज केन्‍द्रीय रिजर्व पुलिस बल – सी आर पी एफ की बसों के काफिले पर आत्‍मघाती हमले में 43 जवान शहीद हो गए और कई घायल हो गये। यह हमला दक्षिणी कश्‍मीर के पुलवामा जिले में श्रीनगर-जम्‍मू राजमार्ग पर दिन में लगभग तीन बजकर बीस मिनट पर हुआ।

सुरक्षा सूत्रों ने कहा है कि यह हमला हाल के वर्षों में सी आर पी एफ पर हुआ सबसे घातक और खतरनाक है। उन्‍होंने बताया कि आतंकवादियों ने विस्‍फोटकों से भरी अपनी कार को सी आर पी एफ की बस से भिड़ा दिया जिससे जबरदस्‍त विस्‍फोट हुआ। धमाके के बाद आतंकवादियों ने काफिले पर अंधाधुंध गोलीबारी की। गंभीर रूप से घायल सुरक्षाकर्मियों को श्रीनगर में सेना के बेस अस्‍पताल में भर्ती कराया गया है।


सीआरपीएफ के महानिदेशक आर. आर. भटनागर ने कहा है कि हमले के समय करीब ढाई हजार सुरक्षाकर्मियों का काफिला बसों से जम्‍मू से श्रीनगर जा रहा था। उन्‍होंने बताया कि धमाके में काफिले की एक बस को बहुत अधिक नुकसान पहुंचा है।

यह सी.आर.पी.एफ का एक कॉनवाय था जो कि जम्‍मू से श्रीनगर जा रहा था, करीब उसमें 2500 पर्सनल थे और लदूरा है नए एक्‍सप्रेस वे के पास पुलवामा डिस्ट्रिक्ट में वहां पर एक बस हमारी डैमेज हुई है ब्‍लॉस्‍ट से और वहां पर हमारे वरिष्‍ठ अधिकारी मौजूद हैं, जो इंजर्ड थे उनको मेडिकल केयर के लिए शिफ्ट करा दिया गया है। ब्‍लॉस्‍ट की जांच की जा रही है।


आतंकी गुट जैश-ए-मोहम्‍मद ने इस हमले की जिम्‍मेदारी ली है। श्रीनगर-जम्‍मू राजमार्ग पर यातायात बंद कर दिया गया है और सुरक्षा बल पूरे इलाके की घेराबंदी करके तलाशी अभियान में लगे हैं।

राष्‍ट्रपति, रामनाथ कोविंद और उप-राष्‍ट्रपति वेंकैया नायडु ने इस कायरतापूर्ण हमले की कड़ी निंदा की है।


प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने इस जघन्‍य हमले की कड़ी निंदा की है। एक ट्वीट में श्री मोदी ने कहा है कि उन्‍होंने इस बारे में गृहमंत्री राजनाथ सिंह और राष्‍ट्रीय सुरक्षा सलाहकार से बातचीत की है और हमले के बाद की स्थिति का जायजा लिया है।

उन्‍होंने यह भी कहा कि बहादुर सुरक्षा कर्मियों का बलिदान बेकार नहीं जायेगा और सारा देश बहादुर शहीदों के परिवारों के साथ एकजुट खड़ा है।


गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने जम्‍मू-कश्‍मीर के राज्‍यपाल, सी०आर०पी०एफ० महानिदेशक और राज्‍य के गृहसचिव से हमले के बारे में बातचीत की है। गृहमंत्री कार्यालय ने कहा है कि उनका कल का बिहार दौरा रद्द कर दिया गया है।

गृहमंत्री ने कहा कि यह एक जघन्‍य और व्‍यथित करने वाला हमला है। उन्‍होंने शहीद जवानों के प्रति श्रद्धासुमन अर्पित किये। श्री सिंह ने घायलों के शीघ्र स्‍वस्‍थ होने की भी कामना की।

केन्‍द्रीय मंत्री अरुण जेटली ने इस हमले को निंदनीय बताते हुए कहा है कि आतंकवादियों को उनके इस जघन्‍य कृत्‍य का सबक सिखाया जायेगा।

भाजपा अध्‍यक्ष अमित शाह ने इस हमले को कायरतापूर्ण कृत्‍य बताया है। एक ट्वीट में उन्‍होंने कहा है कि हमारे सुरक्षा बल आतंक की ऐसी घिनौनी हरकतों से डटकर लोहा लेंगे और उन्‍हें हराकर रहेंगे।

कांग्रेस अध्‍यक्ष राहुल गांधी ने कहा है कि वे इस हमले से आहत हैं। उन्‍होंने शहीदों के परिवारों के प्रति संवेदना व्‍यक्‍त की है और घायलों के शीघ्र स्‍वस्‍थ होने की कामना की है।


प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने कहा है कि केन्‍द्र सरकार किसानों के कल्‍याण के लिए काम कर रही है। उत्‍तराखंड में उधमसिंह नगर जिले के रुद्रपुर में एक रैली को संबोधित करते हुए उन्‍होंने यह बात कही।

