थाती बिहार की : जीवित्पुत्रिका व्रत का नहाय-खाय!

चूंकि जितिया व्रत वंश वृद्धि और संतान की समृद्धि के लिए किया जाता है इसलिए इस पर्व में ऐसी चीजें खाई जाती हैं, जो ज्यादा फैलने वाली होती हैं। नोनी का साग थोड़ी-सी ज़मीन पर लगा देने से वह बहुत ज़्यादा पसर जाता है। इसी तरह मड़ुआ का आटा भी गुंथने के बाद खूब फैलता … Continue reading थाती बिहार की : जीवित्पुत्रिका व्रत का नहाय-खाय!