दिनभर के प्रमुख समाचार एक साथ

मुख्य समाचार :

-परमाणु पनडुब्‍बी आई एन एस अरिहंत ने पहला निगरानी अभियान पूरा किया। राष्‍ट्रपति और प्रधानमंत्री ने इस ऐतिहासिक उपलब्धि की सराहना की।

-प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने कहा-भारत के परमाणु कार्यक्रम का उद्देश्‍य विश्‍व शांति और स्थिरता को मजबूत करना है।

-अमरीका ने भारत सहित आठ देशों को ईरान से तेल आयात जारी रखने की अनुमति दी।

-छत्‍तीसगढ़ में विधानसभा चुनाव के दूसरे चरण में 72 निर्वाचन क्षेत्रों में एक हजार एक सौ से अधिक उम्‍मीदवार मैदान में।

-शबरीमला मंदिर विशेष पूजा के लिए भारी सुरक्षा के बीच फिर खुला।

-सरकार ने पूरे वर्ष आलू, प्याज और टमाटर उचित मूल्‍य पर उपलब्‍ध कराने के लिए ऑपरेशन ग्रीन को मंजूरी दी।

समाचार विस्तार से :

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा है कि मजबूत भारत, विशेषकर अनिश्चितताओं और चिंताओं से भरे विश्व में शांति तथा स्थिरता स्थापित करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा। उन्होंने आज अपने सरकारी आवास पर परमाणु पनडुब्बी आईएनएस अरिहंत के चालक दल का स्वागत करते हुए कहा कि एक अरब से अधिक भारतीय, मजबूत और नए भारत की आकांक्षा करते हैं, ताकि उनकी आशाएं और अपेक्षाएं पूरी हो सकें।

श्री मोदी ने कहा कि भारत के परमाणु कार्यक्रम को विश्व शांति और स्थिरता को बढ़ाने के, देश के प्रयासों के रूप में देखा जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि शांति भारत की ताकत है, न कि कमजोरी। प्रधानमंत्री ने कहा कि विश्वसनीय परमाणु प्रतिरोधक क्षमता समय की आवश्यकता है और आईएनएस अरिहंत की सफलता, परमाणु धमकी देने वालों को करारा जवाब है।

अरिहंत की सफलता देश के लिए एक बहुत बड़ी, एक बेमिसाल उपलब्धि है। देश की सुरक्षा के लिए एक बहुत बड़ा कदम है। अरिहंत भारत के दुश्‍मनों के लिए, शांति के शत्रुओं के लिए एक खुली चेतावनी है कि वे भारत के खिलाफ कोई दुस्‍साहस न करें।

त्रिआयामी परमाणु प्रक्षेपण क्षमता प्राप्त करने में आईएनएस अरिहंत की सफलता को महत्वपूर्ण बताते हुए प्रधानमंत्री ने चालक दल और उसमें योगदान करने वाले अन्य सभी लोगों को बधाई दी। श्री मोदी ने कहा कि जिम्मेदार राष्ट्र होने के नाते भारत के परमाणु कमान प्राधिकरण के तहत उसके पास व्यापक परमाणु कमान तथा नियंत्रण ढांचा, प्रभावी सुरक्षा गारंटी संरचना और कड़ा राजनीतिक नियंत्रण है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि भारत विश्वसनीय न्यूनतम प्रतिरोधक क्षमता और पहले इस्तेमाल नहीं करने के सिद्धांत के प्रति वचनबद्ध है। उन्होंने कहा कि चार जनवरी 2003 को तत्कालीन प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की अध्यक्षता में मंत्रिमंडल की सुरक्षा समिति की बैठक में यह फैसला लिया गया था।

आईएनएस अरिहंत त्रिआयामी परमाणु मिसाइल प्रक्षेपण क्षमता हासिल कर हाल में अपने पहले निगरानी अभियान से लौटा है।

प्रधानमंत्री ने देश के सैनिकों की बहादुरी, प्रतिबद्धता और वैज्ञानिकों की प्रतिभा तथा समर्पण की प्रशंसा की।

आप लोगों ने देश को इस दीपावली पर अरिहंत के सफल अभियान के रूप में एक ऐसा अनूठा अनुपम उपहार दिया है जो भारत के इतिहास में बे‍मिसाल है। जब देश दुर्गा पूजा और विजय दशमी की उत्‍सव मना रहा था तब आप अरिहंत उसके साथ आप सब देश के दुश्‍मनों के विनाश के लिए और हमारे देश की रक्षा के लिए आप सारे अभियान में और अभ्‍यास में जुटे हुए थे।