खराब मौसम की वजह से प्रधानमंत्री का हैलीकॉप्‍टर नहीं उतर पाया, जिससे उन्‍हें कॉर्बेट नेशनल पार्क के ढिकाला से मोबाइल फोन के जरिये जनसभा को संबोधित करना पड़ा।

प्रधानमंत्री ने कहा कि उनकी सरकार ने किसानों के कल्‍याण के लिए इस बार के अंतरिम बजट में कई नये कार्यक्रम शुरू करने की घोषणा की है।

इससे पहले, आज सुबह प्रधानमंत्री देहरादून के जॉली ग्रांट हवाईअड्डे पर उतरे और खराब मौसम की वजह से तीन घंटे इंतजार करने के बाद कॉर्बेट नेशनल पार्क के लिए रवाना हो गये। प्रधानमंत्री के न पहुंच पाने के कारण उत्‍तराखंड के मुख्‍य मंत्री त्रिवेन्‍द्र सिंह रावत ने रुद्रपुर में सहकारिता विभाग के दो कार्यक्रमों का शुभारंभ किया।


प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी कल उत्‍तर प्रदेश में झांसी में कई विकास परियोजनाओं का उद्घाटन करेंगे और आधारशिला रखेंगे। श्री मोदी झांसी में रक्षा गलियारे की आधारशिला रखेंगे। यह शहर उत्‍तर प्रदेश रक्षा गलियारे के छह प्रमुख केन्‍द्रों में से एक है।


प्रधानमंत्री श्रमयोगी मान-धन योजना कल से लागू की जाएगी। इसके अंतर्गत असंगठित क्षेत्रों के कामगारों को साठ वर्ष की आयु होने पर तीन हजार रुपये प्रतिमाह की दर से पेंशन सुनिश्चित की गई है।


प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी देश की पहली तेज रफ्तार सेमी हाईस्‍पीड रेलगाड़ी वंदे भारत एक्‍सप्रेस को कल नई दिल्‍ली रेलवे स्‍टेशन से झंडी दिखाकर रवाना करेंगे। यह रेलगाड़ी नई दिल्‍ली से वाराणसी तक कानपुर और इलाहाबाद होकर जाएगी। यह रेलगाड़ी सोमवार और बृहस्‍पतिवार को छोड़कर सभी दिन चलेगी।

एक रिपोर्ट-

गति, सुरक्षा और सुविधा इस नये ट्रेन की पहचान है। वंदे भारत एक्‍सप्रेस 160 किलो मीटर प्रति घंटे की रफ्तार से दौड़ेगी जिसमें कुल 16 वातानुकूलित डिब्‍बे होंगे । इसके सभी डिब्‍बों में स्‍वचालित दरवाजे, मनोरंजन के लिए वाई-फाई सेवा के अलावा आरामदायक सीटें लगाई गईं हैं। सभी डिब्‍बों में पैन्ट्री सुविधा उपलब्‍ध कराई गई है। इस ट्रेन में कुल एक हजार 128 यात्री सफर कर सकते है।

नई दिल्ली से वाराणसी जाने के लिये लोगों को चेयर कार के लिये एक हजार 760 रुपये देने होंगे वहीं एक्‍जीक्‍यूटिव श्रेणी के लिये तीन हजार 310 रुपये खर्च करना होगा।


नागरिक उड्डयन राज्यमंत्री जयंत सिन्हा ने कहा है कि उड़ान योजना से देश में उडड्यन क्षेत्र के प्रसार में व्यापक सफलता मिली है। जयंत सिन्‍हा ने कहा कि उड़ान दुनियाभर में अपनी किस्म की नायाब योजना है।

सुनियोजित नीति और सरकार से सीमित धनराशि मिलने पर हम देश में 25 हवाई अड्डों को नया रूप देने में सफल हुए। बीकानेर, कानपुर, पठानकोट और लुधियाना के हवाई अड्डों की भांति ही इनका इस्‍तेमाल नहीं हो रहा था। इन्‍हें उड़ान योजना के जरिए उपयोग करने लायक बना दिया गया।


उच्‍चतम न्‍यायालय की दो न्‍यायाधीशों की पीठ ने आज दिल्‍ली में प्रशा‍सनिक सेवाओं के नियंत्रण के विवादास्‍पद मुद्दे पर खंडित फैसला सुनाया। केन्‍द्र और दिल्‍ली सरकार के बीच विवाद के छह विषयों पर सुनवाई करते हुए दोनों न्‍यायाधीशों ने बाकी पांच मुद्दों पर सर्वसम्‍मति से निर्णय दिया।

दोनों न्‍यायाधीश इस बात पर सहमत थे कि उप-राज्‍यपाल का भ्रष्‍टाचाररोधी ब्‍यूरो पर नियंत्रण रहेगा। जांच आयोगों की नियुक्ति का अधिकार केन्‍द्र सरकार के पास रहेगा।

दिल्‍ली की निर्वाचित सरकार को लोक अभियोजकों की नियुक्ति का अधिकार होगा। वह भू-राजस्‍व संबंधी मामलों और विद्युत आयोग या बोर्ड की नियुक्ति से संबंधित मामलों में भी निर्णय करेगी।

