देशभक्ति यदि ज़हर है तो इसे हवाओं में इतना घोलें कि घुट जाए देशद्रोहियों का दम

अभिनव पाण्डेय 2016 में एक कभी न भूलने वाली घटना हुई थी। उरी में नींद में सोये हमारे निहत्थे 19 जवानों को आतंकवादियों ने मार दिया था पूरा देश गुस्से से उबलने लगा… मोदी जी की छाती नापी जाने लगी… विरोधियों के चेहरे पर जवानों की मौत से, दर्द कम मोदी को घेरने को मिले … Continue reading देशभक्ति यदि ज़हर है तो इसे हवाओं में इतना घोलें कि घुट जाए देशद्रोहियों का दम