दिनभर के प्रमुख समाचार एक साथ

मुख्य समाचार :

  • प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने अंडमान-निकोबार के तीन द्वीपों – रॉस, नील और हैवलॉक के नये नामों की घोषणा की। द्वीपों में कई विकास परियोजनाओं का किया उद्घाटन और अनेक की आधारशिला रखी।
  • प्रधानमंत्री ने कहा – एनडीए सरकार युवाओं के लिए रोजगार और शिक्षा, बुजुर्गों के लिए स्वास्थ्य तथा किसानों के लिए सिंचाई सुविधाएं सुनिश्चित करने के लिए प्रयत्नशील।
  • मन की बात कार्यक्रम में अपने विचार साझा करते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा – वर्ष 2018 देश की विकास प्रक्रिया के लिहाज से अहम रहा।
  • मुस्लिम महिला वैवाहिक अधिकार संरक्षण विधेयक कल राज्यसभा में पेश किया जाएगा। भाजपा और कांग्रेस ने अपने-अपने सदस्यों को सदन में उपस्थित रहने के लिए व्हिप जारी किया।
  • जाने-माने फिल्म निर्माता मृणाल सेन का निधन। राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री ने निधन पर शोक व्यक्त किया।
  • बंगलादेश में नई संसद के लिए चुनाव सम्पन्न, मतदान के दौरान कम से कम 17 लोगों के मारे जाने की खबर।
  • मेलबर्न टेस्ट मैच में भारत ने ऑस्ट्रेलिया को 137 रन से हराकर चार मैचों की श्रृंखला में दो-एक की बढ़त बनाई।

समाचार विस्तार से :

प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने आज पोर्ट ब्‍लेयर में नेताजी सुभाष चन्‍द्र बोस द्वारा तिरंगा फहराये जाने के 75 वर्ष पूरे होने के अवसर पर अंडमान निकोबार द्वीप समूह के तीन द्वीपों के नये नामों की घोषणा की। पोर्ट ब्‍लेयर के ऐतिहासिक नेताजी सुभाष चन्‍द्र बोस स्‍टेडियम में आज शाम एक समारोह में श्री मोदी ने यह घोषणा की।

आजादी के नायकों की स्‍मृति अमिट रहें। इसके लिए एक महत्‍वपूर्ण फैसला सरकार ने लिया है। अब से रॉस द्वीप को नेताजी सुभाष चन्‍द्र बोस द्वीप से जाना जाएगा। नील द्वीप को शहीद द्वीप से जाना जाएगा। हैवलॉक द्वीप को स्‍वराज द्वीप के नाम से जाना जाएगा।

प्रधानमंत्री ने इस अवसर पर एक स्‍मारक डाक टिकट, प्रथम दिवस आवरण और 75 रुपये का सिक्‍का भी जारी किया। उन्‍होंने अंडमान-निकोबार द्वीप समूह में नेताजी के नाम पर डीम्‍ड यूनिवर्सिटी की स्‍थापना की घोषणा भी की।

नेताजी सुभाष चन्‍द्र बोस और सरदार पटेल के नाम पर हमने राष्‍ट्रीय पुरस्‍कारों की भी घोषणा की है। आज मैं यहां पर नेताजी सुभाष चन्‍द्र बोस डीम्‍ड यूनिवर्सिटी की भी घोषणा कर रहा हूं। इन तमाम राष्‍ट्र पुरूषों की प्रेरणा से जिस नये भारत के निर्माण का बेड़ा हम सभी ने उठाया है, उसके स्‍वभाव में मूल तत्‍व विकास है।

प्रधानमंत्री ने पोर्ट ब्‍लेयर में कई परियोजनाओं की आधारशिला रखी और उद्घाटन किया।

प्रधानमंत्री ने ऊर्जा, पर्यटन, कनेक्टिीविटी और रोजगार के क्षेत्र में परियोजनाओं की घोषणा की। इनमें दक्षिण अंडमान में सात मेगावॉट सौर ऊर्जा संयंत्र, सौर गांव की स्‍थापना, स्‍टेट वाइड नेटवर्क, चेन्‍नई और पोर्ट ब्‍लेयर के बीच 1200 करोड़ रुपये की लागत से समुद्र के भीतर केबल परियोजना, हॉपटाऊन में 50 मेगावॉट एलएनजी ऊर्जा संयंत्र, घरचरमा के प्राथमिक स्‍वास्‍थ्‍य केन्‍द्र को जिला अस्‍पताल में तबदील करने की घोषणा की।