श्री मोदी ने इस उपलब्धि से जुड़े लोगों और उनके परिवारों को दीपावली की शुभकामनाएं दीं और आशा व्यक्त की कि जिस प्रकार प्रकाश अंधेरे और सभी प्रकार के डर को दूर करता है उसी तरह आईएनएस अरिहंत देश के लिए निर्भीकता का प्रतीक बनेगा।

——–

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने परमाणु पनडुब्‍बी आईएनएस अरिहंत के पहले निगरानी अभियान की सफलता के लिए भारत के रक्षा प्रौद्योगिकीविदों और नौसेना को बधाई दी है। उन्होंने ट्वीट कर कहा है कि भारत की यह उपलब्धि उसकी सुरक्षा तैयारियों की दिशा में ऐतिहासिक कदम है।

——–

भाजपा अध्‍यक्ष अमित शाह ने कहा है कि आई एन एस अरिहंत की इस उपलब्धि से भारत के रणनीतिक और सुरक्षा हितों को और बल मिलेगा। श्री शाह ने मजबूत नेतृत्‍व के लिए प्रधानमंत्री को बधाई दी, जिससे वैश्विक स्‍तर पर भारत की रणनीतिक और आर्थिक हैसियत बढ़ी है।

——–

रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमन ने भी इसे देश की एक बड़ी उपलब्धि बताया है। श्रीमती सीतारमन ने इसके लिए भारतीय सैन्य बलों और समूची वैज्ञानिक बिरादरी को बधाई दी है।

गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने भी आईएनएस अरिहंत की इस सफलता के लिए भारतीय नौसेना को बधाई दी है। उन्होंने ट्वीट कर कहा है कि भारत के लिए यह एक यादगार क्षण है।

वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कहा है कि आज का दिन 130 करोड़ भारतीयों और सैन्य बलों के लिए बड़े गौरव का दिन है।

सूचना और प्रसारण मंत्री कर्नल राज्यवर्द्धन राठौड़ ने कहा है कि आज का दिन भारत के लिए विशेष है। उन्होंने कहा कि इस सफलता से भारत की सुरक्षा सुनिश्चित हुई है।

——–

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज नई दिल्ली में दक्षिण कोरिया की प्रथम महिला किम जंग सूक से मुलाकात की। उन्होंने भारत और दक्षिण कोरिया के बीच सांस्कृतिक और आध्यात्मिक संबंधों पर चर्चा की। उन्होंने दोनों देशों के बीच सम्पर्क बढ़ाने पर भी चर्चा की। सोल शांति पुरस्कार से सम्मानित किए जाने पर सुश्री किम जंग सूक ने प्रधानमंत्री को बधाई दी।

सुश्री किम जंग सूक, कल अयोध्या में उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा आयोजित दीपोत्सव में और महारानी सूरीरत्न के नए स्मारक की आधारशिला स्थापना समारोह में भाग लेंगी।

——–

जम्‍मू-कश्‍मीर के राज्‍यपाल सत्‍यपाल मलिक ने कहा है कि अगले चार से छह महीनों में राज्‍य प्रशासन सभी संबद्ध पक्षों से के साथ बातचीत के लिए माहौल बनाने की कोशिश करेगा। आज जम्‍मू में सचिवालय खुलने के बाद पत्रकारों से बातचीत में श्री मलिक ने कहा कि वे राज्‍य का विकास सुनिश्चित करने और बातचीत का माहौल बनाने के लिए प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी के आदेश के साथ आए हैं।

राज्‍यपाल सत्‍यपाल मलिक ने कहा कि उनके प्रशासन द्वारा अपनाई गई नीति के अच्‍छे परिणाम आ रहे हैं और समूचे राज्‍य में स्‍थानीय निकायों के चुनाव को शांतिपूर्वक कराए गए। उन्‍होंने आशा जताई कि नेशनल कॉन्‍फ्रेंस और पीपुल्‍स डेमोक्रेटिक पार्टी जिन्‍होंने शहरी निकायों के चुनावों का बहिष्‍कार किया था पंचाय‍ती चुनाव में हिस्‍सा लेंगे। राज्‍यपाल ने कहा कि सुरक्षा बलों के हौंसले काफी बुलंद है और आतंकवादियों को आगामी पंचायती चुनाव में विघ्‍न डालने का अब मौका नहीं दिया जाएगा।

