और मोदी की टाइमिंग परफेक्ट है…

टाइमिंग बड़ी चीज़ है…

चार साल हम मोदी को कोसते रहे कि कांग्रेसियों पर कोई कारवाई नहीं हो रही। पर मोदी को भी पता है कि आप कितनी भी कार्रवाई कर लो, कितने भी चार्जशीट करवा लो… बात तो आखिर में कोर्ट में जानी है।

और कोर्ट में बैठे हैं उनके खादिम… तो उन्हें जाना है कोर्ट और वहाँ से क्लीन चिट लेकर आ जाना है। फिर वे कहते फिरेंगे कि वे तो बेगुनाह हैं…

और चार साल का समय भूलने के लिए बहुत होता है। पब्लिक को सिर्फ आखिरी साल याद रहता है।

सारे चोरों पर फँदा कस रहा है… पर आखिरी साल में।

हो सकता है कि कल को ये सभी अदालत से छूट कर आ जायें… सलमान खान की गाड़ी कोई नहीं चला रहा था और वाड्रा गन्ने की खेती करता है…

पर आज तो आप जनता की अदालत में खड़े हो, और जनता के सामने आप चोर हो। इस सारी कार्रवाई की टाइमिंग में ही सब कुछ है।

और इस बार भी हारे तो अब ज्यूडिशरी और मीडिया में बैठे आपके गुलाम भी साथ छोड़ देंगे।

उनकी आपसे रिश्तेदारी नहीं है… उन्हें आपकी ताकत पर भरोसा है। उन्हें उम्मीद है कि आप वापसी करोगे।

जब उन्हें पता लग जायेगा कि आपकी वापसी नहीं होने वाली तो कौन साथ खड़ा होगा?

आपके गुलामों ने आपके साथ दफन नहीं होना है। वेश्या का कोई बिस्तर नहीं होता… वह हर रोज बदल लेती है।

पारले-जी बिस्किट चाय में डूबी है, निकाल कर खानी है। ज्यादा देर नहीं छोड़ सकते नहीं तो मज़ा नहीं आएगा। तो बिस्किट को चाय में कितनी देर रखना है, इसे कहते हैं तजुर्बा… इसे कहते हैं टाइमिंग…

और मोदी की टाइमिंग परफेक्ट है…

Comments

comments

loading...

LEAVE A REPLY