पिछले वर्षों में कौन रहा है मुस्लिमों का सबसे बड़ा दुश्मन?

ऱाहुल गांधी हिन्दू आतंकवाद का कितना भी रोना रो लें, लेकिन सच यही है कि अगर हिन्दू आतंकवादी होता तो 78% हिन्दू जनसंख्या वाले देश में फिर गैर हिन्दू होता ही नहीं।

राहुल गांधी हों, या दिग्विजय सिंह – ये लोग हिन्दुओं को गाली इसीलिए दे पाते हैं क्योंकि हिन्दू आतंकवादी तो छोड़िये, आक्रामक भावना भी नहीं रखता।

तो यह तो कांग्रेस, वामपंथी, ममता, मुलायम, अखिलेश यादव और मायावती जैसों की मजबूरी है कि मुस्लिमों के वोट के लिए भाजपा व संघ पर लगातार मुस्लिम विरोधी होने का झूठा आरोप लगाते रहें।

हकीकत दुनिया ने देखी है कि न वाजपेई सरकार के समय, और न मोदी सरकार के समय मुस्लिम विरोधी कोई काम कभी नहीं हुआ।

अब आते हैं मूल प्रश्न पर कि फिर मुस्लिमों का असली दुश्मन कौन है।

मुस्लिमों के असली दुश्मन वो लोग हैं जो मुस्लिमों को हिन्दुओं के खिलाफ पिछले कई दशकों से भडकाते रहे हैं, जो मुस्लिम कट्टरपंथी सोच का समर्थन करते हुये कुछ मुस्लिम आतंकवादियों को भी ‘जनाब’, ‘साहब’ आदि नाम से बोलकर सीधे हिन्दुओं की छाती पर लात मारते हुये उन्हें अपमानित करते हैं…

मुस्लिमों के असली दुश्मन हैं वो मैडम जो आतंकवादियों के पुलिस इन्काउन्टर में मारे जाने पर रोने लगती हैं, वो लोग जो 15 मिनट के लिए पुलिस को हटाने की चुनौती देते हैं कि 15 मिनट में हिन्दुओं का कत्लेआम कर देंगे, जो लोग 78% हिन्दुओं के सर्वाधिक आराध्य भगवान श्री राम व उनकी मां तक को अपशब्द बोलते हैं…

मुस्लिमों के असली दुश्मन हैं वो लोग जो पिछले कई दशकों से ऐसी ही गन्दी बातें बोलते हुये हिन्दुओं को यह याद दिलाते रहे हैं कि अगर कांग्रेस या यूपीए की सरकार रहेगी तो तुम हिन्दुओं को मुंह बन्द करके मुस्लिमों के जूते के तले के नीचे ही रहना होगा।

मुस्लिमों का सबसे बड़ा नुकसान खुद राहुल गांधी, दिग्विजय सिंह, भूतपूर्व प्रधानमंत्री सरदार जी, भूतपूर्व उपराष्ट्रपति हामिद मियां, सलमान खुर्शीद जैसे कांग्रेसियों, हिन्दुओं पर गोली चलवाने वाले मुल्ला-यम, ममता बानो जैसों के अलावा सबसे अधिक किया है ओवैसी भाइयों ने, आज़म खान जैसे लोगों ने।

बिल्कुल नये नये मामले में भूतपूर्व उपराष्ट्रपति हामिद मियां विभाजन का ज़िम्मेदार सरदार पटेल को बता रहे हैं। स्वाभाविक ही समस्त हिन्दुओं को अपने प्रिय सरदार के खिलाफ हामिद मियां की यह बात बहुत बुरी लगी है, और इसीलिए हिन्दुओं के मन में इस बात से मुस्लिमों के लिए कोई प्यार तो बढ़ेगा नहीं..

