गोपाल राम के नामों पर कब मैंने अत्याचार किया, दुनिया को हिन्दू करने कब मैंने नरसंहार किया!

रौनक माहेश्वरी इस साल होली के अगले दिन मथुरा वृंदावन जाना हुआ। कुछ बहुत ही करीबी संबंध में शोक होने के वजह से होली खेलने जैसा तो कुछ नहीं पर दर्शन की अभिलाषा से सपरिवार वहाँ जाना हुआ। सुबह सुबह वृन्दावन और गोकुल के दर्शन करने के बाद शाम को मथुरा जाना हुआ। मथुरा में … Continue reading गोपाल राम के नामों पर कब मैंने अत्याचार किया, दुनिया को हिन्दू करने कब मैंने नरसंहार किया!