साफगोई और साहस की मिसाल हैं पुष्पेन्द्र कुमार के ज़मीनी प्रयास

कोई तीन बरस पहले की बात है। पुष्पेंद्र कुमार कुलश्रेष्ठ की एक फेसबुक पोस्ट पर निगाह पड़ी…

देखा कि पुष्पेन्द्र कुमार पाकिस्तान के स्थापना दिवस की बधाई दे रहे थे।

एक भारतीय को 14 अगस्त पर पाकिस्तानियों को बधाई देते देख मेरे तन-बदन में आग लग गई…

मैंने कारण लिखते हुए… तुरंत पुष्पेंद्र जी को अनफ्रेंड करने में देर नहीं की… पुष्पेंद्र जी ने विनम्रतापूर्वक मुझे उत्तर लिखा “As You Wish”…

कुछ दिन बाद मुझे अपनी मूर्खता का तब अहसास हुआ, जब पुष्पेंद्र जी का एक वीडियो मेरे हाथ लगा… जिससे यह पता चला कि पुष्पेंद्र जी पाकिस्तान के एक बड़े चैनल/ अखबार ‘आज न्यूज़’ के भारत के ब्यूरो चीफ़/ इंडिया चीफ थे।

पाकिस्तान में रहते… पाकिस्तानियों को यदि वह पाक दिवस पर बधाई न देते तो क्या करते? मैंने माफी मांगते हुए पुनः पुष्पेंद्र जी को फ्रेंड रिक्वेस्ट भेजी। पुष्पेन्द्र जी ने तुरंत रिक्वेस्ट स्वीकार करते हुए, बड़े दिल का परिचय दिया… दोस्ती आगे बढ़ी।

फिर पता चला कि अवैध धारा 35 A के विरुद्ध सुप्रीम कोर्ट में मुकदमा दायर करने वाली संस्था ‘वी द सिटिज़न’ के संस्थापक सदस्य स्व. संदीप कुलकर्णी के साथ पुष्पेंद्र जी मुख्य भूमिका में थे।

इसी मुकदमे की नयी तारीख 19 जनवरी 2019 लगी है। कश्मीर घाटी में इसी याचिका को लेकर आग लगी हुई है। संदीप कुलकर्णी जी की संदिग्ध मृत्यु के बाद पुष्पेंद्र कुमार जी सुप्रीम कोर्ट में इस केस को लड़ रहे हैं।

मैं श्रद्धान्वत हो गया… व्यक्तिगत मुलाकातें शुरू हुईं… उन्होंने मुझे बड़ी-बड़ी कांफ्रेंस-विचार गोष्ठियों में बुलाया… विचार विमर्श बढ़ा… जनरल जीडी बक्शी, कर्नल आरएसएन सिंह, धर्मगुरु पवन सिन्हा, सुशील पंडित, डॉ सुब्रमण्यम स्वामी जैसे मूर्धन्य राष्ट्रवादियों, विद्वानों का सानिध्य प्राप्त हुआ।

मुझे याद आता है कुछ माह पूर्व जब पुष्पेंद्र जी रात 12 बजे अपने जम्मू कार्यक्रम… (जिसकी यूट्यूब वीडियो को लाखों लोग देख चुके हैं) से वापस लौटे तो उन्होंने रात साढ़े 12 बजे फोन कर 35 A पर इस कार्यक्रम के बारे में पूर्ण जानकारी दी!

एक कालजयी अंग्रेज़ी पुस्तक जिसकी मैंने समीक्षा भी की थी… पुष्पेंद्र जी ने मुझे इस पुस्तक के अनुवाद का आदेश दिया है… कार्य प्रगति पर है।

पुष्पेंद्र जी के दर्जनों वीडियो यूट्यूब पर मिलेंगे… ज्ञान से परिपूर्ण… साफगोई और ज़िंदा साहस की मिसाल हैं ये वीडियो और उनके ज़मीनी प्रयास। उनकी एनर्जी और समर्पण देखते ही बनता है। सम्पूर्ण दुनिया में उनके वीडियो… विभिन्न हस्तियों के साथ इंटरव्यू बेहद दिलचस्पी के साथ देखे जाते हैं।

ईश्वर करे 19 जनवरी 2019 को 35A पर सुनवाई शुरू हो… फैसला देश के पक्ष में आये… पुष्पेंद्र जी के भागीरथ प्रयास, पुरुषार्थ सफल हों। मैंने अपने जीवन मे इतना निर्भय, स्पष्टवादी वक्ता और बुद्धिजीवी नहीं देखा।

‘संवाद’ : फिर कोई यह दावा नहीं कर पाएगा कि खास मज़हब, शांति का मज़हब है!

Comments

comments

loading...

1 COMMENT

  1. I am happy that inspite of extensive efforts of the intellectual terrors such people are doing their job.
    God bless you all the members of the team.

LEAVE A REPLY