फिर ये शिकायत करते हैं कि सोशल मीडिया पर इन्हें पड़ती हैं गालियां

अपने एक साथी को सड़क पर लिटाकर उसे सफेद चादर से ढंकने के बाद उसे मरा हुआ बताकर उसकी लाश के अन्तिम संस्कार के लिए रो रोकर भीख मांगने वाले धूर्त धोखेबाज़ भिखारियों को आपने अवश्य देखा होगा।

उन्हीं धूर्त धोखेबाज़ भिखारियों की ही भांति राहुल गांधी पिछले एक डेढ़ वर्ष से राफेल डील से सम्बन्धित अपने सरासर सफेद झूठ की नकली लाश देश को दिखा दिखाकर वोटों की राजनीतिक भीख मांग रहे हैं।

हालांकि पिछले डेढ़ वर्ष के दौरान सोशल मीडिया से लेकर सुप्रीम कोर्ट तक ने उनके इस फर्जीवाड़े को बार-बार, लगातार बेनकाब किया है।

इसके बाद भी राहुल गांधी प्रचण्ड बेशर्मी से हरबार एक नए सफेद झूठ की नकली लाश को नयी चादर से ढंक कर वोटों की भीख मांगने की धोखाधड़ी में बेशर्मी से जुट जाते हैं। राहुल गांधी को सफेद झूठ की नई नई नकली लाशें सप्लाई करने का शर्मनाक धंधा कुछ मीडियाई चांडाल-डोम करते हैं।

आज सवेरे एक बार फिर अपने ऐसे ही एक नए सफेद झूठ की लाश लेकर न्यूज़ चैनलों के कैमरों के सामने राहुल गांधी छाती कूट कूटकर वोटों की भीख मांगने में जुट गए थे।

इस बार उन्हें उनके सफेद झूठ की नकली लाश सप्लाई करने का काम एन राम नाम के जिस मीडियाई चांडाल-डोम ने किया वो द हिन्दू नाम के अखबार के संपादक हैं। उन्होंने रक्षा मंत्रालय के एक सचिव की 3 वर्ष पहले की एक चिट्ठी का आधा हिस्सा छुपाकर चिट्ठी का ऊपरवाला आधा हिस्सा अपने अखबार में छापकर राफेल डील और प्रधानमंत्री मोदी के खिलाफ झूठ का ज़हर उगला था।

राहुल गांधी को सफेद झूठ की नकली लाश सप्लाई करने की उनकी इस चांडालीय मीडियाई करतूत के समर्थन में लुटियनिया दिल्ली के मोदी विरोधी मीडियाई गुर्गे कांग्रेसी चाटुकार मृणाल पांडे की अगुआई में सवेरे से ही ट्विटर पर नागिन डांस करने लगे थे।

परिणामस्वरूप राहुल गांधी न्यूज़ चैनलों के कैमरों के सामने उस सफेद झूठ की नकली लाश पर सिर पटक पटक कर राजनीतिक मातम करने की नौटंकी करते हुए वोटों की भीख मांगने में जुट गए थे।

लेकिन उनकी भिखमंगई की नौटंकी शुरू होने के 10 मिनट के भीतर ही राहुल गांधी और उनके सफेद झूठ की नकली लाश पर ‘सोशल मीडिया थाने’ के सिपाहियों द्वारा तथ्य और सत्य के भारी भरकम लट्ठ और जूते बुरी तरह बरसाये जाने लगे थे।

एन राम द्वारा छापी गयी अधूरी चिट्ठी के जवाब में पूरी चिट्ठी सोशल मीडिया में चारों तरफ छा गयी थी। रक्षा सचिव ने भी अपनी पूरी चिट्ठी प्रस्तुत कर दूध का दूध पानी का पानी कर दिया था।

मीडियाई चांडाल-डोम और लुटियनिया गैंग के उसके साथी मीडियाई चांडालों-डोमों पर सोशल मीडिया के हर गली नुक्कड़ चौराहे पर गालियों जूतांजलियों की मूसलाधार बरसात शुरू हो गयी थी, जो अभी भी जारी है।

ध्यान रहे कि यही मीडियाई चांडाल-डोम लगातार बार-बार शिकायत करते हैं कि सोशल मीडिया हमको बहुत गाली देता है, बहुत बुरी तरह जुतियाता है।

आज राहुल गांधी को सरासर सफेद झूठ की नकली लाश सप्लाई करने वाला मीडियाई चांडाल-डोम एन राम और उस सफेद झूठ की लाश को फैलाने वाली लुटियनिया गैंग की प्रमुख गुर्गा मृणाल पांडे को आप भी पहचान लीजिये।

Comments

comments

loading...

LEAVE A REPLY