उन्‍होंने चेथम बम्‍बूफ्लेट के बीच पूल निर्माण की मंजूरी की भी घोषणा की। प्रधानमंत्री ने कहा कि अंडमान निकोबार द्वीप समूह भले ही मुख्‍य भूमि से काफी दूर है, लेकिन केन्‍द्र सरकार के दिल के करीब है। आकाशवाणी समाचार के लिए मूसीन के साथ पोर्ट ब्‍लेयर से मैं राकेश चन्‍द्र लाल।

कार निकोबार से पोर्ट ब्‍लेयर पहुंचने के बाद प्रधानमंत्री सेल्‍युलर जेल देखने गए, जहां उन्‍होंने शहीद स्‍मारक पर श्रद्धांजलि अर्पित की। श्री मोदी ने पोर्ट ब्‍लेयर के साउथ प्‍वाइंट पर 150 फुट ऊंचा राष्‍ट्र ध्‍वज भी राष्‍ट्र को समर्पित किया। नेताजी सुभाष चन्‍द्र बोस ने 30 दिसम्‍बर 1943 को पोर्ट ब्‍लेयर में पहली बार राष्‍ट्रीय ध्‍वज फहराया था।

प्रधानमंत्री ने नेताजी सुभाष चन्‍द्र की प्रतिमा पर पुष्‍पांजलि भी अर्पित की। उन्‍होंने वहां कई परियोजनाओं की आधारशिला रखी और अनेक का उद्घाटन किया।

इससे पहले कार निकोबार में बिशप जॉन रिचर्डसन स्‍टेडियम में एक जनसभा को सम्‍बोधित करते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि सरकार युवाओं को रोजगार, बच्‍चों को शिक्षा बुजुर्गों को चिकित्‍सा सुविधा और किसानों को खेती की सुविधाएं उपलब्‍ध कराने के कार्य कर रही है। उन्‍होंने कहा कि केन्‍द्र सरकार कार निकोबार के विकास के लिए प्रतिबद्ध है।

कार निकोबार की यात्रा के दौरान प्रधानमंत्री ने सुनामी स्‍मारक पर फूल माला चढ़ाई और सुनामी स्‍मारक संग्रहालय भी देखा। उन्‍होंने आई.टी.आई. अरोंग का उद्घाटन किया और जनजातीय परिषद् के सदस्‍यों से बातचीत की।


प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने कहा है कि इस वर्ष भारत जल थल और नभ तीनों क्षेत्रों में परमाणु शक्ति सम्‍पन्‍न हो गया है। आकाशवाणी से मन की बात कार्यक्रम में श्री मोदी ने रक्षा क्षेत्र में भारत की सफलताओं का उल्‍लेख करते हुए कहा कि देश के रक्षा तंत्र और सुदृढ़ हुआ है।

देश के सैल्‍फ डिफेंस को नई मजबूती मिली। इसी वर्ष हमारे देश ने सफलतापूर्वक न्‍यूक्‍लियर ट्राइड को पूरा किया है, यानी अब हम जल, थल और नभ-तीनों में परमाणुशक्ति संपन्न हो गए हैं।

प्रधानमंत्री ने कहा कि भारत ने गरीबी उन्‍मूलन के क्षेत्र में उल्‍लेखनीय प्रगति की है जिसे विश्‍व की प्रमुख संस्‍थाओं ने स्‍वीकार भी किया है। प्रधानमंत्री ने कहा कि वर्ष 2018 देश की विकास प्रक्रिया के लिहाज से अहम रहा।

2018 में, विश्व की सबसे बड़ी स्वास्थ्य बीमा योजना ‘आयुष्मान भारत’ की शुरुआत हुई। देश के हर गाँव तक बिजली पहुँच गई। विश्व की गणमान्य संस्थाओं ने माना है कि भारत रिकॉर्ड गति के साथ, देश को ग़रीबी से मुक्ति दिला रहा है।

भारत की महान प्राकृतिक परंपरा का उल्‍लेख करते हुए श्री मोदी ने कहा कि प्रयागराज में अगले वर्ष 15 जनवरी से विश्‍व प्रसिद्ध कुंभ मेले का आयोजन होने जा रहा है, जिसमें डेढ़ सौ से अधिक देशों के लोगों के आने की संभावना है।

