प्रधान सेवक ने धुलाई तो तबियत से की, मगर विपक्ष में गंदगी इतनी कि…

आज राष्ट्रपति के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव का जवाब देते हुए, प्रधान सेवक नरेंद्र मोदी ने विपक्ष की तबियत से धुलाई की, मगर उसमें गन्दगी इतनी है कि साफ़ नहीं हुई होगी।

चिकने घड़े हैं जिन पर असर होना मुश्किल है।

प्रधानमंत्री मोदी ने कांग्रेस की झूठ की इमारत पूरी तरह ढहा दी मगर झूठ की काँग्रेसी फैक्ट्री से बने प्रोडक्ट फिर भी अभी चुनाव के बाजार में आते रहेंगे।

इसलिए नरेंद्र मोदी को दुबारा वापस लाने के लिए हमें सोशल मीडिया पर और सतर्क रहना होगा। उनके हर फरेब को काटना होगा।

विपक्ष के महा गठबंधन को मिलावटी सरकार बनाने का प्रयास कह कर मोदी ने सही मज़ाक उड़ाया कि लोग सेहत की चिंता अब ज़्यादा करते हैं, मिलावटी उत्पाद सहन नहीं करेंगे।

बस दो बातें और पूछ लेते तो सोने में सुहागा हो जाता। पहली – इस मिलावटी उत्पाद में मायावती कहाँ फिट होगी और दूसरा – दादी की नाक कहाँ लगेगी!

मोदी ने आज विपक्ष की घंटी बजाते हुए मल्लिकार्जुन खड़गे को चुनौती दे दी कि अगली सरकार हमारी ही होगी, साथ ही सन 2023 में अविश्वास प्रस्ताव लाने की शुभकामनायें भी दे दी।

आज रात खड़गे को नींद नहीं आएगी और ना सोनिया गांधी सो पायेगी क्योंकि प्रधान सेवक ने अपना धर्म बता दिया कि चोर लुटेरों को डराने के लिए ही जनता ने मुझे भेजा है उन्हें डरना ही चाहिए… जिन्होंने देश को लूटा है, उन्हें मैं सोने नहीं दूंगा।

आज राहुल गाँधी और उसके दोनों साथी ज्योतिरादित्य सिंधिया और हूडा नहीं बैठे थे। बस सोनिया को जब कुछ समझ नहीं आ रहा था तो खड़गे उसे समझा रहा था।

इसके अलावा शशि थरूर मुंह लटकाये बैठा था। ज़रा ही करीब शरद पवार की बेटी सुप्रिया सुले (मोदी जी जब कांग्रेस और खड़गे की बखिया उधेड़ रहे थे) मुंह पर हाथ रख रख कर हंस रही थी, जैसे मज़ा आ रहा हो… जबकि शरद पवार मिलावटी ब्रिगेड में घुसा हुआ है।

कुल मिला कर नरेंद्र मोदी के भाषण के बारे में कहा जा सकता है कि आज उन्होंने एक बड़ा चुनावी भाषण लोक सभा में ही दे दिया जिसमे वो छक्के पे छक्के मारते गए मगर विपक्ष रोक नहीं पाया। पूरी तरह फ्रंट फुट पर बैटिंग इसे ही कहते हैं।

डिस्क्लेमर (अस्वीकरण) : इस आलेख में व्यक्त किए गए विचार लेखक के निजी विचार हैं। इस आलेख में दी गई किसी भी सूचना की सटीकता, संपूर्णता, व्यवहारिकता अथवा सच्चाई के प्रति मेकिंग इंडिया उत्तरदायी नहीं है। इस आलेख में सभी सूचनाएं ज्यों की त्यों प्रस्तुत की गई हैं। इस आलेख में दी गई कोई भी सूचना अथवा तथ्य अथवा व्यक्त किए गए विचार मेकिंग इंडिया के नहीं हैं, तथा मेकिंग इंडिया उनके लिए किसी भी प्रकार से उत्तरदायी नहीं है।

Comments

comments

loading...

LEAVE A REPLY