भगवान अयप्पा के भक्तों के लिए जेल बन चुका है केरल

केरल की हिन्दुविरोधी कम्युनिस्ट सरकार, भगवान अयप्पा के भक्तों पर अप्रतिम अत्याचार कर रही है।

पिछले कई दिनों से केरल पुलिस, सुप्रीम कोर्ट के फैसले का शांतिपूर्ण विरोध कर रहे लोगों को रात में घरों में घुस कर गिरफ्तार कर रही है… थानों में हिंदुओं को प्रताड़नाएं दी जा रही हैं।

ऊपर प्रदर्शित चित्र देखिए… जिस देश मे पाकिस्तानी हत्यारे कसाब तक को हथकड़ी नहीं लगाई गई, वहां… केरल पुलिस… घरों में सो रहे शांतिपूर्ण आंदोलनकर्ताओं को चोर-उचक्कों की तरह हथकड़ी लगाकर अदालत में पेश कर रही है।

सुप्रीम कोर्ट के निर्देशानुसार किसी अभियुक्त को हथकड़ी लगाने पर पूर्णतया रोक है… मग़र यदि कथित अभियुक्त भगवान अयप्पा का भक्त है तो केरल में फिलहाल इससे बड़ा जुर्म कोई नहीं है। सिर्फ कल की ही रात में 110 अयप्पा-भक्त हिंदुओं को गिरफ्तार किया गया है।

करेला और नीम चढ़ा… जज साहब भी कम नहीं निकले… उन्होंने सभी अयप्पा भक्तों को 14 दिन की पुलिस रिमांड देकर, पुलिस को इन भक्तों की जम कर ठुकाई करने की सुविधा प्रदान कर दी।

अभी गुड़गांव में एक हेड कांस्टेबल ने एक जज की पत्नी और पुत्र की सैकड़ों लोगों के सामने निर्मम हत्या कर दी थी… पुलिस ने पूछताछ के लिए कांस्टेबल की सिर्फ 7 दिन की रिमांड मांगी… मग़र जज ने सिर्फ 3 दिन की ही रिमांड प्रदान की…

और इधर केरल में शांतिपूर्ण प्रदर्शन करने वाले अयप्पा भक्तों को 14 दिनों के लिए केरल की खास मानसिकता वाली पुलिस के हवाले कर दिया गया…

खैर बंगाल हो या कर्नाटक… तमिलनाडु हो या केरल… दिल्ली में बैठी सेकुलर केंद्र सरकार को हिंदुओं पर हो रहे ज़ुल्मों से कोई फर्क नहीं पड़ता!

यही नहीं… बेशक लन्दन और अमेरिका में भगवान अयप्पा के भक्तों पर चल रहे दमनचक्र के खिलाफ प्रदर्शन हुए हैं… मग़र दिल्ली सहित उत्तर भारत में केरल के हिंदुओं के समर्थन में कोई प्रदर्शन नहीं हुआ है…

विश्व हिन्दू परिषद, बजरंगदल, अंतर्राष्ट्रीय हिन्दू परिषद, आरएसएस, सुदर्शन वाहिनी और हिन्दू युवा वाहिनी… लापता हैं…

एक हाथ में कम्प्यूटर, दूसरे हाथ में कुरान और दिल में जिहाद!

Comments

comments

loading...

LEAVE A REPLY