इरा की रसोई से : Apple Jelly

आजकल बाज़ार में सेब की बहार है बढ़िया मीठे सेब भी हैं और कच्चे खट्टे भी बढ़िया हैं। तो कच्चे खट्टे सेब से स्वादिष्ट जैली और जैम तैयार करें और इसे रोटी ब्रेड संग खाएं या ऐसे ही चट कर जाएं।

विधि

जेली बनाने के लिये खट्टे व कच्चे फल बेहतर होते हैं, अमरूद कैथा सेब आदि की जैली बनाई जा सकती है।

जैली बनाने के लिये फल को सबसे पहले मोटे टुकड़ों में काट कर अल्मुनियम के भगोने में पानी में डूब जाये इतना पानी ले कर धीमी आँच पर पका कर गला लें.।

जैली फलों में मौजूद पैक्टीन नाम के तत्व के कारण जमती है इस लिये छिल्का समेत पकाएं।

मोटे कपड़े से छान कर हल्के हाथों से दबा कर रस निकाल लें, ध्यान रहे गूदा रस में ना जाये।

अब एक किलो फल में 700 ग्राम के हिसाब से चीनी रस में मिला कर तेज आँच पर चढ़ा दें।

चीनी घुलने के बाद जेली बिल्कुल भी ना चलाएँ, ज़्यादा चलाने से जैली के कण टूट जाएंगे, जैली जमेगी नहीं।

जेली में चीनी फल की खटास के हिसाब से मिलाते हैं, खट्टे फलों में अधिक वरना कम।

जब बड़े बड़े बुलबुले बनने लगे तब एक किलो फल पर 4 नीबू का रस या 4 ग्राम साइट्रिक एसिड डालें।

अब इसे ठंडा होने दें, लीजिये आपकी स्वादिष्ट सेब की जैली तैयार है।

Comments

comments

loading...

LEAVE A REPLY