दिनभर के प्रमुख समाचार एक साथ

मुख्य समाचार :

  • वित्‍तमंत्री पीयूष गोयल ने 2019-20 का अंतरिम केन्‍द्रीय बजट संसद में पेश किया।
  • छोटे और सीमांत किसानों को प्रत्‍यक्ष लाभ अंत‍रण के माध्‍यम से छह हजार रुपये प्रतिवर्ष सहायता की घोषणा। 12 करोड़ किसानों को लाभ मिलेगा।
  • असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों के लिए विश्‍व की सबसे बड़ी पेंशन योजना की घोषणा। दस करोड़ कामगारों को इसमें लाने का उद्देश्‍य।
  • मध्‍यम आय वर्ग के लोगों को आयकर में बड़ी छूट। व्‍यक्तिगत करदाताओं की पांच लाख रुपये तक की वार्षिक आय कर मुक्‍त। इससे तीन करोड़ लोगों को फायदा होगा।
  • रक्षा क्षेत्र के लिए तीन लाख करोड़ रुपये का अब तक सबसे अधिक आवंटन।
  • 2018-19 का वित्‍तीय घाटा सकल घरेलू उत्‍पाद का तीन दशमलव चार प्रतिशत।
  • प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने कहा – बजट नए भारत को ऊर्जा प्रदान करेगा।
  • व्‍यापार और उद्योग जगत‍ ने बजट को विकासोन्‍मुखी बताया।
  • महिला क्रिकेट में भारत ने न्‍यूजीलैंड से तीन एकदिवसीय मैचों की श्रृंखला दो-एक से जीती। अंतिम मैच में न्‍यूजीलैंड ने भारत को आठ विकेट से हराया।

समाचार विस्तार से :

वित्‍तमंत्री पियूष गोयल ने कहा है कि सरकार 2022 तक नये भारत के निर्माण का सपना साकार करने की दिशा में बढ़ रही है। लोकसभा में वर्ष 2019-20 के लिए अंतरिम बजट पेश करते हुए वित्‍तमंत्री ने आज कहा कि इस वर्ष वित्‍तीय घाटा सकल घरेलू उत्‍पाद – जी डी पी का तीन दशमलव चार प्रतिशत रहेगा और चालू खाता घाटा जी डी पी का दो दशमलव पांच प्रतिशत रहने की संभावना है।

वित्तमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी के नेतृत्व वाली एनडीए सरकार ने दहाई के आंकड़े वाली मुद्रा स्फीति को नियंत्रित किया है और सरकार ने उच्च मुद्रा स्फीति की कमर तोड़ दी है।

वित्तमंत्री ने कहा कि छोटे और सीमांत किसानों को समर्थन देने तथा उनकी आय बढ़ाने के उद्देश्‍य से प्रधानमंत्री किसान सम्‍मान निधि योजना शुरू की गई है। वित्‍तमंत्री ने कहा कि दो हेक्‍टेयर से कम भूमि वाले किसानों को प्रत्‍यक्ष अंतरण के माध्यम से छह हजार रूपये प्रतिवर्ष दिये जायेंगे।

छोटे और सीमान्‍त जो किसान हैं, उनकी आय में और तेज गति से बढ़े और एक समर्थन देने के हेतु प्रधानमंत्री, किसान सम्‍मान निधि – पी एम किसान नाम की एक एतिहासिक योजना सरकार ने मंजूरी की।

बजट में आयकर की वर्तमान दरों में कोई बदलाव नहीं किया गया है। व्‍यक्तिगत करदाताओं के लिए आयकर छूट की सीमा पांच लाख रूपये कर दी गई है।

भविष्‍य निधि विशेष बचत और बीमा में निवेश करने पर ये सीमा साढ़े छह लाख रूपये तक हो जाएगी।

वेतनभोगी कर्मचारियों के लिए मानक कटौती यानी स्‍टैंडर्ड डिडेक्‍शन 40 हजार से बढ़ाकर 50 हजार रूपये किया गया है।

श्री गोयल ने कहा कि सरकार को अगले पांच वर्षों में एक लाख डिजिटल गांव बना लिये जाने की आशा है। वित्तमंत्री ने कहा कि जन धन योजना, आधार, मोबाइल और प्रत्‍यक्ष अंतरण लाभ से बहुत बड़ा बदलाव आया है। उन्‍होंने कहा कि आधार से गरीबों के लिए सरकार की योजनाओं के फायदे सीधे उनके बैंक खातों में डालने को सुनिश्चित किया गया है।

