राष्ट्रीय चरित्र का निर्माण ही है राष्ट्र निर्माण

1974 में जापान के एक बुकस्टोर के मालिक को फौज उसके घर से उठाकर फिलीपींस के जंगलों में गई। वह बुकस्टोर का मालिक एक रिटायर्ड फौज़ी था और अपनी यूनिट का कमांडिंग ऑफिसर रहा था। उस कमांडिंग ऑफिसर को जंगल में घूम रहे एक जापानी सैनिक को आदेश देना था कि वह घर वापस लौट … Continue reading राष्ट्रीय चरित्र का निर्माण ही है राष्ट्र निर्माण