दिनभर के प्रमुख समाचार एक साथ

मुख्य समाचार :

  • प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने कहा- एनडीए सरकार ने सामाजिक न्‍याय, सशक्तिकरण और पारदर्शिता के लिए प्रौद्योगिकी को माध्‍यम बनाया।
  • श्री मोदी और इटली के प्रधानमंत्री ज्‍यूसेप कोंते ने संयुक्‍त राष्‍ट्र के सभी सदस्‍य देशों से वैश्विक आतंकवाद रोधी रणनीति पर अमल का आह्वान किया।
  • छत्‍तीसगढ़ के दंतेवाड़ा जिले में माओवादियों के घात लगाकर किए गए हमले में दूरदर्शन समाचार का एक कैमरामैन और दो सुरक्षाकर्मी शहीद।
  • केन्‍द्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने कहा- सरकार की लाभकारी औद्योगिक इकाइयों के निजीकरण की कोई योजना नहीं।
  • उच्‍चतम न्‍यायालय ने कहा- कम प्रदूषण वाले पटाखों के इस्‍तेमाल से संबंधित आदेश दिल्‍ली और राष्‍ट्रीय राजधानी क्षेत्र तक ही सीमित। दक्षिणी राज्‍यों में पटाखे चलाने की समय सीमा में छूट दी।

समाचार विस्तार से :

प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने कहा है कि भारत, अब सूचना प्रौद्योगिकी साफ्टवेयर की क्षमता को और आगे बढ़ा रहा है। उन्‍होंने कहा कि अटल नवाचार मिशन के जरिए लोगों में वैज्ञानिक प्रवृत्ति के साथ प्रौद्योगिकीय मनोवृत्ति के विकास पर जोर दिया जा रहा है। नई दिल्‍ली में भारत-इटली प्रौद्योगिकी शिखर बैठक में समापन भाषण में श्री मोदी ने कहा –

सभी देशों के सामने बदलती हुई टेक्‍नोलॉजी के साथ चलने की चुनौती है, तो अनेक नये अवसर भी है। भारत ने तो टेक्‍नोलॉजी को सामाजिक न्‍याय, सशक्तिकरण, समावेश, सक्षम सरकारी तंत्र और पारदर्शिता का माध्‍यम बनाया है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि प्रौद्योगिकी के जरिये सरकारी सेवाएं सभी लोगों तक प्रभावी तरीके से पहुंचाई जा रही हैं।

आज दुनिया की सबसे बड़ी डायरेक्‍ट बेनीफिट स्‍कीम में से एक भारत में चल रही है। सरकारी मदद सीधे लाभार्थियों के बैंक खातों में पहुंचाई जा रही है। बर्थ सट्रिफिकेट से लेकर बुढ़ापे की पेंशन तक की अनेक सुविधाएं आज ऑनलाइन हैं।

300 से अधिक केन्‍द्र और राज्‍य सरकार की सेवाओं को उमंग ऐप के माध्‍यम से एक प्‍लेटफॉर्म पर लाया गया है। डिजिटल पेमेंट आजकल करीब 250 करोड़ ट्रांजेक्‍शन प्रति माह की रफ्तार से बढ़ रही है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि भारत का अंतरिक्ष कार्यक्रम इसका एक बड़ा उदाहरण है। भारत, अब इटली सहित कई देशों के उपग्रह अंतरिक्ष में भेज रहा है।

श्री मोदी ने भारत-इटली दिवपक्षीय औद्योगिक अनुसंधान और विकास सहयोग कार्यक्रम का अगला चरण शुरू करने की घोषणा की।

इटली के प्रधानमंत्री ज्‍यूसेप कोंते ने अपने सम्‍बोधन में कहा कि श्री मोदी से उनकी सार्थक बातचीत हुई है। श्री कोंते ने कहा कि दोनों देश रोबोटिक्‍स, जेनेटिक्‍स, एरोस्‍पेस, अक्ष्‍ाय ऊर्जा और अनुसंधान आधारित कार्यक्रमों में सहयोग कर रहे हैं।

इस अवसर पर विज्ञान और प्राद्योगिकी मंत्री हर्षवर्धन ने कहा कि इस सम्‍मेलन में दोनों देशों के प्रधानमंत्रियों की मैजूदगी विभिन्‍न क्षेत्रों में सहयोग बढ़ाने की उनकी प्रतिबद्धता को दर्शाती है।

श्री नरेन्‍द्र मोदी और इटली के प्रधानमंत्री ज्‍यूसेप कोंते ने संयुक्‍त राष्‍ट्र के सदस्‍य देशों का आहवान किया है कि वे आतंकवादियों को धन और अन्‍य मदद रोकने के लिए वैश्विक आतंकवाद से निपटने की संयुक्‍त राष्‍ट्र रणनीति और इससे संबंधित प्रस्‍ताव लागू करें।