वित्‍तमंत्री ने कहा कि आयुष्‍मान भारत योजना विश्‍व का स्‍वास्‍थ्‍य देखभाल संबंधी सबसे बड़ा कार्यक्रम है और इसके अंतर्गत अब तक दस लाख मरीजों का इलाज हो चुका है।

गरीबों के लिए सस्‍ती स्‍वास्‍थ्‍य सेवा उपलब्‍ध कराने के सरकार के उपायों की जानकारी देते हुए श्री गोयल ने कहा कि देश में अब तक 21 अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्‍थान- एम्‍स स्‍थापित किये जा चुके हैं। उन्‍होंने बताया कि 22वां एम्‍स हरियाणा में खोला जायेगा।

वित्‍तमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री श्रम योगी मानधन योजना के रूप में एक नई योजना के अंतर्गत साठ वर्ष की आयु के बाद असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों को तीन हजार रूपये मासिक की पेंशन प्रदान की जायेगी। इस योजना से असंगठित क्षेत्र के दस करोड़ श्रमिकों को फायदा होगा।

रक्षा बजट पहली बार तीन लाख करोड़ रूपये से अधिक करने का प्रस्‍ताव किया गया है। वित्‍तमंत्री ने घोषणा की कि देश की सीमाओं को सुरक्षित रखने और उच्‍चकोटि की तैयारी बनाए रखने के लिए यदि आवश्‍यक हुआ तो रक्षा बजट में और बढ़ोतरी की जाएगी।

इस वर्ष, पहली बार हमारा डिफेन्‍स बजट तीन लाख करोड़ से बढ़कर 2019-20 में प्रावधान किया गया है। फॉर सैक्‍योरिंग अवर बॉर्डर्स।


वित्‍तमंत्री ने पांच वर्ष से अधिक नौकरी करने वाले कर्मचारियों के लिए कर मुक्‍त ग्रेच्‍युटी को बढ़ाकर तीस लाख रूपये करने की घोषणा की है।


आज पेश किए गए बजट में खिलाड़ियों के प्रोत्साहन और पुरस्कार राशि और भारतीय खेल प्राधिकरण के बजट में उल्लेखनीय वृद्धि हुई है। खेलों इंडिया के लिए भी बजट बढ़ाया गया।

केंद्र सरकार ने आम चुनाव से पहले पेश अपने आखिरी बजट में खेल और युवा कार्य मंत्रालय के लिये बजटीय आवंटन में पिछले वित्‍त वर्ष की तुलना में करीब 214 करोड़ रूपये की बढोतरी की गई है।


संसद में बजट पेश करने के बाद मीडिया को संबोधित करते हुए वित्‍त मंत्री ने कहा कि बजट का उद्देश्‍य समाज के सभी वर्ग का सर्वांगीण विकास सुनिश्चित करना है। उन्‍होंने कहा कि यह बजट गरीब और मध्‍यम वर्ग के हित में है। वित्‍त मंत्री ने कहा कि इससे पहले केन्‍द्र द्वारा किसानों के लिए कभी भी इतने सारे उपायों की घोषणा नहीं की गई थी।


एक विशेष साक्षात्‍कार में वित्‍त मंत्री ने कहा कि बजट में समाज के सभी वर्गों के विकास को ध्‍यान में रखा गया है। उन्‍होंने कहा कि सरकार मध्‍य वर्ग का सम्‍मान करती है और यह सुनिश्चित किया गया है कि उनका पारिवारिक बजट नियंत्रण में रहे।

रेलवे की चर्चा करते हुए श्री गोयल ने कहा कि इस वर्ष माल गलियारे में पांच करोड़ टन से अधिक माल का अतिरिक्‍त लदान किया गया है जो कि रेलवे के लिए एक बहुत बड़ी उपलब्धि है।


प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा है कि इस बजट में सभी क्षेत्रों और समाज के सभी वर्गों का ध्‍यान रखा गया है और यह राष्‍ट्र को मजबूत बनाने की दिशा में एक महत्‍वपूर्ण कदम है।

