संक्षेप में समझिए काँग्रेस के काम करने का तरीका

काँग्रेस : आलू कितने के दिए, 125 किलो लेना है?

दुकानदार : सबको 30 में दिए है, लेकिन आप 125 किलो ले रहे हो तो, 25 रुपये किलो मिलेगा।

काँग्रेस : नहीं 20 में दे और 5 मेरा कमीशन दे।

दुकानदार : चल निकल साइड में हो।

काँग्रेस : अच्छा चल 22 में दे, मेरा कमीशन 5 कर दे, 2 तू भी रख।

दुकानदार : चल निकल, हवा आने दे।

काँग्रेस : 23 कर और हमारा कमीशन 5 रहने दे और तू 3 रख।

दुकानदार : चुपचाप 25 में ले वरना भाग… और हाँ, कमीशन इधर नहीं चलता।

7 साल तक बकचक चलती रही…

रंजय त्रिपाठी दुकानदार से : आलू कितने के दिए, 36 किलो लेना है?

दुकानदार : सबको 30 में दिए है, लेकिन आप 36 किलो ले रहे हो तो, 25 रुपये किलो मिलेगा।

रंजय त्रिपाठी : वो तो ठीक है, लेकिन खाली आलू ले के क्या करूँगा? नमक, मिर्ची, टमाटर, धनिया, गोभी, परवल भी चाहिए तभी तो आलू लेने का मज़ा है।

दुकानदार : बात सही है, तो आलू के साथ नमक, मिर्ची, टमाटर, धनिया, गोभी, परवल सब मिला के 27 का पड़ेगा।

रंजय त्रिपाठी : लेकिन वो पुराने जो आलू बेचे थे, वो शो पीस बनने को तैयार बैठे हैं। उनको भी इस्तेमाल लायक बनाना है।

दुकानदार : ठीक तो उनके लिए नमक, मिर्ची, टमाटर, धनिया, गोभी, परवल फ्री में देंगे।

रंजय त्रिपाठी : चलो ठीक है डील फाइनल, 36 किलो तौल दो।

इस तरह दुकानदार – रंजय त्रिपाठी की डील फाइनल…

काँग्रेस : ओ तेरी… हमको बेवक़ूफ़ बना दिया दुकानदार ने। बताया ही नहीं कि नमक, मिर्ची, टमाटर, धनिया, गोभी परवल भी चाहिए होता है।

दुकानदार : तुम नालायक हो तो हमारी क्या गलती, अपना कमीशन याद था लेकिन नमक, मिर्ची, टमाटर, धनिया, गोभी, परवल नहीं याद था।

काँग्रेस : रंजय त्रिपाठी ने कमीशन खा लिया, जिसको हम 25 में खरीद रहे थे वो 27 में लाया।

दुकानदार : गज़ब बकबकिया बैठे हैं यार तुम्हारे यहाँ… बड़े लफंदर हैं… डील फाइनल ही नहीं हुई थी तो 25 का रेट इसने फाइनल कैसे मान लिया?

रंजय त्रिपाठी : तू टेंशन मत ले, इनकी बदमाशी तो वर्षों से देख रहे हैं। तू बढ़िया बढ़िया आलू और उसके साथ नमक, मिर्ची, टमाटर, धनिया, गोभी, परवल तैयार कर, अपने को जल्दी इधर मंगाना है।

इधर… काँग्रेस का हाल : हाय हाय हाय… 25 वाला 27 में… हाय हाय हाय… 25 वाला 27 में… बेवक़ूफ़ बना दिया हमें, दुकानदार और रंजय ने मिल के… दुकानदार हाय हाय… रंजय हाय हाय…

भारत विभाजन : ससम्मान मुख्यधारा में शामिल किए गए देशद्रोही

Comments

comments

loading...

LEAVE A REPLY