अभिनव गोस्वामी : देश सेवा के लिए अभिनव प्रयोग देने वाले को मिला झूठा मुकदमा

स्वदेश मूवी देखी है?

अरे वही शाहरुख खान वाली, जिसमें उसने मोहन भार्गव का किरदार निभाया था। एक साइंटिस्ट जो NASA में काम करता है, और अपनी नैनी को अमेरिका ले जाने के लिए भारत आता है, और फिर यहीं का हो जाता है। यहाँ के लोगो के जीवन में बदलाव लाने के लिए बिजली बनाने का उपक्रम करता है और यहीं बस जाता है।

ये फ़िल्म दो युवकों की कहानी पर बनी थी, अरविंद पिल्ललामर्री और रवि कुचिमन्ची। दोनों ही NRI थे, लेकिन भारत लौटे और यहाँ एक सुदूर गांव में उन्होंने पेडल-पावर जनरेटर बनाया, जिससे गांव में बिजली आयी और लोगों का जीवन बदला।

अच्छी कहानी थी, शाहरुख ने भी अच्छा अभिनय किया, और उस साल के लगभग सभी अवार्ड्स उसको मिले। स्वयं शाहरुख ने इसे उसके जीवन की सबसे अच्छी फिल्म बताया है।

एक फ़िल्म में ऐसे इंसान का अभिनय मात्र कर देने से शाहरुख खान को इतना नाम और इज्जत मिली, लेकिन उनका क्या होता है जो ऐसे पात्रों को जीवन मे उतार देते हैं? क्या हम लोग उनका साथ निभाते हैं? शायद नहीं।

चलिये आपको एक और कहानी सुनाता हूँ। एक अत्यंत ही प्रेरक और अविश्वसनीय कहानी। स्वदेश की फिल्मी कहानी से कहीं बड़ी कहानी है।

ये कहानी है अभिनव गोस्वामी की,जो अलीगढ़ के नजदीक खैर (गांव – जरारा) के रहने वाले हैं। शुरू से ही पढ़ाई लिखाई में अव्वल रहे। AMU से BSc की, उसके बाद दिल्ली यूनिवर्सिटी से MSc की और फिर पीएचडी भी की। कुछ साल भारत में बड़ी MNC में काम किया और अंततः अमेरिका में Apple में डेटा साइंटिस्ट के रोल पर जॉइन किया। लगभग 2 करोड़ का सालाना पैकेज था, जीवन मे कोई कमी नहीं। सब सही चल रहा था, जैसे स्वदेश में मोहन भार्गव के साथ हो रहा था।

2016 में उन्होंने देखा कि अमेरिका में जैविक पदार्थो जैसी जैविक सब्जी, फल, अन्न, दूध और खेती का एक ट्रेंड सा चल पड़ा है। उन्हें लगा कि ये तो भारतीय संस्कृति से जुड़ी हुई चीजें है, और उनका मत परिवर्तन हुआ और वे भारत लौट आये।