——–

अमरीकी विदेश मंत्री माइक पोम्पियो ने कहा है कि भारत सहित आठ देश अब ईरान से तेल आयात कर सकेंगे। उन्होंने कहा कि इन देशों को, ईरान से तेल आयात पर लगे प्रतिबंधों से अस्थाई रूप से छूट दे दी गई है। श्री पोम्पियो ने वाशिंगटन में संवाददाता सम्मेलन में इन देशों की सूची की घोषणा की।

श्री पोम्पियो ने कहा कि ट्रम्प प्रशासन के, ईरान पर फिर से प्रतिबंध लगाने के बाद इन देशों का फारस की खाड़ी के देशों से तेल का आयात बहुत कम हो गया था।

गौरतलब है कि भारत दुनिया में तेल का तीसरा सबसे बड़ा उपभोक्ता है। वह अपनी अस्सी प्रतिशत से अधिक तेल जरूरतें आयात से पूरी करता है।

——–

छत्‍तीसगढ़ विधानसभा चुनाव के दूसरे चरण के लिए नाम वापस लेने के आज आखिरी दिन एक हजार एक सौ 48 उम्‍मीदवार चुनाव मैदान में रह गए हैं। हमारे संवाददाता ने खबर दी है कि जांच के बाद एक हजार दो सौ 49 उम्‍मीदवारों के नामांकन पत्र सही पाए गए। इनमें से एक सौ एक उम्‍मीदवारों ने अपने नाम वापस ले लिए।

छत्‍तीसगढ़ में प्रथम चरण के तहत जिन 18 सीटों पर 12 नवंबर को मतदान होना है वहां 190 उम्‍मीदवार चुनाव मैदान में हैं। वहीं दूसरे चरण में जिन 72 सीटों पर 20 नवंबर को वोट डाले जाएंगे वहां 1148 उम्‍मीदवार चुनाव मैदान में बचे हैं। इस तरह से प्रदेश की सभी 90 सीटों पर कुल 1338 प्रत्‍याशी चुनाव लड़ रहे हैं। वर्ष 2013 में हुए पिछले विधानसभा चुनाव में इन 90 सीटों पर कुल 985 उम्‍मीदवार चुनाव मैदान में थे।

——–

मध्‍य प्रदेश में विधानसभा चुनाव की गतिविधियां धीरे-धीरे जोर पकड़ रही हैं। मुख्‍यमंत्री शिवराज सिंह चौहान सहित कई वरिष्‍ठ नेताओं ने आज नामांकन पत्र दाखिल किए। पर्चें भरने की प्रक्रिया शुक्रवार तक जारी रहेगी।

मध्‍यप्रदेश के मुख्‍यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आज सीहोर जिले में अपने घरेलू क्षेत्र बुदनी से नामांकन पत्र भरा। श्री चौहान के अलावा, कइ्र अन्‍य नेताओं ने भी अपने नामांकन पत्र भरे। इनमें विपक्ष के नेता अजय सिंह ने सीधी जिले की उनकी पारंपरिक चुरहट से, दतिया से जनसंपर्क मंत्री नरोत्‍तम मिश्रा ने और दमोह से वित्‍त मंत्री जयंत मलैया पर्चे दाखिल किए।

——–

मिजोरम विधानसभा चुनाव के लिए प्रचार जोरों पर है। राज्‍य में 28 नवम्‍बर को मतदान होगा। प्रमुख राजनीतिक दल सभी निर्वाचन क्षेत्रों में घर-घर जाकर प्रचार कर रहे हैं।

——–

प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना से पूरे देश में गरीबी रेखा से नीचे जीवन यापन करने वाली पांच करोड़ महिलाओं को परम्परागत चूल्हे से निकलने वाले धूँएं से मुक्ति मिली है। इन महिलाओं के लिए मुफ्त रसोई गैस कनेक्शन वरदान साबित हुआ है।

प्रस्तुत है कोलकाता से ग्राउंड रिपोर्ट –

पश्चिम बंगाल में इस वर्ष अक्‍तूबर के अंत तक 67 लाख से भी ज्‍यादा गैस कनेक्‍शन महिलाओं को उपलब्‍ध कराए गए हैं। उत्‍तर 24 परगना जिले के ममुदपुर गांव की रू‍बी कुमारी ने कहा कि जबसे उन्‍हें मुफ्त गैस कनेक्शन मिला है तब से किचन में बिना धुंए के खाना बनाने में बहुत आराम हो गया है।