श्री मोदी और इटली के प्रधानमंत्री के बीच आज नई दिल्‍ली में दिवपक्षीय बातचीत हुई। इसके बाद जारी संयुक्‍त वक्‍तव्‍य में दोनों नेताओं ने सभी प्रकार के आतंकवाद की कड़ी निन्‍दा करते हुए कहा कि आतंकवादियों, आतंकी संगठनों और इन्‍हें प्रोत्‍साहन, सहायता तथा धन देने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जानी चाहिए।

द्विपक्षीय बातचीत में दोनों नेताओं ने आपसी संबंधों को मजबूत करने की प्रतिबद्धता दोहराई। इटली के प्रधानमंत्री एक दिन की सरकारी यात्रा पर आज सवेरे नई दिल्‍ली पहुंचे।

——-
छत्‍तीसगढ़ में आज बस्‍तर क्षेत्र के दंतेवाड़ा जिले में माओवादियों के घात लगाकर किये हमले में दूरदर्शन समाचार का एक कैमरामैन और दो सुरक्षाकर्मी शहीद हो गये। दूरदर्शन के तीन सदस्‍यों की यह टीम चुनावी कवरेज के लिए अरनपुर इलाके में थी। माओवादियों ने निलावय के जंगलों में यह हमला किया। पुलिसकर्मियों ने भी जवाब में गोलियां चलाईं।

इस मुठभेड़ में दूरदर्शन समाचार के कैमरामैन अच्‍युतानन्‍द साहू, सहायक उप निरीक्षक रुद्रप्रताप सिंह और कांस्‍टेबल मंगलराम शहीद हो गये। दो जवान घायल भी हुए हैं जिन्‍हें इलाज के लिए विमान से रायपुर ले जाया गया है।

मुख्‍यमंत्री रमन सिंह ने इस हमले की निन्‍दा की है। उन्‍होंने कहा है कि माओवादी ऐसे हमलों को अंजाम देकर लोगों के बीच डर और आतंक फैलाना चाहते हैं।

इस बीच छत्‍तीसगढ़ में नक्‍सल कार्रवाईयों के विशेष महानिदेशक डी एम अवस्‍थी ने कहा है कि माओवादी, विकास विशेषकर इस क्षेत्र में सुरक्षाबलों द्वारा किए जा रहे सड़क निर्माण कार्यो के खिलाफ हैं।

ये टीम निर्माण कार्य को देखने और आसपास के इलाके की जानकारी लेने के लिए गई थी। वहां पर पहले से ही अंबुश लगाया गया था माओवादियों के द्वारा और एक पोस्‍टर चिपका हुआ था पेड़ पर, जिस पर लिखा हुआ था कि मतदान का बहिष्‍कार करें और सड़क निर्माण नहीं हो।

उसको शूट करने के लिए वो कैमरामैन जब उतरे, तो वहां पर पास में लगे हुए अंबुश से गोली उनको आकर लगी और उसी दौरान फायरिंग आरंभ हो गई और सब-इंस्‍पेक्‍टर जो उनके साथ थे, उनको भी गोली लगी। हमारे दो अन्‍य व्‍यक्ति घायल हुये।

पुलिस के अनुसार मुठभेड़ में तीन आतंकवादी मारे गये हैं।

——-
गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने नक्‍सली हमले की निन्‍दा की है। उन्‍होंने कहा कि सरकार ने इसे गंभीरता से लिया है।

छत्‍तीसगढ़ में अच्‍युतानंद साहू जो दूरदर्शन के कैमरामैन थे, उनकी और साथ ही साथ सब-इंस्‍पेक्‍टर और कांस्‍टेबल पुलिस के। इन तीनों की नक्‍सलवादियों ने हत्‍या की है। ये बहुत ही दुर्भाग्‍यपूर्ण और दयनीय घटना है और सभी के परिवारों के प्रति अपनी संवेदना व्‍यक्‍त करता हूं।

वित्‍त मंत्री अरूण जेटली ने इसे नक्‍सलियों की कायरतापूर्ण कार्रवाई बताया है। उन्‍होंने कहा कि पुलिस और प्रेस पर किया गया हमला जघन्‍य अपराध है।

सूचना और प्रसारण मंत्री कर्नल राज्‍यवर्धन राठौड़ ने घटना की निंदा करते हुए कहा —

जो जानें गई हैं, उनके परिवार के साथ हम सभी आज खड़े हैं। इस मुश्किल वक्‍त पर हम उनके परिवार का पूरा ख्‍याल रखेंगे। साथ ही जितने भी मीडियाकर्मी हैं और जितने भी लोग जो ऐसी खतरनाक जगहों पर जहां जाते हैं, उसको कवर करते हैं मैं आज उनको याद करता हूं, उनके शौर्य को याद करता हूं कि वो वहां जाकर देशभर को वहां की खबर देते है।