बजट के बाद अपने संबोधन में प्रधानमंत्री ने कहा कि यह एक ऐतिहासिक बजट है। उन्‍होंने कहा कि यह अंतरिम बजट पूर्ण बजट का ट्रेलर मात्र है जो आगामी चुनाव के बाद भारत को विकास के मार्ग पर ले जाएगा।

यह बजट जन सामान्‍य के सशक्तिकरण से, देश को सटीक योजनाओं के माध्‍यम से शक्तशिाली राष्‍ट्र बनाने की दिशा में एक अहम कदम है। इस बजट में मिडिल क्‍लास से लेकर के श्रमिकों तक, किसान उन्‍नति से लेकर कारोबारियों की प्रगति तक न्‍यू इंडिया के निर्माण तक सबका नाम इस बजट में रहा है।


भारतीय जनता पार्टी अध्‍यक्ष अमित शाह ने कहा है कि इस बजट से यह सिद्ध होता है कि नरेन्‍द्र मोदी सरकार देश के गरीबों, किसानों और युवाओं की आकांक्षाओं को पूरा करने के लिये प्रतिबद्ध है। उन्‍होंने असंगठित क्षेत्र के मजदूरों और मध्‍यम वर्ग के लिए कर में छूट जैसी घोषणाओं की भी प्रशंसा की।

बजट, विकास को बढ़ावा देने वाला बजट है और समाज के हर वर्ग को किसी ना किसी प्रकार से राहत देने वाला बजट है। देश के बहुत बड़े वर्ग को किसान, मजदूर, मध्‍यम वर्ग सभी वर्ग मैं मानता हूं इस बजट से प्रधानमंत्री जी से जो अपेक्षा थी वो अपेक्षाओं को पूरा करने वाला बजट रहा है।


केंद्रीय मंत्री अरूण जेटली ने कहा है कि करदाता वर्ग को बजट में भारी राहत दी गई है। अपने फेसबुक पेज पर श्री जेटली ने लिखा है कि कर-छूट की सीमा पहले दो लाख से बढ़ाकर ढाई लाख रूपये की गई थी। अब पांच लाख रूपये तक की वार्षिक आय वालों को आयकर से मुक्‍त कर दिया गया है।

उन्‍होंने कहा कि बजट नि:संदेह विकास समर्थक, राजकोष की दृष्टि से विवेकपूर्ण, किसान और गरीब समर्थक तथा मध्‍य वर्ग की क्रय शक्ति को मजबूत बनाने वाला है।


केंद्रीय उपभोक्‍ता मामलों के मंत्री राम विलास पासवान ने कहा है कि बजट से अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजातीय समुदाय को बहुत लाभ पहुंचेगा।

पत्रकारों से बातचीत में उन्‍होंने कहा कि अनुसूचित जातियों और जनजातियों के लिए आबंटन राशि में भारी वृद्धि की गई है।

श्री पासवान ने कहा कि यह सबका साथ सबका विकास वाला बजट है जिसमें सभी क्षेत्रों विशेष रूप से सामाजिक क्षेत्र की बेहतरी पर ध्‍यान दिया गया है।


सूचना और प्रसारण मंत्री कर्नल राज्‍यवर्द्धन राठौड़ ने कहा कि यह बजट देश के विकास के लिए है और इससे ढांचागत विकास को बल मिलेगा।

केन्‍द्रीय मंत्री सुरेश प्रभु ने बजट को व्‍यापक और पूर्णता वाला बताया।


विपक्ष ने केन्‍द्रीय बजट को भारतीय जनता पार्टी का चुनावी बजट बताया है। संसद से बाहर संवाददाताओं से बातचीत में कांग्रेस नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा कि इससे गरीबों को कोई लाभ नहीं मिलने वाला है।

पूरे एक साल का बजट चुनाव के मद्देनज़र रखते हुए पूरा बजट उन्‍होंने देश के सामने रखा है। तो ये वायदे कौन पूरे करेगा, आने वाली गवर्मेन्‍ट पे ये पड़ेगा। यह चुनावी वायदे हैं, यह जुमले हैं, जैसा पहले भी वो जुमले बोलते थे, वो ही ढंग से आज भी जुमले बोल रहे हैं।