यहाँ आ कर उन्होंने Vedic Tree की स्थापना की।

अब आप पूछेंगे कि ये क्या है? वैदिक ट्री एक NGO है, जो निम्न कार्य करती है।

1. श्री हरि गौ विज्ञान केंद्र खोला, जहां डेढ़ सौ से ज़्यादा देसी गाय साहीवाल और गीर नस्ल की इकट्ठा की गयी हैं।
2. यहाँ देशी गौ पालन द्वारा गौ संवर्धन किया जाता है।
3. जैविक खेती करके कई तरह के अन्न, मिल्क प्रोडक्ट्स, फल सब्जी उगाना
4. बछड़ों से हल-बैल की परंपरागत खेती शुरू करना
5. गांव के लोगों को देशी गौ पालन, जैविक खेती, गौ रक्षा की ट्रेनिंग देना
6. इन क्षेत्रों के बड़े बड़े experts को बुला कर गांव के लोगो के लिए Workshops लगवाना
7. Hydroponic Aquaponic खेती सिखाना
8. फार्म में ही मिल्क प्रोसेसिंग प्लांट (12000 लीटर दूध की रोजाना प्रोसेसिंग करने की क्षमता) को लगाना, जिससे आस पास के गौ पालकों को फायदा हो सके।
9. बहुत ही जल्द आर्गेनिक दूध, पनीर, घी का उत्पादन शुरू करने वाले हैं, जो दिल्ली-एनसीआर और आस पास के इलाकों में सप्लाई किया जाएगा।
10. गौशाला में 4 KVA का सोलर panel इंस्टाल किया गया है
11. ग्रीन एनर्जी के तहत 30 KVA का Generator लगाया जा चुका है।
12. एक विशालकाय Gobar गैस प्लांट का निर्माण किया. इनकी गौशाला और फार्म हाउस पे जितनी बिजली का खर्च है उससे 4 गुनी ज़्यादा तो ये अपनी बनाते हैं, एक तरह से ये बिजली और अन्य ऊर्जा की जरूरतों को स्वयं पूरा कर लेते हैं।
13. इसके अलावा गांव के 200 बच्चों के लिए गुरुकुल पद्धति से एक स्कूल का निर्माण कराया जा रहा है। जहाँ सभी बच्चो को फ्री शिक्षा दी जाएगी। और वैदिक एवं आधुनिक शिक्षा का प्रसार किया जाएगा। ऐसे कुल 108 स्कूल पूरे भारत मे खोलने की योजना तैयार है।

इसके अलावा और भी कई अन्य कार्य हैं, जिनसे इन्होंने इस क्षेत्र के लोगों का जीवन बदलने का कार्य शुरू कर दिया है। स्वदेश फ़िल्म में तो मात्र बिजली लायी गयी थी, यहाँ तो बिजली के साथ अन्न, दूध, फल, सब्जी, ग्रीन एनर्जी जैसी चीजें है, साथ ही गांव के गरीब किसानों को शिक्षित कर उनकी जीविका बढ़ाने का भी संकल्प है। वहीं बच्चो को फ्री शिक्षा देने का भी कार्य किया जा रहा है… और सबसे बड़ी बात… ये सब अभिनव जी अपनी जमापूंजी से कर रहे हैं। कोई सरकारी मदद नहीं, कोई फंडिंग नहीं।

कितना बड़ा काम है ये सोच कर देखिये। लेकिन हम और हमारा समाज इन्हें बदले में क्या दे रहा है? जान कर आपको शर्म आ जायेगी।

जैसे फिल्मों में villian होते हैं, वैसे ही इस कहानी में भी हैं।

जाहिर है, अच्छे कामों से चिढ़ने वाले भी होते हैं। तो बस ऐसे ही लोगो ने अभिनव गोस्वामी जी पे 1000 रु की बिजली चोरी का फ़र्ज़ी मुकदमा दर्ज करवा दिया है बिजली विभाग द्वारा, एक ऐसा इंसान जो 30 KVA का पावर प्लांट खुद लगा कर बैठा है, जो आधे गांव को बिजली सप्लाई कर सकता है…… वो 1000 रुपये की बिजली चोरी करेगा…… सोच कर ही आश्चर्य होता है।

खैर ये वहां की आपसी रंजिश कहिये, या राजनीति कहिये….. लेकिन इस समाज ने एक अच्छे कार्य करने वाले को नीचा तो दिखाया है ना। कहाँ फिल्मी पर्दे के हीरो को दुनिया अवार्ड देती है…. और कहाँ असली जीवन के महामानव के साथ ऐसा निकृष्ट व्यवहार?

इस मुद्दे पर आप अलीगढ़ प्रशासन, खैर प्रशासन और उत्तर प्रदेश सरकार को ट्वीट करिये, इस लेख को संलग्न करें और सरकार को मजबूर करें इस FIR को वापस लेने के लिए। और गलत FIR करने वालों पर त्वरित कार्यवाही हो। अपना समाज इस हीरो के लिए कम से कम इतना तो करे… वो इन्सान तो अपना सब कुछ छोड़ यहां वापस आ गया है, यहाँ बदलाव लाने के लिए जूझ रहा है… उसका साथ दीजिये… ये हमारे असली हीरो हैं… हमारा समर्थन ही इनके लिए अवार्ड है…. समर्थन कीजिये।

ABHINAV GOSWAMI : Data Scientist’s Journey into Organic Farming and A2 Milk Dairy

Comments

comments

loading...

LEAVE A REPLY