हमारे घर पर उज्‍ज्‍वला गैस है। उस पर हम लोग खाना बनाते हैं और बहुत हम लोग को सुविधा है। वही लकड़ी पर खाना बनाना, धुंआ-धक्‍कड़, बहुत तकलीफ से खाना बनाना पड़ता था और जब से यह गैस सुविधा हुई है इसमें बहुत हम लोगों को ये आसान है खाना बनाने में और बहुत जल्‍दी भी बन जाती है।

प्रधानमंत्री उज्‍ज्‍वला योजना से देशभर में महिलाओं को बेशक बहुत फायदे हुए हैं।

——–

भारत और मलावी ने प्रत्यर्पण संधि, शांतिपूर्ण कार्यों के लिए परमाणु क्षेत्र में सहयोग और राजनयिक तथा आधिकारिक पासपोर्ट के लिए वीज़ा में छूट के बारे में तीन समझौतो पर हस्ताक्षर किए हैं। विदेश मंत्रालय में सचिव टी.एस. त्रिमूर्ति ने लिलोंग्वे, मलावी में संवाददाता सम्मेलन में यह जानकारी दी। भारत मलावी को 21 करोड़ डॉलर से अधिक ऋण राशि आसान शर्तों पर देगा।

——–

केरल के शबरीमला में भगवान अयप्‍पा मंदिर विशेष पूजा के लिए खोल दिया गया है। मंदिर के आस-पास कड़ी सुरक्षा व्‍यवस्‍था की गई हे। मंदिर श्रद्धालुओं के लिए आज शाम पांच बजे खुला और कल रात दस बजे बंद होगा। सुचारू पूजा-अर्चना और श्रद्धालुओं की सुरक्षा के लिए बीस कमांडों टीम और सौ महिला सहित तीन हजार से अधिक पुलिसकर्मी तैनात किए गए हैं। शबरीमला और आस-पास के क्षेत्रों में चार से अधिक लोगों के इकट्ठा होने पर पाबंदी लगा दी गई है। निषेधाज्ञा कल तक जारी रहेगी।

——–

सरकार ने पूरे वर्ष आलू, प्याज, टमाटर की कीमतों में स्थिरता लाने और उपलब्धता सुनिश्चित कराने के लिए ऑपरेशन ग्रीन के परिचालन की मंजूरी दे दी है। आलू, प्याज और टमाटर की कीमतों को स्थिर रखने के लिए वर्ष 2018-19 के बजट भाषण में पांच सौ करोड़ रुपये की लागत के आपरेशन ग्रीन शुरू करने की घोषणा की गई थी।

इसकी मंजूरी देने के बाद खाद्य प्रसंस्करण उद्योग मंत्री हरसिमरत कौर बादल ने कहा कि यह क्रांतिकारी योजना है जिसे सभी पक्षों के साथ निरंतर वार्ता के बाद बनाया गया है।

ऑपरेशन ग्रीन के तहत टमाटर, आलू और प्‍याज की फसलों की कीमतों में स्थिरता बनाए रखने के लिए कई उपाय किए गए हैं, जिसमें लघु और दीर्घकालिक उपाय शामिल हैं। इसके तहत इन फसलों के उत्‍पादन से लेकर भंडारण और इनकी ढुलाई पर सरकार द्वारा 50 प्रतिशत की सब्सिडी दी जायेगी।

वहीं इन फसलों की मांग और आपूर्ति प्रबंधन के लिये ई-प्‍लेटफार्म का निर्माण किया जायेगा। ऑपरेशन ग्रीन के तहत फसलों की कटाई के बाद होने वाले नुकसान को कम करना है, जिसमें पर्याप्‍त भंडारण क्षमता का निर्माण और कृषि संबंधी बुनियादी ढांचों को विकसित करने जैसे उपाय शामिल है।

——–

राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में वायु प्रदूषण के स्तर में बढ़ोतरी हुई जिससे स्थिति और गंभीर बन गई है। दिल्ली सरकार ने वायु प्रदूषण को नियंत्रित करने के लिए सभी विभागों को सतर्क किया है।

——–

जम्‍मू-कश्‍मीर के गंदरबल जिले के वारूहू इलाके में आतंकवादियों और सुरक्षाबलों के बीच हुई मुठभेड़ में सी आर पी एफ का एक जवान घायल हो गया। सुरक्षा सूत्रों ने कहा कि मुठभेड़ के बाद आतंकवादी भाग गए। यह मुठभेड़ उस समय शुरू हुई, जब इलाके में सुरक्षाबलों के संयुक्‍त दल ने आज तीसरे पहर घेराबंदी और तालश अभियान शुरू किया।

स्रोत : http://newsonair.com/

Comments

comments

loading...

LEAVE A REPLY