THE WOLFMAN

मुझे जानवरों में भेड़िया व्यक्तिगत रूप से बहुत ही mentally sound animal लगता है। कारण यह है कि भेड़िया बहुत Long-term investment strategy बनाने में माहिर होता है।

और यही कारण है कि आठ लाख साल पुराना जानवर आज भी हमारे बीच मौजूद है।

वह जंगल और अपने रहन सहन के चयन में बहुत लंबा समय बिताता है। और कौन सी जगह उसके लिए मुफीद है, यह तय करने में भी लंबा समय लगाता है।

इसके लिए उसके पास पूरी टीम होती है। भेड़िया उस जगह का चुनाव करता है जहां पर बाकी रहने वाले जंगली जानवर उसके मुकाबले कमज़ोर हों।

आमतौर पर भेड़िए अपना आवास शाकाहारी जानवरों के आवास की तरफ बनाते हैं।

आप जो चित्र देख रहे हैं आज पूरा विश्व इस पर हंस रहा है कि एक जाहिल गंवार इंसान ऐसे देश में, जहां ऑडी और बीएमडब्ल्यू का जलवा है, गधे पर घूम रहा है।

मुझे हंसी आ रही है आपकी मानसिकता पर!

वो एक Halloween effect बना रहा है… एक नए प्लांट पर भेड़िया अपनी पनाह ढूंढने निकल चुका है!

एक वक्त आएगा जब सड़क पर अपने मज़हब का वास्ता देकर सिर्फ गधे ही गधे दिखाई देंगे, सड़कों पर जाम लगेगा, सड़कों पर अपने ईश्वर की बंदगी की जाएगी।

और फिर उसके बाद क्या होगा यह बताने की आवश्यकता नहीं है यह एक वेल प्लाण्ड Long term strategy है। अपने आप को किसी नई जगह पर Relaunch करने की। अपनी Presents के evidence देने की!

यह रणनीति है अपने भाइयों को एक संदेश देने की, कि हम यहां एक नई प्रथा का प्रारंभ करेंगे और इस जंगल को इतना मुफीद बना देंगे कि यहां भेड़िए के अलावा और कोई रह नहीं सकता।

सोचिए क्या होगा जिस ऑफिस में आप अपनी ऑडी बीएमडब्ल्यू से जाते हैं उसी ऑफिस के बगल में लोग गधे से चले आ रहे हैं। ट्रैफिक जाम हो रहा है गधों की वजह से… पार्किंग, सड़क, दुकान, मंदिर, मस्जिद हर जगह सिर्फ गधों की लाइन लगी है।

ऐसे में आप क्या करेंगे? मजबूरन आप जगह छोड़कर चले जाएंगे। ऐसा होने में लंबा समय लगेगा। यह आज या कल या परसों में नहीं हो रहा। इसमें उतना ही समय लगेगा जितना समय पर्शिया को बर्बाद होने में लगा। इसमें उतना ही समय लगेगा जितना गंधार को कंधार होने में लगा।

आप मज़ाक उड़ाते रहिए, आप हंसते रहिए।

वो Crystal clear हैं और आप कन्फ्यूज़ हैं कि

अस मैं कहेउ सुनौ दसकंधर।
पदम अठारह जूथप बंदर।।

कैसे संभव है!

I will say only one thing – the Wolf has launched his new strategy and it’s very likely to be a success…

रमज़ान पर दावत के संदेश और उनका जवाब

Comments

comments

loading...

LEAVE A REPLY