पाकिस्तानी खिलौना : क्या गलत कहा कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने!

कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने आज प्रेस कॉन्फ्रेंस में डंके की चोट पर कहा कि राहुल गांधी पाकिस्तान की मदद कर रहे हैं, पाकिस्तान के हाथों में खेल रहे हैं।

रविशंकर प्रसाद ने क्या गलत कहा है? यह जानने के लिए पहले यह भी जानिये कि…

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने राफेल की कीमत छुपायी नहीं है। बल्कि छाती ठोंक कर देश और पूरी दुनिया को बताया है कि मेरी सरकार ने अत्याधुनिक आग्नेयास्त्रों, प्रक्षेपास्त्रों और रक्षा उपकरणों से पूर्णतः सुसज्जित 36 फाइटर प्लेन राफेल 58 हज़ार करोड़ रूपये में फ्रांस से खरीदे हैं।

अतः उन्होंने कीमत तो बहुत साफ शब्दों में डंके की चोट पर बताई है।

अत्याधुनिक आग्नेयास्त्रों, प्रक्षेपास्त्रों और रक्षा उपकरणों से पूरी तरह रहित राफेल फाइटर प्लेन खरीदने का सौदा कांग्रेस जितने में कर रही थी उससे 9% कम कीमत में हमने खरीदा है, यह बताते हुए उन्होंने अत्याधुनिक आग्नेयास्त्रों, प्रक्षेपास्त्रों और रक्षा उपकरणों से पूर्णतः रहित विमान की भी कीमत बहुत स्पष्ट शब्दों में देश को बता दी है।

लेकिन कांग्रेस ज़िद पर अड़ गयी है कि मोदी सरकार यह भी बताए कि उसने किन अत्याधुनिक आग्नेयास्त्रों, प्रक्षेपास्त्रों और रक्षा उपकरणों को कितने कितने रूपये में खरीदा है?

यह बता देने में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का कोई नुकसान नहीं होगा। बल्कि अगर वो यह बता दें तो उन्हें उनके खिलाफ NDTV और INDIA TODAY आजतक के साथ मिलकर कांग्रेस द्वारा चलाए जा रहे ज़हरीले दुष्प्रचार अभियान से भी मुक्ति मिल जाएगी। राजनीतिक लाभ भी मिलेगा।

लेकिन ऐसा करके प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी भारतीय वायुसेना और उसके जांबाज साहसी पायलटों की पीठ में ज़हर बुझा खंज़र मारने का पाप करेंगे। देश की सुरक्षा तैयारियों की पीठ में ज़हरीला खंज़र घोंपने का पाप करेंगे।

अतः कांग्रेस की इस देशघाती ज़िद का ज़हर प्रधानमंत्री मोदी चुपचाप पी रहे हैं पर राफेल के साथ खरीदे गए अत्याधुनिक आग्नेयास्त्रों, प्रक्षेपास्त्रों और रक्षा उपकरणों का विवरण व उनकी कीमतें नहीं बता रहे हैं।

यहां यह भी जान लीजिए कि ऐसा नहीं है कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने किसी को भी यह कीमतें नहीं बतायी हैं। इसके बजाय कीमतों सहित सारा विवरण CAG को बहुत पहले सौंप चुकी है मोदी सरकार।

CAG अत्यन्त सूक्ष्म तरीके से पूरे सौदे का ऑडिट कर रही है। इसके बाद संसद की लोकलेखा समिति PAC के समक्ष भी इसका पूरा विवरण – एक कलपुर्जे, नट-बोल्ट का कीमत सहित प्रस्तुत होगा।

अतः उनकी कीमत का विवरण सार्वजनिक करने की ज़िद पर क्यों अड़ी है कांग्रेस और विशेषकर राहुल गांधी?

उपरोक्त सन्दर्भ में जब यह याद आता है कि…

कांग्रेस नेता मणिशंकर अय्यर ने मोदी को प्रधानमंत्री पद से हटाने के लिए पाकिस्तान जाकर पाकिस्तान से खुलेआम मदद मांगी थी और कांग्रेसी मंत्री नवजोत सिद्धू ने कहा था कि पाकिस्तानी आर्मी के चीफ के गले लगकर मेरा रोम रोम खिल गया है।

तो यह सवाल मन मष्तिष्क को स्वतः झकझोरने लगता है कि कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने क्या गलत कहा है?

सबकुछ हार चुके किसी जुआरी से भी बदतर हो गयी है कांग्रेस की हालत

Comments

comments

loading...

LEAVE A REPLY