‘चौकीदार चोर है’ चिल्लाने में जीभ को कष्ट नहीं होता, सिर्फ मारना पड़ता है ज़मीर

अब आपका आज का सवाल कि अब ये रिजिल मॅक्कुटी कौन है?

तो साहब, ऐसा है कि ये जो रिजिल है, ये महान कांग्रेस के वो महान नेता है जिन्होंने केंद्र सरकार के ‘गौहत्या के लिए गायों की खरीदफरोख्त रोकने वाले नोटिफिकेशन’ के विरोध में 2017 में केरल की सड़क पर एक बछड़े का गला काटा था।

वो आज याद क्यों आए? तो ऐसा है कि जब उन्होंने वो महान कृत्य किया, तो 50 वर्षीय युवा अध्यक्ष ने ‘कड़े शब्दों में निंदा करते’ हुए इसे विवेकहीन, क्रूर एवं अमानवीय और पूर्णतया अस्वीकार करार दिया था।

इसके लिए युवा अध्यक्ष वाली पार्टी ने युवा केरल कांग्रेस नेता मॅक्कुटी को पार्टी से ‘suspend’ कर दिया। अब कमाल की बात है कि कांग्रेस से suspended रिजिल मॅक्कुटी केरल की सारी कांग्रेस समितियों की मीटिंग्स में बराबर हिस्सा ले रहे हैं, कोई नौजवान भटक कर कांग्रेस में शामिल हो जाता है तो उसका स्वागत भी कर रहे हैं।

बाकी आप ‘Rijil Makkutty’ नाम से फेसबुक पर सर्च मारेंगे तो आपको बड़े आराम से पार्टी से suspended होकर भी सक्रिय होना दिख जाएगा। यहां तक कि सालाना ‘पालतू पीडियों’ का जलसा होता है जहां ये सारे परिवार के पांव छूते हैं, वहां भी मॅक्कुटी सस्पेंड होकर भी शामिल थे।

बाकी, 3,600 करोड़ के Augusta Westland हेलिकॉप्टर घोटाले में महीनों तक दुबई से बातचीत के बाद जब middleman ‘क्रिस्चियन मिशेल’ को दुबई से रात डेढ़ बजे भारत लाया गया, अगले दिन सुबह 11 बजे तक कांग्रेस के यूथ विंग – इंडियन यूथ कांग्रेस (IYC) के लीगल सेल के अध्यक्ष एल्जो के. जोसेफ (Aljo K Joseph) उनके वकील भी बन चुके थे।

वकील होने के नाते मिशेल की पावर ऑफ अटॉर्नी भी बन चुकी थी और कोर्ट में 2 बजे तक ज़मानत की अर्जी भी दाखिल हो चुकी थी। 4 दिसंबर की अल सुबह भारत आये एक भगोड़े की अर्जी कोर्ट में 4 दिसंबर की दोपहर तक लग भी जाती है। होहल्ला मचने पर 5 दिसंबर को एल्जो के. जोसेफ को पार्टी ‘सस्पेंड’ भी कर देती है।

अगली सुनवाई से पहले CBI कोर्ट को बताती है कि मिशेल ने एक पेपर जोसेफ को दिया था जिसमें वो पूछता है कि ‘Mrs. Gandhi’ से जुड़े सवालों का कैसे जवाब दूँ ?’

अगले सालाना कांग्रेस अधिवेशन में suspended मॅक्कुटी के साथ अगर suspended जोसेफ भी दिख जाए, और इन्हें परिवार की इतनी ज़बरदस्त सेवा के लिए चरणों में कोई विशेष स्थान भी मिल जाये तो कोई आश्चर्य नहीं।

इसी के उलट आप अगर परिवार के खिलाफ कुछ बोल गए तो सीधा बर्खास्त ही होना है। और अगर बढ़ता कद कहीं परिवार के चरणों में चुभने लगे तो दुनिया से बर्खास्तगी भी असंभव नहीं। 3-4 हेलिकॉप्टर क्रैश इस बात के उदाहरण है।

बाकी, ‘चौकीदार चोर है’ चिल्लाने में जीभ को विशेष तकलीफ नहीं आती। सिर्फ ‘ज़मीर’ भर को मारना पड़ता है।

Comments

comments

loading...

LEAVE A REPLY