इससे भी बड़ी बात यह है कि मुस्लिम समाज में से कोई भी हामिद मियां की बात का विरोध नहीं करेगा, बल्कि अधिकतर मुस्लिम लोग यही बोलेंगे कि सचमुच सरदार पटेल ने ही विभाजन कराया होगा।

मुस्लिम समाज कभी भी मुस्लिम कट्टरपंथी सोच वालों का कोई विरोध नहीं करता, उल्टा हिन्दुओं को ही हर बात के लिए गलत बताते रहते हैं।

मुस्लिम समाज के नेताओं, अगर हिन्दू गलत होता तो आज भारत में तुम मुस्लिमों की ज़िन्दगी वैसी ही भयानक होती जैसी मुस्लिम देश पाकिस्तान में हिन्दुओं की है। शुक्र मनाओ कि तुम गलत सोचते हो, और हिन्दू न तो कट्टरपंथी है, और न तुमसे नफरत करता है। हां, तुम अपने ऐसे भड़काऊ नेताओं का विरोध न करके हिन्दुओं को अपने से दूर ज़रूर धकेल रहे हो।

तो अब होगा क्या? हिन्दू, मुस्लिमों से और खिंचे रहेंगे, अपने व्यापार-धंधे से मुस्लिमों को दूर रखेंगे, मुस्लिमों की दुकान से न कुछ खरीदेंगे, न उनसे कोई बिज़नेस करेंगे। मुस्लिम नेताओं को कभी भी वोट नहीं देंगे।

फलत: मुस्लिम आर्थिक रुप से और कमज़ोर होते जायेंगे, नेतागिरी में पिछड़ते जायेंगे (यूपी विधानसभा में एक भी मुस्लिम MLA नहीं है, न एक भी मुस्लिम यूपी से लोकसभा चुनाव जीत सका)।

और हिन्दू मुस्लिम के बीच की वो दूरी जो कांग्रेस – सपा – बसपा – ममता बानो – वामपंथियों – AAP – ओवैसी भाइयों – आज़म खान और हामिद मियां जैसे हिन्दू विरोधी लोगों ने बहुत मेहनत से बनाई है, वह और बढ़ती जायेगी। और मानो या न मानो, देश में तुम बाकी लोगों से अलग-थलग पड़ते जाओगे।

भारत के मुस्लिमों! अगर इन दुष्ट नेताओं ने कुछ दिमाग बाकी छोड़ा हो तो हामिद मियां को सरदार पटेल के लिए गलत बोलने पर धिक्कारो, इन दुष्ट नेताओं का समर्थन बन्द करो।

भाजपा का समर्थन देश के 70% से अधिक हिन्दू कर रहे हैं, और ये हिन्दू तुमसे नफरत नहीं करते हैं। इसलिये इन 70% हिन्दुओं के साथ रहते हुये भाजपा का समर्थन करो, भाजपा ही तुम्हारे आर्थिक व सामाजिक विकास का सही ध्यान रख सकती है। ये बाकी झूठे नेता सिर्फ तुम्हारा इस्तेमाल कर रहे हैं।

क्या सुप्रीम कोर्ट के फैसले से पहले ही देश की 78% हिन्दू जनसंख्या के आराध्य भगवान श्री राम का मंदिर अयोध्या में बनवाकर तुम हमेशा के लिये हिन्दुओं का दिल नहीं जीतना चाहते? याद रहे कि 78% का काम तो 18% के बिना चल भी सकता है, लेकिन 18% का काम धन्धा 78% के बिना नहीं चल सकता…

इसलिये ओवैसी – आज़म खान – मुल्ला यम – ममता बानो – हामिद मियां – वामपंथियों और कांग्रेसियों की इन दुष्ट चालों को समझो – ये सब तुम्हें हिन्दुओं के विरोध में भड़काकर तुम्हारा बहुत अहित कर रहे हैं, तुम्हारा बहुत नुकसान कर रहे हैं, तुम्हें बर्बाद करने पर तुले हुये हैं।

भाजपा के साथ आओ, राष्ट्र की मुख्यधारा से जुड़ो। अयोध्या में श्रीराम मंदिर बनवाने में सहयोग करो, हिन्दुओं का मन हमेशा के लिये जीत लो।

बाकी, तुम्हें अपने असली दुश्मनों इन वामियों – कांग्रेसियों – सपा – तृणमूल – आप और हामिद मियां व ओवैसी और आज़म खान जैसे लोगों से ही प्यार है, तो समझ लो कि तुम अपने लिए खुद ही गड्ढा खोद रहे हो और ये दुष्ट नेता तुम्हें इस गड्ढे में दफनाकर ही चैन की सांस लेंगे।

वैसे, 2019 में प्रधानमंत्री तो फिर से मोदीजी ही बनेंगे।

और हां,

जय हिंद।

भारत के टुकड़े तो अब और नहीं होने वाले

Comments

comments

loading...

LEAVE A REPLY