दिग्गी राजा, इतना गिरोगे..?

मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह का ‘नक्सल प्रेम’ नया नहीं है। और न ही यह अभी सामने आया है।

जिस ‘रोना विल्सन’ के लैपटॉप के हार्डडिस्क में दिग्विजय सिंह का मोबाइल नंबर मिला है, वो रोना विल्सन कौन है..?

अटल जी की सरकार के समय, सन 2001 में संसद पर कातिलाना आतंकवादी हमला हुआ था। उस हमले का मास्टर माइंड था, ‘अफज़ल गुरु’।

उस अफज़ल गुरु का ख़ास मित्र था, एस ए आर गिलानी। इस गिलानी को जेल से छुडाने के लिए, इस रोना विल्सन ने आसमान सर पर उठा लिया था।

मूलतः केरल का रोना विल्सन, जे एन यू में पढ़ा है, और अतिवादी कम्युनिस्ट पार्टी, अर्थात ‘कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ़ इंडिया – माओइस्ट’ का कार्यकर्ता है।

इस रोना विल्सन के लैपटॉप में वांटेड नक्सली नेता, मिलिंद तेलतुन्बड़े का पत्र मिला है। इस पत्र में वो लिखता है, ‘कई कांग्रेसी नेता हमारी मदद को तैयार हैं।’

इस आधार पर जब पुलिस ने गिरफ्तार किये गए माओवादी (अर्बन नक्सल) नेता, प्रकाश अर्थात रितुपन गोस्वामी और सुरेन्द्र गाडलिंग के मोबाइल नंबर के रिकॉर्ड की जांच की, तो पाया कि इन नंबरों से एक ‘विशेष’ नंबर पर कई बार बातचीत हुई है।

यह ‘विशेष’ नंबर दिग्विजय सिंह का निकला, जो कांग्रेस की वेबसाइट पर भी मौजूद था। दिग्विजय सिंह ने भी उस नंबर को नकारा नहीं है। वे नकार भी नहीं सकते। यह उन्ही का नंबर है, यह दुनिया जानती है..!

अर्थात बात बिलकुल साफ़ है… हमारे दिग्गी राजा इन अतिवादी, आतंकवादी नक्सलियों के संपर्क में थे…!

दिग्विजय सिंह का नक्सली प्रेम छुपता भी नहीं है। भाजपा को हराने के लिए किसी भी हद तक जाने के लिए, दिग्गी राजा जाने जाते हैं. याद कीजिये, कुछ वर्ष पहले, असम चुनाव को जीतने के लिए इन्ही दिग्गी राजा ने पत्रकार परिषद में तय कर के ओसामा बिन लादेन को ‘ओसामा जी’ और ‘लादेन जी’ कहा था।

दिसंबर 2014 के झारखंड चुनाव में प्रचार करते हुए दिग्विजय सिंह ने कहा था, “भाजपा को हराने के लिए नक्सली, कांग्रेस का साथ दें।” उन्होंने नक्सलियों को कांग्रेस में शामिल होने का न्यौता भी दिया था।

मई 2013 में दिग्विजय सिंह ने कहा था, ‘नक्सली आतंकी नहीं, भ्रमित हैं…’

25 सितंबर, 2017 को कॉमरेड प्रकाश की ओर से कॉमरेड सुरेन्द्र को भेजे गए पत्र में लिखा है, “कांग्रेस नेता इस पूरी योजना में हमारा साथ निभाने उत्सुक हैं और वे आने वाले आंदोलनों के लिए, जब भी ज़रूरत पड़ेगी, हमें फंड करने को तैयार हैं। इस बारे में आप हमारे दोस्त से 99102@#$%#$ पर संपर्क कर सकते हैं।” यही नंबर दिग्विजय सिंह का है..!

इसकी गंभीरता समझ रहे हैं हम…? मध्यप्रदेश का दो बार मुख्यमंत्री रहा व्यक्ति, सत्ता पाने के लिए, देश को तोड़ने वाले लोगो की मदद के लिए तैयार है…! देश के टुकड़े-टुकड़े करने वाले लोगों के साथ मिल कर लोकतंत्र की हत्या करने की सोचता है..!

सोचिये.. यह झलक मात्र है!

कांग्रेस के हाथों सत्ता देने का अर्थ समझ रहे हैं ना आप..?

मप्र काँग्रेस के मीडिया प्रभारी माणक अग्रवाल ने दिखाए अपने विकृत संस्कार

Comments

comments

loading...

1 COMMENT

LEAVE A REPLY