‘आतंकियों से निपटने के लिए कड़े कदम उठाने में नहीं हिचकेगी सेना’

भारतीय सेना के प्रमुख जनरल बिपिन रावत ने सेना दिवस (15 जनवरी) के अवसर पर कहा कि पाकिस्तान के साथ लगने वाली सीमा पर आतंकवादी गतिविधियों से निपटने के लिए भारतीय सेना कड़े कदम उठाने में नहीं हिचकेगी।

जनरल रावत ने पाकिस्तान की तरफ इशारा करते हुए कहा कि भारत की पश्चिमी सीमा से लगने वाला देश आतंकवादी समूहों की मदद कर रहा है और भारतीय सेना उससे प्रभावी ढंग से निपट रही है।

सेना दिवस के मौके पर सैनिकों को संबोधित करते हुए रावत ने कहा कि हम यह सुनिश्चित कर रहे हैं कि जम्मू-कश्मीर में सीमा पर मनोबल ऊंचा बना रहे।

जनरल रावत ने कहा कि भारतीय सेना पश्चिम सीमा पर आतंकवादी कृत्यों से निपटने के लिए कोई कड़ा कदम उठाने में हिचकिचाएगी नहीं।

उन्होंने कहा कि पूर्वी सेक्टर में सीमा पर शांति एवं सौहार्द बनाए रखने के लिए नये दिशा-निर्देशों का पालन किया जा रहा है।

चीन से लगी सीमा का संदर्भ देते हुए जनरल रावत ने कहा कि हम पूर्वी सीमा पर स्थिति की समीक्षा करते रखेंगे।

उन्होंने कहा कि हमारे सैनिक पूर्वी क्षेत्र में सीमा की निगरानी में कोई समझौता नहीं होने देंगे। जनरल रावत ने कहा कि सेना का व्यापक स्तर पर आधुनिकीकरण किया जा रहा है।

Comments

comments

loading...

LEAVE A REPLY