बिना कुछ किए, बिना कुछ दिये, बवाल करते हम

उद्वेलित और उतावले हो कर नरेंद्र मोदी को कोसने वाले नेकनीयत हिंदुओं से इतनी ही प्रार्थना है कि देखिये कहीं काँग्रेस आप का इस्तेमाल तो नहीं कर रही? ‘चार साल बहुत होते हैं’, ऐसा कहने वालों से इतना ही कहूँगा कि किसी खाये पिये सभी तरह से कमाए बड़े सरकारी हाकिम से पूछिये कि जहां … Continue reading बिना कुछ किए, बिना कुछ दिये, बवाल करते हम