ज़िला बदर आदेशों की तामीली न हुई तो ज़िम्मेदार माने जाएंगे पुलिस अधिकारी

विधानसभा चुनाव के मद्देनजर आज कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में आयोजित की गई बैठक में कलेक्टर श्रीमती छवि भारद्वाज ने प्रशासन एवं पुलिस के अधिकारियों को चुनाव के दौरान कानून व्यवस्था बनाये रखने के लिए सभी जरूरी कदम उठाने के निर्देश दिये हैं।

उन्होंने संदिग्ध व्यक्तियों की गतिविधियों पर नजर रखने तथा आपराधिक तत्वों के विरूद्ध कठोर कार्यवाही करने की हिदायत भी अधिकारियों को दी है। बैठक में पुलिस अधीक्षक अमित सिंह भी मौजूद थे।

श्रीमती भारद्वाज ने बैठक में साफ-साफ कहा कि प्रशासनिक एवं पुलिस अधिकारियों को चुनाव को प्रभावित कर सकने वालों के खिलाफ तत्काल और सख्त कार्यवाही करनी होगी।

उन्होंने जिला बदर के आदेशों पर तत्काल तामीली सुनिश्चित करने के निर्देश पुलिस अधिकारियों को दिये। श्रीमती भारद्वाज ने कहा कि यदि जिला बदर के आदेशों की समय पर तामीली नहीं होती है तो इसके लिए संबंधित थाने के पुलिस अधिकारी को जिम्मेदार माना जायेगा।

कलेक्टर ने बैठक में प्रशासनिक एवं पुलिस अधिकारियों को अपने-अपने क्षेत्र में आचार संहिता का कड़ाई से पालन सुनिश्चित करने के निर्देश भी दिये। उन्होंने कहा कि आचार संहिता के उल्लंघन या मतदाताओं को डाराने, धमकाने अथवा प्रलोभन देने की मिलने वाली हर शिकायत पर पुलिस एवं प्रशासनिक अधिकारियों को तत्काल एक्शन लेना होगा।

श्रीमती भारद्वाज ने पुलिस अधिकारियों को आपराधिक रिकार्ड वाले या संदिग्ध व्यक्तियों को बाउण्ड ओव्हर करने के निर्देश भी दिये। उन्होंने कहा कि चुनाव के दौरान गड़बड़ी पैदा करने वालों और असामाजिक तत्वों के मन में कानून का भय हो इसके लिए प्रत्येक विधानसभा क्षेत्र के बड़े अपराधियों को चिन्हित करना होगा और उनके विरूद्ध एनएसए अथवा जिला बदर की कार्यवाही प्रस्तावित करनी होगी।

कलेक्टर ने बैठक में निर्भीक, स्वतंत्र और निष्पक्ष मतदान के लिए प्रशासनिक एवं पुलिस अधिकारियों को संवेदनशील क्षेत्रों का संयुक्त दौरा करने के निर्देश भी दिये ताकि मतदाताओं में कानून के प्रति विश्वास पैदा हो और वे निडर होकर मतदान कर सकें। उन्होंने पुलिस अधिकारियों को एसएसटी एवं एफएसटी दलों से निरंतर संपर्क में रहने तथा उनसे समन्वय बनाये रखने के निर्देश दिये।

पुलिस अधीक्षक अमित सिंह ने विधानसभा चुनाव के दौरान कानून एवं व्यवस्था बनाये रखने के लिए प्रशासनिक एवं पुलिस अधिकारियों के बीच बेहतर समन्वय पर जोर दिया। उन्होंने कहा कि अधिकारियों को चुनाव की दृष्टि से हर संवेदनशील क्षेत्र पर विशेष ध्यान देना होगा तथा किसी भी तरह की गड़बड़ी की आशंका होने पर तत्काल जरूरी कदम उठाने होंगे।

पुलिस अधीक्षक ने आपराधिक तत्वों के विरूद्ध कठोर कार्यवाही के निर्देश देते हुए पुलिस अधिकारियों को ऐसे स्थानों पर नाकाबंदी कर कार्यवाही करने कहा, जहां धन-बल से चुनावों को प्रभावित करने के प्रयास किये जा सकते हैं। उन्होंने शराब का अवैध विक्रय, परिवहन एवं भण्डारण पर भी सख्ती से रोक लगाने की हिदायत दी।

पुलिस अधीक्षक ने जिले और शहर के प्रमुख मार्गों पर सरप्राईज चैकिंग करने के निर्देश भी पुलिस अधिकारियों को दिये। उन्होंने बताया कि वल्नरेबल और क्रिटिकल मतदान केन्द्रों पर सुरक्षा के तगड़े बंदोबस्त किये जायेंगे तथा निर्वाचन की दृष्टि से संवेदनशील क्षेत्रों में सिविल ड्रेस में पुलिस जवानों को तैनात किया जा रहा हैं।

बैठक में कलेक्टर एवं पुलिस अधीक्षक ने चुनाव के दौरान कानून एवं व्यवस्था बनाये रखने के अपनाये जा रहे उपायों की विधानसभावार समीक्षा भी की।

Comments

comments

loading...

LEAVE A REPLY