पुरुष होने का भाव क्यों भूलते जा रहे हैं हम हिन्दू?

युधिष्ठिर को धर्मराज कहा जाता है। वो सदा सत्य बोलते थे और धर्म के मार्ग पर चलते थे। मगर क्या सत्यवादी धर्मराज महाभारत अकेले जीत सकते थे?… नहीं। क्या कुरुक्षेत्र को जीते बिना वे महाराज बन सकते थे?… नहीं। और जब दुष्ट दुर्योधन और कपटी शकुनि, योगेश्वर श्रीकृष्ण का निवेदन स्वीकार नहीं कर रहे थे, … Continue reading पुरुष होने का भाव क्यों भूलते जा रहे हैं हम हिन्दू?