चुनाव प्रशिक्षण से गायब नौ अधिकारी निलंबित, चौदह को कारण बताओ नोटिस

कलेक्टर श्रीमती छवि भारद्वाज ने इन सभी अधिकारियों को तीन दिन के भीतर कारण बताओ नोटिस का जवाब न देने या संतोषजनक जवाब न मिलने पर एक पक्षीय कार्यवाही की चेतावनी दी है।

जिला निर्वाचन अधिकारी एवं कलेक्टर श्रीमती छवि भारद्वाज ने कड़ी कार्यवाही करते हुए मतदान दलों के प्रशिक्षण से अनुपस्थित रहने पर नौ अधिकारियों-कर्मचारियों को निलम्बित कर दिया है, जबकि चौदह अधिकारियों-कर्मचारियों को कारण बताओ नोटिस जारी कर तीन के भीतर जवाब प्रस्तुत करने के निर्देश दिए हैं।

इन सभी अधिकारियों-कर्मचारियों को मतदान दलों का पीठासीन अधिकारी बनाया गया था। ये बिना किसी सूचना के 22 एवं 23 अक्टूबर को आयोजित किए गए प्रशिक्षण से अनुपस्थित थे।

निलम्बन एवं कारण बताओ नोटिस जारी करने की यह कार्यवाही मध्यप्रदेश सिविल सेवा आचरण नियम तथा लोक सेवा प्रतिनिधित्व अधिनियम के प्रावधानों के तहत की गई है।

जिला निर्वाचन अधिकारी द्वारा जिन अधिकारियों को प्रशिक्षण से अनुपस्थित रहने पर निलम्बित किया गया है उनमें शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय बेलखाडू के प्रधान अध्यापक ओ.एन. शुक्ला, शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय अगरिया सिहोरा के शिक्षक बुद्धुलाल काछी, शासकीय कन्या उच्चतर माध्यमिक विद्यालय कुण्डम के प्रधान अध्यापक हीरा सिंह, मध्यप्रदेश गृह निर्माण मण्डल के उपयंत्री ए.के. मजूमदार, पशु चिकित्सा अधिकारी दिनेश कुमार श्रीवास्तव, ग्रामीण यांत्रिकी सेवा में उपयंत्री रक्षा तिवारी एवं संजय पाण्डेय, नगर निगम में उपयंत्री चारू पाण्डे एवं शासकीय कन्या उच्चतर माध्यमिक विद्यालय बरगी के व्याख्याता मुकेश श्रीवास्तव शामिल हैं।

प्रशिक्षण से नदारत रहने पर जिन चौदह अधिकारियों-कर्मचारियों को कारण बताओ नोटिस जारी किए गए हैं, उनमें मध्यप्रदेश पावर जनरेटिंग कम्पनी के सहायक अभियंता विनय कुमार खरे, मध्यप्रदेश पावर ट्रांसमिशन कम्पनी के लेखाधिकारी अमरीश रावत, पावर ग्रिड कार्पोरेशन के मोहम्मद रियाजुल हसन, मध्यप्रदेश पावर ट्रांसमिशन कम्पनी के कनिष्ठ अभियंता राकेश सोनी, कृषि उपज मण्डी समिति के सहायक उप निरीक्षक शिवानंद गिरी गोस्वामी, खाद्य एवं औषधि प्रशासन की खाद्य सुरक्षा अधिकारी सारिका दीक्षित, शासकीय हाई स्कूल डगडगा हिनौता की प्रधान अध्यापक कामोलिनी कीर्तन, ग्रामीण यांत्रिकी सेवा के उपयंत्री जे गोविंद पटनायक एवं नितिन श्रीवास्तव, जनपद पंचायत कुण्डम के एडीईओ प्रदीप तिगाडे, पुरातत्व अभिलेखागार एवं संग्रहालय के मानचित्रकार प्रमोद कुमार राव, रानी अवंती बाई सागर परियोजना बार्इं तट नहर संभाग-2 के उपयंत्री मनीष दीक्षित, भू-जल सर्वेक्षण विभाग के उपयंत्री उमेश दुबे एवं शासकीय आदर्श विज्ञान महाविद्यालय के सहायक प्राध्यापक प्रो. डी.के. दुबे शामिल हैं।

कलेक्टर ने इन सभी अधिकारियों को तीन दिन के भीतर कारण बताओ नोटिस का जवाब न देने या संतोषजनक जवाब न मिलने पर एक पक्षीय कार्यवाही की चेतावनी दी है।

विधानसभा चुनाव : प्रत्याशियों को रखना होगा खर्च का सही व स्पष्ट हिसाब

Comments

comments

loading...

LEAVE A REPLY