स्थिति गंभीर है, परिणाम बहुत गंभीर होगा

कश्मीर में आतंकी हमले में सेना एवं सुरक्षा बलों के 40 जवानों के बलिदान ने गम्भीर स्थिति उत्पन्न कर दी है। इसका परिणाम भी बहुत गम्भीर होने वाला है।

पाकिस्तानी आतंकी संगठन जैश ए मुहम्मद ने हमले के कुछ ही क्षणों बाद हमले की जिम्मेदारी लेते हुए आत्मघाती आतंकी हमलावर की फोटो और नाम जारी कर के भारत को भ्रमजाल में फंसाने की धूर्त कोशिश की है।

उसके इस भ्रमजाल में ‘सबसे पहले, सबसे आगे’ रहने की पागल होड़/ दौड़ में देश के कुछ महामूर्ख न्यूज़ चैनलों ने फंस कर उस आतंकी का फोटो और नाम चिल्ला चिल्ला कर दिखाना बताना शुरू कर दिया था।

लेकिन सरकार इस भ्रमजाल में नहीं फंसी है। किसी भी सरकारी एजेंसी ने हमले की जिम्मेदारी से सम्बन्धित कोई बयान नहीं दिया है।

दरअसल जैश ए मुहम्मद के द्वारा एक कश्मीरी आतंकी का नाम और फोटो जारी करवा के पाकिस्तान ने यह प्रयास किया है कि इस जघन्य हत्याकांड को भारत के अंदरूनी आतंकवाद से सम्बद्ध कर दिया जाए।

पाकिस्तान ने ऐसा प्रयास इसलिये किया है क्योंकि वह जानता है कि इस घटना से यदि उसका नाम जुड़ा तो अंतरराष्ट्रीय नियमों के अनुसार इस घटना को उसकी तरफ से युद्ध छेड़ने की करतूत माना जाएगा। इसके बहुत गम्भीर परिणाम उसको भुगतने पड़ेंगे।

अतः अगले कुछ दिन, या हो सकता है कि अगले कुछ घण्टे पाकिस्तान को बहुत भारी पड़ जाएं…

हालांकि महामूर्ख न्यूज़ चैनलों की देशघाती मूर्खता ने उसके प्रोपोगेंडा को शुरुआती खाद पानी तो उपलब्ध करा ही दिया है। लेकिन यह मूर्खता पाकिस्तान का रक्षा कवच नहीं बन पाएगी।

पाकिस्तान अपने राक्षसी कुकर्म का गम्भीर परिणाम भुगतने के लिए तैयार रहे। अब केवल यह देखना है कि उसे यह परिणाम कब मिलेगा। अगले कुछ घण्टों या फिर अगले कुछ दिनों में!

Comments

comments

loading...

LEAVE A REPLY