कुंभ की दिव्यता से भारत की भव्यता पूरी दुनिया में अपना रंग बिखेरेगी। कुंभ मेला सेल्‍फ डिस्‍कवरी का भी एक बड़ा माध्यम है, जहाँ आने वाले हर व्यक्ति को अलग-अलग अनुभूति होती है। संसारिक चीज़ों को आध्यात्मिक नज़रिए से देखते-समझते हैं। खासकर युवाओं के लिए यह एक बहुत बड़ा लर्निंग एक्‍सपिरियंस हो सकता है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस समारोह के आयोजन के बारे में लोगों में बहुत उत्‍सुकता है।

श्री मोदी ने कहा कि महात्‍मा गांधी की 150वीं जयन्‍ती के सिलसिले में देशभर में अनेक कार्यक्रम आयोजित किए जा रहे हैं।

देशवासियों को लोहड़ी, पोंगल, मकर संक्रांति, उत्‍तरायण, माघ बिहू और माघी त्‍योहारों की शुभकामनाएं देते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि इन त्‍योहारों के नाम भले ही अलग-अलग हैं लेकिन सबको मनाने की भावना एक ही है और ये एक भारत श्रेष्‍ठ भारत की भावना को दर्शाते हैं।


मुस्लिम महिला वैवाहिक अधिकार संरक्षण विधेयक कल राज्‍यसभा में प्रस्‍तुत किया जाएगा। लोकसभा इसे पिछले वृहस्‍पतिवार को विपक्ष के वॉक आउट के बीच पारित कर चुकी है। इस विधेयक में एक साथ तीन बार तलाक बोलकर तुरंत तलाक देने को गैर कानूनी करार देने और इसके लिए तीन साल की कैद का प्रावधान किया गया है।

विधि और न्‍याय मंत्री रविशंकर प्रसाद कल इस विधेयक को उच्‍च सदन में पेश करेंगे।

इस बीच भाजपा और कांग्रेस दोनों ने ही ह्विप जारी कर राज्‍यसभा में अपने-अपने सांसदों से कल सदन में उपस्थित रहने का निर्देश दिया है। मुख्‍य विपक्षी दल कांग्रेस ने कहा है कि वह इस विधेयक को वर्तमान रूप में पारित नहीं होने देगी।


भारतीय जनता पार्टी ने कांग्रेस पर आरोप लगाया है कि वह वीवीआईपी हेलीकॉप्‍टर घोटाला मामले में कथित बिचौलिए क्रिश्चियन मिशेल के हाल के रहस्‍योदघाटन के बाद इस मामले का राजनीतिकरण कर रही है।

आज नई दिल्‍ली में संवाददाताओं को जानकारी देते हुए भाजपा प्रवक्‍ता सुंधाशु त्रिवेदी ने आरोप लगाया कि पिछले महीने मिशेल के प्रत्‍यर्पण के बाद से कांग्रेस इस मामले की जांच को लेकर घबराई हुई है।


पंजाब में 13 हजार 276 गांवों में सरपंच और पंच के चुनाव के लिए आज डाले गए। कुछ घटनाओं को छोड़कर मतदान शांतिपूर्वक संपन्‍न हुआ। इसके बाद वोटों की गिनती की जा रही है। चुनाव अधिकारी ने बताया कि लगभग आठ हजार उम्‍मीदवार चुनाव मैदान में हैं। लगभग चार हजार 363 सरपंच और 46 हजार 754 पंच निर्विरोध चुने जा चुके हैं।


महान फिल्मकार मृणाल सेन का आज सुबह कोलकाता में 95 वर्ष की उम्र में निधन हो गया। उन्हें पद्म भूषण और दादा साहेब फाल्के जैसे पुरस्कारों से सम्मानित किया गया था।

मृणाल सेन के देहांत से भारतीय सिनेमा ने 50 और 60 के दशक की हिन्‍दुस्‍तान की पेरेलल सिनेमा के स्‍वर्ण युग की कहानी लिखने वाले आखिरी दिग्‍गज को खो दिया है। सत्‍यजीत रे और ऋत्विक घटक जैसे प्रसिद्ध फिल्‍मकारों के साथ सेन ने इसी समय भारतीय सिनेमा को अन्‍तर्राष्‍ट्रीय ख्‍याति प्राप्‍त कराने में अहम भूमिका निभाई थी।

जब भारतीय सिनेमा अपने चमक-दमक के दम पर दर्शकों को अपनी ओर खींच रही थी, सेन ने सबसे अलग-थलग समाज और उस दौर के मध्‍यम वर्ग परिवार से जुड़े विषयों पर फिल्‍म बनाकर लोगों का ध्‍यान विभिन्‍न गंभीर मुद्दों की ओर आकर्षित करने का प्रयास किया।