एनसीपी के नेता मजीद मेनन ने कहा कि आगामी लोकसभा चुनाव को ध्‍यान में रखते हुए बजट पेश किया गया है।


बजट पर चर्चा करने के लिए आज शाम नयी दिल्‍ली में विपक्षी पार्टियों के नेताओं की बैठक हुई। इसमें अन्‍य लोगों के अलावा कांग्रेस अध्‍यक्ष राहुल गांधी, एन सी पी नेता शरद पवार, आन्‍ध्र प्रदेश के मुख्‍यमंत्री तथा टी डी पी नेता चन्‍द्र बाबू नायडू, टी एम सी के डेरेक ओ ब्रायन, मार्क्‍सवादी कम्‍युनिस्‍ट पार्टी के मोहम्‍मद सलीम, सी पी आई के डी राजा, एस पी के राम गोपाल यादव, बी एस पी के सतीश चन्‍द्र‍ मिश्रा और आर जे डी के मनोज झा बैठक में शामिल हुए।

बजट में प्रधानमंत्री किसान सम्‍मान निधि के अंतर्गत किसानों को प्रतिवर्ष छह हजार रूपये देने की घोषणा पर श्री राहुल गांधी ने मीडिया से बातचीत में कहा कि यह राशि‍ प्रतिदिन 17 रूपये होती है जिसे उन्‍होंने किसानों का अपमान बताया।

पन्‍द्रह लोगों का कर्जा माफ कर सकते हो और किसान को आप 17 रूपये देते हो। दिन के 17 रूपये। अपमान नहीं है तो क्‍या है। तो बिलकुल चुनाव किसान के मुद्दे पर, रोजगार के मुद्दे पर और इंस्‍टीट्यूशनल जो आक्रमण हो रहा है, इन तीन मुद्दों पर चुनाव होगा।


व्‍यापार और उद्योग जगत ने इस बजट को विकासोन्‍मुखी बताया है।


बजट पर समाज के विभिन्न वर्गों के लोगों ने बजट की प्रशंसा करते हुए कहा-

मैं अजय कुमार छोटा किसान हूं और जो सरकार ने अभी जो ‍अंतरिम बजट में पेश किया है साठ हजार सलाना कृषि ऋण देने की घोषणा की है उसमें इन सब किसानों को बहुत हद तक सहायता मिलेगी।

मेरा नाम राजेन्‍द्र किशोर है- जो हमारी गवर्मेंट है उन्‍होंने पर मजदूर को तीन हजार रूपये पर मंथ साठ साल के बाद में जो देने की घोषणा की है। मजदूरों के हित के लिए बहुत अच्‍छा डिसि‍जन लिया है।

सुरेश पाल – सरकारी कर्मचारी सरकार ने पांच लाख करोड़ रूपये का इनकम टैक्‍स में राहत करके बहुत अच्‍छा किया है।


आकाशवाणी से आज रात साढे नौ बजे से बजट के बारे में रेडियो ब्रिज कार्यक्रम का सीधा प्रसारण किया जाएगा। इसमें दिल्‍ली स्‍टूडियो में मौजूद विशेषज्ञ हमारे मुम्‍बई, चेन्‍नई, गुवाहाटी, अहमदाबाद, लखनऊ और कटक स्‍टूडियो में उपस्थित विशेषज्ञों के साथ बातचीत करेंगे। इसे आकाशवाणी के एफ एम गोल्‍ड, और राजधानी चैनल पर सुना जा सकेगा।


न्‍यूजीलैंड ने तीसरे और आखिरी वनडे क्रि‍केट मैच में भारतीय महिला टीम को आठ विकेट से हरा दिया है। हार के बावजूद भारत ने श्रृंखला दो-एक से अपने नाम की।

तीन मैचों की टी-20 क्रिकेट मैच श्रृंखला छह फरवरी से वेलिंगटन में शुरू होगी ।


बंबई शेयर बाजार का संवेदी सूचकांक आज 213 अंक बढ़कर 36 हजार चार सौ उनहतर पर पहुंच गया। नेशनल स्‍टॉक एक्‍सचेंज का निफ्टी भी 63 अंक की बढ़त के साथ10 हजार 894 पर बंद हुआ।

स्रोत : http://newsonair.com/

Comments

comments

loading...

LEAVE A REPLY