लेकिन न्‍यायमूर्ति भूषण ने व्‍यवस्‍था दी कि दिल्‍ली सरकार को प्रशासनिक सेवाओं के संबंध में कोई अधिकार नहीं है, जबकि न्‍यायामूर्ति सीकरी का कहना था कि नौकरशाही के उच्‍चतम स्‍तर पर तबादले और नियुक्ति के मामलों में अंतर किया जाना चाहिए और इसका अधिकार केन्‍द्र सरकार के पास होना चाहिए। अन्‍य प्रशासनिक अधिकारियों के मामले में मतभेद उत्‍पन्‍न होने पर उप-राज्‍यपाल का फैसला अंतिम होगा।

न्‍यायाधीशों के बीच मतभेद को देखते हुए खंडपीठ ने फैसला बड़ी पीठ को सौंप दिया।

भारतीय जनता पार्टी की दिल्‍ली इकाई ने दिल्‍ली सरकार में सेवाओं के नियंत्रण पर उच्‍चतम न्‍यायालय के फैसले का स्‍वागत किया है। पार्टी नेता संबित पात्रा ने कहा –

सर्विसिज़ को लेकर एक बात तो स्‍पष्‍ट है भले ही उसके लिए थ्री जज बेंच को रेफर किया गया है मैटर। मगर दोनों ही जज्स ने एक विषय पर सहमति जताई है कि ग्रेड-1 और ग्रेड-2 अर्थात् ज्‍वाइंट सैकेटरी से ऊपर लेवल के जितने भी ट्रासंफर-पोस्टिंग इत्‍यादि होंगे वो केन्‍द्र के द्वारा निर्धारित किया जायेगा। इसमें अरविंद केजरीवाल जी कुछ नहीं कर सकते हैं।

आम आदमी पार्टी के नेता और मुख्‍यमंत्री अरविंद केजरीवाल नेकहा है कि यह फैसला स्‍पष्‍ट नहीं है।

सुप्रीम कोर्ट का खुद का जजमेंट है कि बेसिक स्‍ट्रक्‍चर ऑफ कंस्‍टीच्‍यूशन को टैंपर नहीं किया जा सकता। सबसे बड़ा बेसिक स्‍ट्रक्‍चर तो जनतंत्र है ना। जो सरकार चुनके आती है, अगर उस सरकार को काम करने की शक्तियां ही नहीं हैं तो फिर वो सरकार कैसे काम करेगी?


केन्‍द्रीय प्रत्‍यक्ष कर बोर्ड के अध्‍यक्ष सुशील चन्‍द्रा को नया निर्वाचन आयुक्‍त नियुक्‍त किया गया है। श्री चन्‍द्रा 1980 बैच के भारतीय राजस्‍व सेवा के अधिकारी हैं। उनकी नियुक्ति से चुनाव आयोग में अब मुख्‍य निर्वाचन आयुक्‍त सुनील अरोड़ा के अलावा दो निर्वाचन आयुक्‍त अशोक लवासा और सुशील चन्‍द्रा होंगे।


सूचना और प्रसारण मंत्रालय ने जम्‍मू-कश्‍मीर के पुलवामा जिले में आतंकी हमले के मद्देनजर सभी निजी उपग्रह टी वी चैनलों को परामर्श जारी किया है। इसमें मंत्रालय ने कहा है कि सभी चैनल ऐसी किसी भी सामग्री को लेकर सावधान रहें जिससे हिंसा भड़कने की आशा हो या जिसमें कानून व्‍यवस्‍था बनाये रखने के खिलाफ कोई बात हो।


भारत ने आज कहा कि वह अफगानिस्‍तान में शां‍ति और सुलह‍ से संबंधित घटनाक्रम पर गहरी नज़र रखे हुए है।

मीडिया के प्रश्‍नों के उत्‍तर में विदेश मंत्रालय के प्रवक्‍ता रवीश कुमार ने बताया कि भारत अफगानिस्‍तान में सुरक्षा स्थिति को लेकर ईरान, सऊदी अरब और रूस समेत सभी क्षेत्रीय देशों के संपर्क में है। उन्‍होंने कहा कि अफगानिस्‍तान में शांति और स्थिरता लाने के लिए भारत काम करता रहेगा।


गुवाहाटी में 83वीं सीनियर राष्ट्रीय बैडमिंटन चैंपियनशिप मेंपी वी सिंधू महिला सिंगल्‍स के सेमीफाइनल में पहुंच गई हैं। पूर्व चैंपियन और शीर्ष वरीयता प्राप्त सिंधू ने क्‍वार्टर फाइनल में रिया मुखर्जी को पराजित किया।

सिंधू ने आज सवेरे मालविका बंसोड़ को हराकर अंतिम आठ में जगह बनाई थी। पुरूष वर्ग में सौरभ वर्मा और लक्ष्‍य सेन भी क्‍वार्टर फाइनल में पहुंच गए हैं।

स्रोत : http://newsonair.com/

Comments

comments

loading...

LEAVE A REPLY