सर विद्याधर सूरज प्रसाद नायपॉल को विनम्र श्रद्धांजलि

भारतीय मूल के श्री नायपॉल अंगरेजी में अपने अनूठे गद्य के लिए विख्यात हैं। जैसे किसी को फटे हुए कुर्ते को बार-बार सिलना पड़ता है शायद ठीक वैसी ही विवशता जीते हुए नायपॉल भारत भूमि पर लौटते हैं अपनी रचनाओं में। शायद अपनी पुरखों को हेरने, अपनी विरासत को टटोलने। यहां की तकलीफ यहां का … Continue reading सर विद्याधर सूरज प्रसाद नायपॉल को विनम्र श्रद्धांजलि