और फिर अपनी आँखें बंद कीजिये…

वर्ष 1955 में इज़रायली सेना के 21 वर्ष के लेफ्टिनेंट डेनिएल कानमान (Daniel Kahneman) को सैनिकों की नियुक्ति के लिए एक सिस्टम विकसित करने को कहा गया। इज़राइल एक नया देश था और वहां के युवाओं को राष्ट्र निर्माण की जिम्मेवारी सौंपी गयी थी। कानमान मनोविज्ञान में ग्रेजुएट थे और उस समय आर्मी में इस … Continue reading और फिर अपनी आँखें बंद कीजिये…