श्री राठौड ने शहीद कैमरामैन के आश्रितों को अनुग्रह राशि दिए जाने की भी घोषणा की। इसमें दस लाख रुपये दूरदर्शन द्वारा और पांच लाख रुपये की राशि पत्र सूचना कार्यालय के पत्रकार कल्‍याण कोष से दी जाएगी।

प्रसार भारती के अध्‍यक्ष ए. सूर्यप्रकाश ओर मुख्‍य कार्यकारी अधिकारी शशि शेखर वेमपति ने भी इस घटना पर दु:ख व्‍यक्‍त किया है।

कांग्रेस अध्‍यक्ष राहुल गांधी ने नक्‍सली हमले में शहीद हुए सुरक्षाकर्मियों और दूरदर्शन कैमरामैन के परिवारजनों के प्रति शोक संवेदना व्‍यक्‍त की है।

——-
जम्‍मू कश्‍मीर में आज पुलवामा जिले में एक मुठभेड में तीन आतंकवादी मारे गए हैं। सुरक्षा सूत्रों ने बताया कि ये आतंकवादी त्राल क्षेत्र के एक मकान में छिपे थे। दोनों ओर से चली गोलीबारी के बाद इस मकान में आग लग गई। मकान से एक आतंकवादी का शव निकाला गया है। तलाशी अभियान जारी है।

—–
प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी कल गुजरात में विश्‍व की सबसे ऊंची प्रतिमा द स्‍टैच्‍यू ऑफ यूनिटी को राष्‍ट्र को समर्पित करेंगे। नर्मदा जिले के केवदिया में स्‍थापित सरदार वल्‍लभ भाई पटेल की 182 मीटर ऊंची प्रतिमा को उनकी जयंती पर राष्‍ट्र को समर्पित किया जाएगा। इस अवसर पर वे जनसभा को भी संबोधित करेंगे।

——-
झारखंड में प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना से गरीब लोगों के जीवन में बदलाव आया है। राज्य में अब तक 25 लाख से अधिक लोगों को मुफ्त रसोई गैस कनेक्‍शन और चूल्हे दिये गये हैं जिनमें पहला एल पी जी सिलेण्‍डर मुफ्त भरा जाएगा। प्रस्तुत है रांची से ग्राउंड रिपोर्ट।

गिरडीह की कौशल्‍या देवी को अब गैस चूल्‍हा और सिलेंडर मुफ्त में मिलने से काफी आराम हो गया है।

मेरा नाम कौशल्‍या देवी है, हमको जो एक गैस मिले है, हमको बहुत अच्‍छा लगती है, क्‍योंकि पहले हम लोग चूल्‍हे से खाना बनाते थे और लकडि़यों से ही ज्‍वालन देकर ईंधन लगाते थे। उसमें से बहुत धुआं होती थी। मेरी मां का आंख भी खराब हो गया धुआं की वजह से और अभी गैस की वजह से हम लोग बहुत जल्‍दी-जल्‍दी नाश्‍ता तैयार कर लेते है।

झारखंड के 25 लाख से अधिक परिवारों को अब गैस चूल्‍हे पर खाना बनाने का मौका प्रधानमंत्री उज्‍ज्‍वला योजना की वजह से मिला है, जिससे वो बहुत खुश है।

——-
उच्‍चतम न्‍यायालय ने दिवाली पर पटाखे फोड़ने का समय रात आठ बजे से दस बजे तक रखने के अपने पहले के आदेश में बदलाव किया है। शीर्ष न्‍यायालय ने कहा है कि तमिलनाडु और पुद्दुचेरी के लिए समय बदला जाएगा लेकिन इसकी अवधि दो घंटे से अधिक नहीं होगी।

न्‍यायाधीश न्‍यायमूर्ति ए.के.सीकरी और न्‍यायमूर्ति अशोक भूषण की पीठ ने इस बात पर भी गौर किया कि ग्रीन पटाखों के इस्‍तेमाल की व्‍यवस्‍था दिल्‍ली और राष्‍ट्रीय राजधानी क्षेत्र के लिए दी गई थी न कि पूरे देश के लिए।

शीर्ष न्‍यायालय तमिलनाडु सरकार और पटाखा निर्माताओं की याचिकाओं पर सुनवाई कर रहा था, जिसमें 23 अक्‍तूबर के अपने आदेश में संशोधन और स्‍पष्‍टीकरण की मांग की गई थी।

——-
केंद्रीय जहाज़रानी, सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने आज केरल के कोचीन शिपयार्ड में देश की सबसे बड़ी सूखी गोदी का शिलान्यास किया। इस अवसर पर श्री गडकरी ने कहा कि लाभकारी औद्योगिक इकाइयों के निजीकरण करने की सरकार की कोई योजना नहीं है।

स्रोत : http://newsonair.com/

Comments

comments

loading...

LEAVE A REPLY