उनकी कई फिल्‍में राजनीतिक विषयों पर है, जिसकी वजह से उन्‍हें मासेज आर्टिस्‍ट भी कहा जाता है। भुवनशोम से उनको राष्‍ट्रीय और अन्‍तर्राष्‍ट्रीय स्‍तर पर प्रसिद्धि भी प्राप्‍त हुई।

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी तथा सूचना और प्रसारण मंत्री कर्नल राज्यवर्धन राठौड़ ने उनके निधन पर दुःख व्यक्त किया है।


बंगलादेश में नई संसद के लिए आज कड़ी सुरक्षा में हुए मतदान के दौरान चुनावी हिंसा की घटनाओं में कम से कम 17 लोग मारे गये और अनेक घायल हुए हैं। सूत्रों के अनुसार मृतकों में से पांच सत्‍तारूढ़ अवामी लीग के कार्यकर्ता हैं जबकि अन्‍य में से ज्‍यादातर मुख्‍य विपक्षी दल बंगलादेश नेशनलिस्‍ट पार्टी या उसके सहयोगी दलों के कार्यकर्ता हैं।

बंगलादेश में आम चुनाव में पहली बार छोटे पैमाने पर इलेक्‍ट्रॉनिक वोटिंग मशीनों-ईवीएम का इस्‍तेमाल किया गया। संसद की 299 सीटों में से 6 सीटों के लिए ईवीएम के जरिये वोट डाले गये। इस चुनाव में मौजूदा प्रधानमंत्री शेख हसीना चौथी बार चुनाव लड़ रही हैं।


अफगानिस्‍तान में राष्‍ट्रपति पद का चुनाव अपने निर्धारित कार्यक्रम से तीन महीने के लिए बढा दिया गया है। अब यह चुनाव अगले वर्ष 20 जुलाई में होगा।


केन्‍द्रीय कृषि मंत्री राधामोहन सिंह ने कहा है कि किसानों की आमदनी बढ़ाने के लिए कृषि से संबंधित क्षेत्रों पर विशेष ध्‍यान दिया जा रहा है। आकाशवाणी के साथ विशेष भेंट में उन्‍होंने कहा कि कृषि उत्‍पादों के निर्यात पर जोर दिया जा रहा है।

अनाज का तो रिकॉर्ड उत्‍पादन हुआ ही है, लेकिन जो हॉर्टिकल्‍चर का उत्‍पादन हुआ, वो रिकॉर्ड उत्‍पादन हुआ। प्रोसेस्‍ड आइटम था फल-सब्जियों का ये दोगुना निर्यात हुआ है, तो उत्‍पादन बढ़ा और इसके कारण हम जो आयातक देश थे। अब दुनिया के नक्‍शे पर हम एक निर्यातक देश में आ चुके है।


मेलबर्न में तीसरे क्रिकेट टेस्‍ट मैच में भारत ने मेजबान ऑस्‍ट्रेलिया को 137 रन से हराकर चार मैच की श्रृंखला में दो – एक की अजेय बढ़त बना ली है। भारत के लिए जसप्रीत बुमराह और रवींद्र जड़ेजा ने तीन – तीन विकेट लिए। बुमराह को प्‍लेयर ऑफ द मैच चुना गया। यह भारत की 150वीं टेस्‍ट जीत है।


समूचा उत्‍तर भारत भीषण ठंड की चपेट में है। कई जगहों पर तापमान लगातार कम हो रहा है। दिल्‍ली में न्‍यूनतम तापमान तीन डिग्री सेल्शियस तक पहुंच गया है, जो सामान्‍य से चार डिग्री सेल्शियस कम है। पिछले पांच वर्ष में यहां पहली बार तापमान में इतनी गिरावट आई है।


प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी अगले महीने की तीन तारीख को पंजाब के जालंधर में भारतीय विज्ञान कांग्रेस-2019 का उद्घाटन करेंगे। भावी भारत – विज्ञान और टेक्‍नॉलाजी विषय पर आधारित यह आयोजन विज्ञान कांग्रेस की श्रृंखला की 106वीं कड़ी है।

एक सरकारी विज्ञप्ति में बताया गया है कि प्रधानमंत्री विज्ञान कांग्रेस में भाग लेने आये नाबेल पुरस्‍कार विजेताओं, जाने-माने वैज्ञानिकों, नीति-निर्माताओं, युवा-अनुंसधानकर्ताओं और स्‍कूली बच्‍चों समेत करीब 30 हजार प्रतिनिधियों को संबोधित करेंगे।

स्रोत : http://newsonair.com/

Comments

comments

loading...

LEAVE A REPLY