वे पंद्रह दिन : 15 अगस्त, 1947

आज की रात तो भारत मानो सोया ही नहीं है। दिल्ली, मुम्बई, कलकत्ता, मद्रास, बंगलौर, लखनऊ, इंदौर, पटना, बड़ौदा, नागपुर… कितने नाम लिए जाएं। कल रात से ही देश के कोने-कोने में उत्साह का वातावरण है। इसीलिए इस पृष्ठभूमि को देखते हुए कल के और आज के पाकिस्तान का निरुत्साहित वातावरण और भी स्पष्ट दिखाई … Continue reading वे पंद्रह दिन : 15 अगस्त, 1947