साफगोई और साहस की मिसाल हैं पुष्पेन्द्र कुमार के ज़मीनी प्रयास

कोई तीन बरस पहले की बात है। पुष्पेंद्र कुमार कुलश्रेष्ठ की एक फेसबुक पोस्ट पर निगाह पड़ी…

देखा कि पुष्पेन्द्र कुमार पाकिस्तान के स्थापना दिवस की बधाई दे रहे थे।

एक भारतीय को 14 अगस्त पर पाकिस्तानियों को बधाई देते देख मेरे तन-बदन में आग लग गई…

मैंने कारण लिखते हुए… तुरंत पुष्पेंद्र जी को अनफ्रेंड करने में देर नहीं की… पुष्पेंद्र जी ने विनम्रतापूर्वक मुझे उत्तर लिखा “As You Wish”…

कुछ दिन बाद मुझे अपनी मूर्खता का तब अहसास हुआ, जब पुष्पेंद्र जी का एक वीडियो मेरे हाथ लगा… जिससे यह पता चला कि पुष्पेंद्र जी पाकिस्तान के एक बड़े चैनल/ अखबार ‘आज न्यूज़’ के भारत के ब्यूरो चीफ़/ इंडिया चीफ थे।

पाकिस्तान में रहते… पाकिस्तानियों को यदि वह पाक दिवस पर बधाई न देते तो क्या करते? मैंने माफी मांगते हुए पुनः पुष्पेंद्र जी को फ्रेंड रिक्वेस्ट भेजी। पुष्पेन्द्र जी ने तुरंत रिक्वेस्ट स्वीकार करते हुए, बड़े दिल का परिचय दिया… दोस्ती आगे बढ़ी।

फिर पता चला कि अवैध धारा 35 A के विरुद्ध सुप्रीम कोर्ट में मुकदमा दायर करने वाली संस्था ‘वी द सिटिज़न’ के संस्थापक सदस्य स्व. संदीप कुलकर्णी के साथ पुष्पेंद्र जी मुख्य भूमिका में थे।

इसी मुकदमे की नयी तारीख 19 जनवरी 2019 लगी है। कश्मीर घाटी में इसी याचिका को लेकर आग लगी हुई है। संदीप कुलकर्णी जी की संदिग्ध मृत्यु के बाद पुष्पेंद्र कुमार जी सुप्रीम कोर्ट में इस केस को लड़ रहे हैं।

मैं श्रद्धान्वत हो गया… व्यक्तिगत मुलाकातें शुरू हुईं… उन्होंने मुझे बड़ी-बड़ी कांफ्रेंस-विचार गोष्ठियों में बुलाया… विचार विमर्श बढ़ा… जनरल जीडी बक्शी, कर्नल आरएसएन सिंह, धर्मगुरु पवन सिन्हा, सुशील पंडित, डॉ सुब्रमण्यम स्वामी जैसे मूर्धन्य राष्ट्रवादियों, विद्वानों का सानिध्य प्राप्त हुआ।

मुझे याद आता है कुछ माह पूर्व जब पुष्पेंद्र जी रात 12 बजे अपने जम्मू कार्यक्रम… (जिसकी यूट्यूब वीडियो को लाखों लोग देख चुके हैं) से वापस लौटे तो उन्होंने रात साढ़े 12 बजे फोन कर 35 A पर इस कार्यक्रम के बारे में पूर्ण जानकारी दी!

एक कालजयी अंग्रेज़ी पुस्तक जिसकी मैंने समीक्षा भी की थी… पुष्पेंद्र जी ने मुझे इस पुस्तक के अनुवाद का आदेश दिया है… कार्य प्रगति पर है।

पुष्पेंद्र जी के दर्जनों वीडियो यूट्यूब पर मिलेंगे… ज्ञान से परिपूर्ण… साफगोई और ज़िंदा साहस की मिसाल हैं ये वीडियो और उनके ज़मीनी प्रयास। उनकी एनर्जी और समर्पण देखते ही बनता है। सम्पूर्ण दुनिया में उनके वीडियो… विभिन्न हस्तियों के साथ इंटरव्यू बेहद दिलचस्पी के साथ देखे जाते हैं।

ईश्वर करे 19 जनवरी 2019 को 35A पर सुनवाई शुरू हो… फैसला देश के पक्ष में आये… पुष्पेंद्र जी के भागीरथ प्रयास, पुरुषार्थ सफल हों। मैंने अपने जीवन मे इतना निर्भय, स्पष्टवादी वक्ता और बुद्धिजीवी नहीं देखा।

Comments

comments

loading...

10 COMMENTS

  1. I am happy that inspite of extensive efforts of the intellectual terrors such people are doing their job.
    God bless you all the members of the team.

