साथ देना चाहिए अस्तित्व का युद्ध हारती लुप्तप्राय-हिन्दू प्रजाति का

एक नए Narrative (नैरेटिव) की स्थापना का प्रयास किया जा रहा है कि कश्मीरी हिन्दू ही धारा 370 और 35 (A) को हटाने के इच्छुक नहीं रहे हैं।

शंका निवारण के लिए नीचे दी गई… सुशील पंडित की 5 मिनट की वीडियो सुनिए।

ये गुणीजन यह क्यों नहीं समझते कि घाटी में रहते 85 लाख मुसलमानों के बीच 3 लाख ‘दया की भीख मांगते हिन्दू-पंडित’ 370 और 35 (A) का विरोध खुल कर कैसे कर सकते थे?

हालांकि उन्होंने दबे-घुटे तरीके से 370 और 35 (A) का विरोध करने की हिम्मत भी जुटाई थी।

बेशक, शेष देश और हिंदुओं ने कश्मीरी पंडित हिंदुओं का साथ नहीं दिया… मग़र घाटी के पृथकतावादी-पाकी-आतंकी तत्व… इन कश्मीरी पंडितों के देशप्रेम और अपनी सनातन संस्कृति से लगाव को भली भांति जानते-समझते थे।

इसीलिए 1000 से ज़्यादा कश्मीरी हिन्दू पंडितों की हत्या कर दी गई… सैकड़ों कश्मीरी हिन्दू महिलाओं के साथ बर्बर सामूहिक बलात्कार हुए… दुधमुँहे शिशुओं को गोली से उड़ाया गया… महिलाओं के बलत्कृत शरीरों को बीच से दो हिस्सों में आरों से काटा गया।

जब कश्मीरी-पंडित-हिंदुओं और अन्य हिंदुओं की सुरक्षा, स्वाभिमान और उनके ऊपर हो रहे अत्याचारों की बात हो… हम सब सनातनियों को दलगत राजनीति से उठकर… अस्तित्व का युद्ध हारती लुप्तप्राय-हिन्दू प्रजाति का साथ देना चाहिए।

आप कहेंगे कि 100 करोड़ हिन्दू और लुप्त प्रजाति?…

ध्यान रखिए जो लोग जाति प्रथा में विश्वास करते हैं… जाति के आधार पर सुविधाएं छीनते हैं… अनेक लोग क्रिप्टो क्रिश्चियन हैं… मगर नाम हिन्दू रखे हुए हैं… अनेक लोग नए मज़हब अपना चुके हैं… मगर नाम हिन्दुआना हैं…यह लोग पाकिस्तानियों और लश्कर ए तोयबा से भी बड़े हिन्दू-विरोधी हैं।

6 अगस्त 2018 को यदि भारत और कश्मीर सरकार ने कोई नया रोड़ा नहीं अटकाया तो 35 (A) पर सुप्रीम कोर्ट का फैसला आएगा… यदि 35 (A) हट जाता है तो वह भारत में एक नई सुबह होगी… देश पर से एक ग्रहण हटेगा… 35 (A) का हटना… 15 अगस्त 1947 से भी बड़ी घटना होगी… इस स्वतंत्र देश में…

बहुत हुआ! अब वक्त है कि हो ‘डायरेक्ट एक्शन इन कश्मीर’

Comments

comments

loading...

LEAVE A REPLY