  2. SHRI P. KULSHRESTH JI KO SADAE NAMASKAR KARTE HUE MAI YE KAHNA CHAHTA HU KI BAHUT JALDI PURANE JAMANE KA KALA GHUDSAWAR HAJARO KI GINTI ME PAIDA HONE WALE HAI JO DESH KI V JANTA KI ACHHAE KE LIYE NEKI KAR KUEN ME DAL KI KAHAVAT KO AMLIJAMA PAHNAYENGE.

    • The logic of Mr-Kulsrestha is absolutely right on the matter of J&K issue. The dual morality
      of our pol-party and some intellectual person are nursing
      to the issue for there self benefits. …..

  3. Shri Pushpendra Kulshresth Ji Ko mera addab,

    Sir, you are doing a great job, which are very informative and must say an eye opener for every Indian, which explains and may enlighten us with a hope to get rid off the dirty and biased politics based on distorted history.

    Please keep continuing and expose those anti Indian elements and their tactics.
    If possible, then please allow me to get volunteers for the cause of India and being proud Indian.

    Manoj
    999084840

  4. Shri Pushpendra ji,
    I have heard through your lectures and other speakers that objectionable matter is written against the followers of other religions in Quran. The same Quran is being taught throughout India. Is it not against the fundamental principles of our constitution or humanity, in general?
    I wonder whether we can ask to remove or modify such writings from their book through supreme court.

  5. Sir please mujhe bhi aapke sath kaam karna. Desh ko jagaane ka kaam karna hai.please sir mujhe aap train karen is kaam ke liye. Mai aapki bhot saari videos dekhta hoon aankhe khulti hain,oon gaddaron par bhot gussa aata hai but mai kush nhi kar pata bas yeh cheez mujhe bhot zakham deti hai sir please give me chance and I will do my best. Jai Hind Jai bharat.

  6. Respected pushpendraji,

    I have just now started to watch your first lecture at Mumbai in which you have told that no any fir is lodged in j&k or any police station in India and supreme court also not helping u for the same.

    PLS. Inform me whether such fir is lodged till date or not. Last action must be ” aamran ansan”.

    As your complaint is there, that no one has noticed seriously the forced exit of Kashmiri pandits from j&k, I am ready to start “aamran ansan” for lodging of complaint at supreme court for the same. Pls. Contact me on my mobile and email id.

    Thanks,

    Yours sincerely,
    SUNILKUMAR N. Doshi.

  7. जी में एक डॉक्टर हूँ, और एक मुस्लिम बाहुल्य शहर में मेरा प्राइवेट नर्सिंग होम है|मैंने हमेशा हिदू या मुसलमान के भाव से डोर सबके प्रति पूर्ण समर्पण से कार्य किया,लेकिन धीरे धीरे अनुभव हुआ कि इनके लिए कितना भी त्याग किया हो,लेकिन यदि किसी विवाद में किसी मुस्लिम की गलती हो,तब भी वह एकजुट होकर उस गलत मुसलमान का ही साथ देते है|जरा जरा सी बात पर गुटबंदी कर ,हिन्दू व्यक्ति पर दबाब बनाने की कोशिश,यदि बहुत ज्यादा ओवरलोड के कारण नए पेशेंट को देखने से मना कर दिया जाए,तो उस पर भी जबरदस्ती…. समझ नही पा रही थी की आखिर मुस्लिम के लिए कितना भी कर लो,वह इंसाफ की बात क्यो नही करता,क्यो मुस्लिम के गलत होने पर उनका ही साथ देता है,…फिर एक दिन कुरान मंगाई अपनी एक मुस्लिम स्टाफ से|1 wk में पढ़ी और पढ़कर नींद उड़ गयी|आतंकवाद और मुस्लिम सोच की सारि हक़ीक़त स्पष्ट हो गयी|फिक्र हुई देश की,कि यदि इनकी जनसंख्या बढ़ गयी,तो ये तो जीने नही देंगे हिन्दू समाज को,क्योकि वह काफिर है और कुरान में काफिरो को कत्ल करने पर जन्नत मिलती है,ये कहा गया है|…..मुझे लगता है यदि हर हिन्दू व्यक्ति ध्यान से पूरी कुरान पढ़ ले,तो सारी समस्या ही हाल हो जाएगी|कुरान काफी है,हर सोये हिन्दू की नींद तोड़ने के लिए….अभी एक सप्ताह पहले ही पुष्पेंद्र जी के वीडियो देखे |खुशी हुई कोई तो आया भारत मां का लाल ,जिसने भारत की रक्षा हेतु आवाज़ बुलंद की|आपको शत शत प्रणाम पुष्पेंद्र जी|मेरी शुभकामनाये,प्रार्थनाएं सदैव आपके साथ है|

  8. जैसा नाम वैसा काम .वें कुलश्रेष्ठ नाम व काम से भी है .वें औऱ उनके साथी सच्चे राजभक्त है .जो बिना थके हमारी सोच को नयी दिशा देनेकाप्रयास करते है .ऐसे पुष्पेंद्रजी तथा उनके साब साथीओ को अभिनंदन ऐवेम सलाम .

LEAVE A REPLY